scriptOn the wishes of Annadata, 'Snow, spoiled in 6500 hectares' | अन्नदाता के अरमानों पर 'हिमपात, 6500 हैक्टेयर में खराबा | Patrika News

अन्नदाता के अरमानों पर 'हिमपात, 6500 हैक्टेयर में खराबा

चना एवं सरसों की फसलें चौपट, सर्वे रिपोर्ट में खुलासा, बीमित किसानों को राहत की उम्मीद, सामान्य किसारों को गिरदावरी का इंतजार

अजमेर

Published: January 10, 2022 10:37:04 pm

चन्द्र प्रकाश जोशी

अजमेर. राज रूठने के साथ राम रूठने की कहावत अन्नदाता पर लगू ही रही है। जब ओलावृष्टि हो रही थी तब अन्नदाता की आंखें भी झर रही थीं। बारिश ने अन्नदाता के चेहरे पर खुशी छलकाई तो कुछ क्षेत्रों में हुई ओलावृष्टि ने उनके अरमान पर भी हिमपात कर दिया। लहलहाती सरसों, चना की फसलें चौपट हो गई। सैकड़ों-हजारों किसानों की लहलहाती फसलें चौपट हो गईं। जिले मे ओलावृष्टि नुकसान का का दायरा करीब 6500 हैक्टेयर आंका गया है।
अन्नदाता के अरमानों पर 'हिमपात, 6500 हैक्टेयर में खराबा
अन्नदाता के अरमानों पर 'हिमपात, 6500 हैक्टेयर में खराबा
अजमेर जिले में बीते शुक्रवार को हुई ओलावृष्टि के चलते किसानों के खेतों में लहलहाती फसलें धराशायी हो गईं। फूल-फाल, चना व सरसों की कोंपलें, सरसों की फलियां बिखर गई। कृषि विभाग की ओर से किए गए प्रारंभिक सर्वे में करीब साढ़े छह हजार हैक्टेयर में खराबे का आंकलन किया गया है।
यहां सर्वाधिक नुकसान

सरवाड़ तहसील के गांव स्यार, भगवानपुरा, समेलिया, जतीपहरा, गोवर्धनपुरा सहित अन्य गांवों में खराबा हुआ है। वहीं बिजयनगर के पास बड़ली, नगर आदि गांवों में फसलों में ओलावृष्टि से नुकसान हुआ है। इसके अलावा, जिले में पीसांगन, भिनाय, श्रीनगर सहित अन्य ब्लॉक में भी नुकसान आंका गया है। इससे पूर्व पाला व शीतलहर से आंवला, जामुन, अमरूद, गुलाब, हजारा, गेंदा, बैंगन, टमाटर सहित अन्य में खराबा हुआ है।
मुआवजे व राहत के यह प्रयास

कृषि विभाग की ओर से बीमित किसानों को प्रपत्र-6 का वितरण किया जा रहा है। इन्हें भरवाकर किसान कृषि पर्यवेक्षक, बीमा कंपनी के तहसील प्रतिनिधि को 72 घंटे में जमा करवाने में जुटे हैं। बीमित किसानों को तात्कालिक राहत के रूप में खराबे का 25 प्रतिशत मुआवजा उनके खाते में जमा करवाया जाएगा।
यह करें बीमित किसान

बीमा कंपनी के टोल फ्री नम्बर पर खराबे के 72 घंटे के अंदर शिकायत दर्ज कराएं। प्रपत्र भरकर सोमवार शाम तक जमा करवाएं। कृषि विभाग के अधिकारी, पर्यवेक्षक से संपर्क करें।
इन किसानों को गिरदावरी की दरकार

जिन किसानों ने अपनी फसल का बीमा नहीं करवाया है उन्हें गिरदावरी रिपोर्ट का इंतजार है। राजस्व विभाग व सरकार की ओर से गिरदावरी रिपोर्ट पर ही इन किसानों को गिरदावरी की रिपोर्ट व सर्वे रिपोर्ट से कुछ राहत मिल सकती है। ऐसे सैकड़ों किसान हैं।
इनका कहना है

सरवाड़ तहसील के गांवों व बिजयनगर के नगर, बड़ली में नुकसान ज्यादा हुआ है। जिले के कुछ अन्य हिस्से भी हैं। करीब 6500 हैक्टेयर में प्रारंभिक सर्वे में खराबा हुुआ है। बीमित किसानों को प्रपत्र 6 भरकर देना है, बीमा कंपनी के टोल फ्री नम्बर पर 72 घंटे के अंदर शिकायत दर्ज करवाना जरूरी है।
जितेन्द्र सिंह शक्तावत
उप निदेशक कृषि (विस्तार)

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.