scriptOmicron in Ajmer: 6 new patients found | अजमेर में ओमिक्रॉन : 6 नए मरीज मिले | Patrika News

अजमेर में ओमिक्रॉन : 6 नए मरीज मिले

अजमेर में ओमिक्रॉन ने चिंता बढ़ा दी है। यहां एक ही दिन में 6 मरीजों की रिपोर्ट ओमिक्रॉन पॉजिटिव आई है। इनमें दक्षिण अफ्रीका के नाइजीरिया लोगेश से आए परिवार के 4 सदस्य भी शामिल हैं। इसके अलावा मुम्बई से लौटे बाप-बेटी की रिपोर्ट ओमिक्रॉन पॉजिटिव आई है।

अजमेर

Published: December 25, 2021 08:47:25 pm

अजमेर. अजमेर में ओमिक्रॉन ने चिंता बढ़ा दी है। यहां एक ही दिन में 6 मरीजों की रिपोर्ट ओमिक्रॉन पॉजिटिव आई है। इनमें दक्षिण अफ्रीका के नाइजीरिया लोगेश से आए परिवार के 4 सदस्य भी शामिल हैं। इसके अलावा मुम्बई से लौटे बाप-बेटी की रिपोर्ट ओमिक्रॉन पॉजिटिव आई है। सभी मराजों को जवाहर लाल नेहरू अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अनुसार तोपदड़ा (पालबीचला) क्षेत्र निवासी 47 वर्षीय युवक, उसकी पत्नी, 14 वर्र्षीय बेटी और 41 वर्षीय भाई का सैंपल जांच के लिए भेजा गया था जिनकी ओमिक्रॉन की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं मुम्बई से पिछले दिनों आए एलआईसी कॉलोनी वैशालीनगर 45 वर्षीय पिता एवं 19 वर्षीय बेटी का सैंपल भी ओमिक्रॉन पॉजिटिव है। जवाहरलाल नेहरू अस्पताल के कार्यवाहक अधीक्षक डॉ. नीरज गुप्ता के अनुसार ओमिक्रॉन पॉजिटिव मरीजों को अलग से बनाए वार्ड में भर्ती किया गया है।
अजमेर में ओमिक्रॉन : 6 नए मरीज मिले
अजमेर में ओमिक्रॉन : 6 नए मरीज मिले
ओमिक्रॉन संक्रमण मरीज के घर के आसपास के बरती जा रही लापरवाही

घनी आबादी के बीच पीडि़त के घर के बाहर आवाजाही रोकने को लगी बल्लियां, पास ही मकान के बाहर खड़ी कार और गली में बेखौफ साइकिल चलाते बच्चे, मोटरसाइकिल पर बिना मास्क लगाए निकलते युवक खुद संक्रमण को न्यौता देते मिले। आसपास के घरों के दरवाजे बंद तो एक युवक गेट खोल बाहर झांकता मिला तो कोई खिड़की के अंदर से झांकता मिला। यह हालात चन्द्रवरदाईनगर स्थित नवदुर्गा कॉलोनी के नजर आए। जहां ओमिक्रॉन का पहला मामला चिह्नित हुआ है।
यहां पश्चिमी अफ्रीका के घाना देश से आए 28 वर्षीय युवक की ओमिक्रॉन की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जिला प्रशासन की ओर से माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया। पत्रिका की ओर से जब कंटेनमेंट जोन के हालात जाने तो सामने आया कि कई लोग लापरवाही बरत रहे हैं। बिना मास्क के घूमते कुछ लोगों ने बाद में गमछा या रुमाल को मास्क के विकल्प के रूप में लगाने का प्रयास किया।
पास की गली में बिना मास्क के बच्चों का झुंड

नवदुर्गा कॉलोनी में संक्रमित युवक के घर के पास की गली में आठ- दस बच्चे दोपहर करीब 3.30 बजे बिना मास्क लगाए खेलते मिले। एक बुजुर्ग महिला ने फोटो खींचने पर पूछा और जब बच्चों को मास्क लगाने की हिदायत को कहा तो तत्काल उन्होंने बच्चों को घरों में भेजा और मास्क लगाने को कहा। यहां तक बुजुर्ग महिला भी मास्क लगाए बैठी मिली। गली के मुहाने पर निर्माण करते कारीगर, मजदूर भी बिना मास्क लगाए मिले।
कॉलोनी में दो दिन से नजर आया बदलाव . . .

पत्रिका से बातचीत में एक दम्पती ने बताया कि पहले लोग, महिलाएं घरों के बाहर बैठते थे, बातें करते थे, बच्चे बाहर खेलते थे लेकिन ओमिक्रॉन की सूचना मिलने के बाद अब लोग घरों में रह रहे हैं, मास्क लगा रहे हैं। उन्होंने परिजन की ओर से लापरवाही बरतने पर नाराजगी जताई।
दिन में एक बार हाइपोक्लोराइड का स्प्रे

क्षेत्रवासियों ने बताया कि दो दिनों से दोपहर में नगर निगम की गाड़ी आती है और हाइपो क्लोराइड का स्प्रे करके जाती है। हालांकि सफाई व्यवस्था माकूल नहीं है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: परम विशिष्ट सेवा मेडल के बाद नीरज चोपड़ा को पद्मश्री, देवेंद्र झाझरिया को पद्म भूषणRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीAloe Vera Juice: खाली पेट एलोवेरा जूस पीने से मिलते हैं गजब के फायदेगणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने में क्या है अंतर, जानिए इसके बारे मेंRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस परेड में हरियाणा की झांकी का हिस्सा रहेंगे, स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.