सजाफ्ता बंदी की हरकतों से जेल प्रशासन परेशान!

सजाफ्ता बंदी की हरकतों से जेल प्रशासन परेशान!

Manish Singh | Publish: Apr, 23 2019 06:00:00 AM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

सेन्ट्रल जेल अजमेर में संतरी पर सुविधा शुल्क वसूली का आरोप जडऩे वाली महिला का पति सजाफ्ता बंदी है। जेल प्रशासन बंदी की आए दिन के झगड़े और शिकायतों से परेशान है।

मनीष कुमार सिंह

अजमेर. सेन्ट्रल जेल अजमेर में संतरी पर सुविधा शुल्क वसूली का आरोप जडऩे वाली महिला का पति सजाफ्ता बंदी है। जेल प्रशासन बंदी की आए दिन के झगड़े और शिकायतों से परेशान है। चार दिन पहले भी उसका जेल के बंदियों व सुरक्षा गार्ड से झगड़ा हुआ था। जिस पर उसकी पत्नी ने सिविल लाइन्स थाने में शिकायत कर दी।

सिविल लाइन्स थाने में दो दिन पहले दर्ज अजमेर सेन्ट्रल जेल के प्रहरी पर सुविधा शुल्क वसूली के खेल में दो दिन बाद दूसरा पहलू भी सामने आया है। चेक अनादरण के मामले में सजायाफ्ता बंदी किशनगढ़ ढाणी पुरोहितान निवासी भैरूलाल पुत्र भंवरलाल आदतन झगड़ा करने की प्रवृत्ति का है। उसके खिलाफ जेल रजिस्टर में पन्द्रह से ज्यादा रपट दर्ज हैं जिसमें बंदी और संतरियों से झगड़े की शिकायत है।

25 से ज्यादा मामले दर्ज
पन्द्रह माह से अजमेर सेन्ट्रल जेल में मौजूद भैरूलाल पर दो दर्जन से ज्यादा एनआई एक्ट (चेक अनादरण) के मामले दर्ज है। वह सेवर जेल (भरतपुर) व हनुमानगढ़ में भी वांछित है। भैरूलाल पर पूर्व में जेल में अवांछित वस्तु इस्तेमाल के आरोप लग चुके है। भैरूलाल का बेटा संजयदीप भी अजमेर सेन्ट्रल जेल में विचाराधीन बंदी है। उसके खिलाफ भी केकड़ी और अजमेर सिविल लाइन्स थाने में दर्ज है।

बैंक खाता भी साथी कैदी का
जेल प्रशासन की पड़ताल में सामने आया कि कांतादेवी की ओर से पुलिस को बताया गया बैंक खाता अजमेर सेन्ट्रल जेल में सजायाफ्ता कैदी का है। इधर सिविल लाइन्स थाना पुलिस भी दिए गए बैंक खाते की पड़ताल में जुटी है।

यह है मामला

भैरूलाल की पत्नी कांतादेवी ने पुलिस अधीक्षक को अजमेर सेन्ट्रल जेल में सजायाफ्ता कैदी पति भैरू लाल व बेटे संजयदीप को सुविधा शुल्क नहीं देने पर धमकाने की शिकायत दी। शिकायत पर सिविल लाइंस थाना पुलिस ने जेल प्रहरी अजीत व योगेश पर धमका कर सुविधा शुल्क वसूलने का मामला दर्जकर लिया।
इनका कहना है....
धोखाधड़ी के मामले में सजायाफ्ता बंदी आदतन आपराधिक प्रवृत्ति का है। आए दिन जेल प्रहरी से झगड़ा करता है। चार दिन पहले 19 अप्रेल को भी झगड़े की रपट दर्ज की गई। उसने जेल प्रहरी के खिलाफ पत्नी के जरिए सिविल लाइन्स में रिपोर्ट दर्ज करवाई है। पुलिस अनुसंधान में सच सामने आ जाएगा।

-नीलम चौधरी, अधीक्षक अजमेर सेन्ट्रल जेल

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned