Navratri : पंद्रह करोड़ के पार होगा कपड़ों का बाजार !

दीपावली और शादी-विवाह में होती है जमकर खरीददारी
कपड़ा व्यापारियों की शहर में हैं तकरीबन डेढ़ हजार दुकानें

By: himanshu dhawal

Published: 21 Oct 2020, 09:53 PM IST

अजमेर. नवरात्र का चौथा दिन भी व्यापारियों के लिए पुरउम्मीद और तसल्लीबख्श रहा। मंगलवार को भी बाजारों में खरीदारों की भीड़ रही। लोगों ने अब कपड़ों की दुकानों की दुकानों का भी रुख कर लिया है। दीपावली और शादी-ब्याह का सीजन होने के चलते व्यापारी 15 करोड़ से अधिक की ब्रिकी होने को लेकर पुरउम्मीद हैं।
कोरोना संक्रमण के कारण लम्बे समय से बाजार में छाई मंदी त्यौहारी सीजन के कारण धीरे-धीरे दूर होती नजर आ रही है। ग्राहक भी बाजार में निकलने लगे हैं। शहरवासी अपनी जरूरत और प्राथमिकता के मुताबिक खरीदारी कर रहे हैं। बाजार में दिन भर वाहनों की रेलमपेल लगी रहती है। ग्राहकों को देखकर दुकानदारों के चेहरे भी खिले हुए हैं।

फैक्ट फाइल

- 1500 के करीब शहर में कपड़ा व्यवसायी
- 400-600 के बीच महिला परिधान की दुकानें

- 600-800 के बीच रेडिमेड और फैब्रिक शॉप्स

दीपावली सबसे बड़ा त्योहार होने के कारण इस पर घर-परिवारों में कपड़ों की खरीदारी का सर्वाधिक क्रेज होता है। इसमें बच्चों से लेकर बुर्जुगों तक के लिए शॉपिंग होती है। कोरोना संक्रमण के चलते कई माह से घरों में कपड़ों आदि की खरीद बंद रहने से त्योहारी सीजन में अच्छी बिक्री की उम्मीद जताई जा रही है।
अच्छे व्यवसाय की आस

दीपावली के बाद कपड़ों की सर्वाधिक खरीदारी शादी-विवाह के लिए होती है। देवउठनी ग्यारस के बाद से ही शादी-विवाह प्रारंभ हो जाएंगे। ऐसे में वस्त्र व्यवसायी मार्केट में अच्छे उठाव की आस लगाए हुए हैं। इसके चलते शेरवानी आदि की एडवांस बुकिंग भी प्रारंभ हो गई है।

इन क्षेत्रों में दुकानें

शहर के नया बाजार, पुरानी मंडी, डिग्गी बाजार, दरगाह बाजार, मदार गेट, चूड़ी बाजार, पड़ाव, वैशाली नगर सहित कई अन्य क्षेत्रों में कपड़े की दुकानें हैं।

himanshu dhawal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned