अफसर ही नहीं जानते गांवों की सरकारी सम्पत्ति को, सामने आई हकीकत तो हैरान रह गए सब

raktim tiwari

Publish: Mar, 14 2018 11:05:00 AM (IST)

Ajmer, Rajasthan, India
अफसर ही नहीं जानते गांवों की सरकारी सम्पत्ति को, सामने आई हकीकत तो हैरान रह गए सब

सीईओ सोचते हैं कि यह जिला कलक्टर करेंगे लेकिन वे कब तक करेंगे। जिलेभर में असेट्स की जानकारी जुटाकर बताएं।

संभागीय आयुक्त हनुमान सहाय मीना ने कहा कि आपको भी नहीं पता है कि जिला परिषद की गांवों में कितनी असेट्स (जमीन एवं भवन) हैं। जिलेभर में असेट्स की जानकारी जुटाकर बताएं। जिला परिषद की जमीन एवं भवन गांवों में बहुत ज्यादा असेट्स हैं।

जिला परिषद में निरीक्षण के दौरान मीना ने परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरुण गर्ग, अति. मुख्य कार्यकारी अधिकारी भगवत सिंह राठौड़ को निर्देश दिए कि जल्द इस काम को पूरा करें। उन्होंने कहा कि सीईओ सोचते हैं कि यह जिला कलक्टर करेंगे लेकिन वे कब तक करेंगे, वे बैठकें लें या यह काम करें। आपको ही यह काम करना है। मीना ने सीईओ गर्ग को कहा कि आपके पास पांच मुख्य विभाग हैं। शिक्षा विभाग, चिकित्सा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, कृषि विभाग आदि की योजनाओं की मॉनिटरिंग करें। इन विभागों के कार्यों की प्रगति की रिपोर्ट बनाकर भी दें। निरीक्षण के दौरान जिला कलक्टर गौरव गोयल भी साथ थे।

नकारा कारों की कराएं नीलामी

निरीक्षण के दौरान जिला परिषद परिसर में नाकारा पड़ी व धूल से सनी दोनों कारों को देखकर संभागीय आयुक्त मीना ने कहा कि समिति बनाकर इन कारों की नीलामी/ डिस्पोजल की प्रक्रिया पूरी कराएं। उन्होंने कलक्टर गोयल से भी इस कार्य को जल्द करवाने की बात कही।

गहराई से देखो, परिसर को स्वच्छ रखें

उन्होंने सीईईओ गर्ग व अन्य अधिकारियों को कहा कि कार्यालय का गहराई से निरीक्षण करें, देंखे और जहां परिसर गंदा है स्वच्छ कराएं, भवन पर सफेदी कराएं।

जिला कलक्टर ने मौके पर ही दिए निर्देश
संभागीय आयुक्त मीना के दिशा निर्देश के बाद जिला कलक्टर गौरव गोयल ने मौके पर ही जिला परिषद के सीईओ, एसीईओ को पालना के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जितना जल्दी हो पालना कर क्रियान्विति से अवगत कराएं।

मेरे लिए तो नहीं पूछा ना...!

निरीक्षण के दौरान सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उप निदेशक देरी से पहुंचे। संभागीय आयुक्त जा चुके थे, कलक्टर भी गाड़ी में बैठ गए। तभी उन्होंने पास खड़े एक अधिकारी से कहा.. देरी हो गई.. साहब ने मेरे लिए तो नहीं पूछा ना...। इसके बाद उन्होंने राहत की सांस ली।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned