सांसद दीया कुमारी ने दुराचार मामले में राज्य सरकार पर साधा निशाना

सांसद दीया कुमारी ने दुराचार मामले में राज्य सरकार पर  साधा निशाना

Preeti Bhatt | Updated: 15 Jun 2019, 05:45:19 PM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

- पुलिस अधीक्षक से मिली सांसद, दुराचार के आरोपितों को गिरफ्तार करने की मांग


अजमेर. राजसमंद सांसद दीया कुमारी ने ब्यावर में बालिका से दुराचार के आरोपित को शीघ्र गिरफ्तार करने के लिए पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप से मुलाकात की। सांसद ने पत्रकारों से बातचीत में राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने जिले में 800 सीसीटीवी कैमरे लगाने की स्वीकृति प्रदान की थी, लेकिन कांगरेस राज में 132 कैमरे ही लगाए गए हैं। पिछले छह-सात माह से इस ओर ध्यान नहीं दिया गया। आरोपित सीसीटीवी कैमरे में कैद जरूर हुए हैं, लेकिन फुटेज धुंधले होने के चलते पहचान में नहीं आ रहे हैं। ऐसे में सभी जगह सीसीटीवी कैमरे लगे होते तो आरोपितों की शीघ्र पहचान हो जाती। उन्होंने कहा कि आमजन की सुरक्षा के लिए यह बहुत जरूरी है। मैं खुद महिला हूं। इन बातों को समझती हूं। महिलाओं के हमेशा साथ हूं। महिलाओं की सुरक्षा के लिए विशेष उपाय किए जाने चाहिए। इसके लिए पुलिस गश्त भी बढ़ाई जाए। उन्होंने सुरक्षा के लिए आवश्यक कदम उठाने के लिए सरकार को पत्र लिखने की भी बात कही।

 

सांसद ने कहा कि प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था व दुराचार की बढ़ती घटनाओं को लेकर वे मुख्यमंत्री से भी मुलाकात करेंगी। आपराधिक घटनाओं में वृद्धि से यूथ भी कुंठित है। इस दौरान विधायक शंकरसिंह रावत भी साथ थे। उन्होंने भी आरोपितों के शीघ्र गिरफ्तार करने की बात कही।


कुछ आरोपितों को लिया हिरासत में

पुलिस अधीक्षक ने सांसद दीया कुमारी को बताया कि ब्यावर में बालिका से दुराचार मामले में कुछ आरोपितों को हिरासत में लिया गया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। ब्यावर मामले में नजर रखी जा रही है। शुक्रवार रात ब्यावर जाकर भी उन्होंने पूरे मामले की जानकारी ली है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned