नीट, जेईई में गारंटी से पास करवाने वाले अन्तरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश, तीन गिरफ्तार

नीट, जेईई, कॉमेड परीक्षा में लेनदेन कर दूसरे परीक्षार्थी बैठाने के मामले में पुलिस महानिरीक्षक(अजमेर रेंज) की टीम ने शुक्रवार को बड़े गिरोह का खुलासा किया है।

By: kamlesh

Published: 10 Sep 2021, 10:04 PM IST

अजमेर। नीट, जेईई, कॉमेड परीक्षा में लेनदेन कर दूसरे परीक्षार्थी बैठाने के मामले में पुलिस महानिरीक्षक(अजमेर रेंज) की टीम ने शुक्रवार को बड़े गिरोह का खुलासा किया है। गिरोह पैसा लेकर कमजोर विद्यार्थियों के जगह फर्जी परीक्षार्थी बैठाकर परीक्षा में पास करवाने के खेल में जुटे थे। टीम ने दिल्ली, जयपुर और कोटा में दबिश देकर तीन जनों को दबोचा है। गिरोह नीट व जेईई में कमजोर परीक्षार्थियों को गारंटी से उत्तीर्ण कराने व सरकारी कॉलेज में दाखिला कराने की एवज में लाखों रुपए वसूल रहा था।

पुलिस को गिरोह में कुछ ओर लोगों के भी लिप्त होने का अंदेशा है। आई.जी.(अजमेर रेंज) एस. सेंगाथिर ने नीट, जेईई, कॉमेड परीक्षा में लेनदेन कर फर्जी अभ्यर्थियों को बैठाकर धोखाधड़ी करने वाले अन्तरराज्र्यीय गिरोह की सूचना मिली। विशेष टीम गठित कर ऑपरेशन डिकॉय करते हुए अजमेर सिविल लाइन थानाप्रभारी अरविन्दसिंह चारण को डमी परीक्षार्थी के साथ 17 लाख रुपए लेकर जयपुर भेजा गया।

टीम ने जयपुर में डमी परीक्षार्थी से गजेन्द्र स्वामी नामक युवक को 17 लाख रुपए लेते गिरफ्तार किया। इसके बाद दिल्ली से अर्पित स्वामी और कोटा से मोहम्मद दानिश रजा को पकड़ा। जिनके पास नीट, जे.ई.ई. परीक्षाओं में फर्जी विधार्थियों को बैठाने के सम्बन्ध में ढेर सारे संदिग्ध दस्तावेज, मूल पहचान पत्र, मार्कशीट व 4 लेपटॉप, 40 मोबाइल फोन, पेनड्राइव, हार्डडिस्क एवं अन्य दस्तावेज मिले।

तीस-तीस लाख रुपए की वसूली
सेंगाथिर ने बताया कि विशेष टीम कई जगह अनुसंधान में जुटी है। गिरोह राष्ट्रीय स्तर पर होने वाले नीट/जे.ई.ई./कॉमेड परीक्षाओं में असल कमजोर परीक्षार्थी की जगह फर्जी परिक्षार्थी को बैठा परीक्षा में चयन कराने के लिए प्रत्येक से करीबन 30-30 लाख रुपए वसूल रहे थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned