scriptOmicron danger may increase in Ajmer, worrying medical department | अजमेर में बढ़ सकता है ओमिक्रॉन का खतरा, चिकित्सा विभाग को सताई चिंता | Patrika News

अजमेर में बढ़ सकता है ओमिक्रॉन का खतरा, चिकित्सा विभाग को सताई चिंता

16 दिसम्बर से अजमेर में था संक्रमित युवक, गलत पते से मशक्कत करती रही टीम

अजमेर

Published: December 23, 2021 02:21:57 am

अजमेर. ओमिक्रॉन के पहले केस ने ही चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी। ओमिक्रॉन संक्रमित युवक पिछले सात दिन से अजमेर में है और वह परिवार के साथ ही रह रहा है। खास बात यह है कि उसके माता-पिता और भाई-भाभी ने अभी तक वैक्सीन नहीं लगवाई है। वहीं गलत पता होने के कारण संक्रमित युवक को क्वॉरेंटिन नहीं किया जा सका।
अजमेर में बढ़ सकता है ओमिक्रॉन का खतरा, चिकित्सा विभाग को सताई चिंता
अजमेर में बढ़ सकता है ओमिक्रॉन का खतरा, चिकित्सा विभाग को सताई चिंता
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. के.के. सोनी के अनुसार कोरोना के सुरक्षा कवच को लेकर केन्द्र, राज्य सरकार के साथ चिकित्सा विभाग लगातार टीकाकरण के कैंप आयोजित कर रही है। कोविड से सुरक्षा के लिए लगातार टीकाकरण करवाया जा रहा है लेकिन पीडि़त युवक के परिवार में माता-पिता, उसके भाई एवं भाभी ने अभी ने अभी तक वैक्सीन भी नहीं लगाई है। ऐसे में इम्युनिटी कमजोर होने पर कोविड संक्रमित होने का खतरा है ही, वहीं नए वेरिएंट ओमिक्रॉन का भी डर सता रहा है। हालांकि नए वेरिएंट में फिलहाल कोई गंभीर लक्षण नहीं हैं।
जानकारी छिपाता रहा परिवार

एयरपोर्ट पर ओमिक्रॉन जांच के सैंपल के बाद युवक 16 दिसम्बर को सीधा अजमेर पहुंच गया। उसके मोबाइल नम्बर पर संपर्क किया गया तो परिवार के सदस्य भी युवक के एक दिन बाद वापस लौटने की बात करते रहे। वहीं जो पता दर्शाया गया था वह भी आशागंज बताया गया था। ऐसे में चिकित्सा विभाग की टीम कोई कार्रवाई नहीं कर पाई। पहले बताया गया कि युवक दिल्ली स्थित एक हॉस्पिटल में भर्ती है जबकि पॉजिटिव की सूचना मिलने पर सामने आया कि युवक घर में है और बीमार हालात में है।
पीपीइई किट पहन कर तैयारी के साथ पहुंची टीम

सीएमएचओ ऑफिस की जिला टीम पीपीई किट में चन्द्रवरदाईनगर स्थित नवदुर्गा कॉलोनी पहुंची। जहां पीडि़त को आइसोलेट एम्बुलेंस में बैठाया। परिवार के चारों सदस्यों के सैंपल लिए गए। वहीं घाना से लौटे पीडि़त युवक को एम्बुलेंस से जेएलएन अस्पताल पहुंचाया। जहां उसे अलग से बनाए वार्ड में भर्ती कर उपचार शुरू करवाया।
आमजन बरतें सावधानी, लगवाएं वैक्सीन

आमजन को कोविड 19 के चलते सावधानी बरतने की जरूरत है। जिन लोगों ने वैक्सीन की पहली व दूसरी डोज नहीं लगवाई है वे जल्द डोज लगवाएं। जिनके दूसरी डोज नहीं लगी है और 84 दिन पूरे हो गए हैं तो तत्काल दूसरी डोज लगवाएं। इसके लिए नजदीकी चिकित्सा संस्थान में संपर्क किया जा सकता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.