scriptOrganizing Training Workshop on PCPNDT Act | पीसीपीएनडीटी अधिनियम पर ट्रेनिंग वर्कशॉप का आयोजन | Patrika News

पीसीपीएनडीटी अधिनियम पर ट्रेनिंग वर्कशॉप का आयोजन

मुखबिर प्रोत्साहन राशि तीन लाख रुपए

अजमेर

Updated: December 25, 2021 02:30:00 am

अजमेर. पीसीपीएनडीटी अधिनियम में संशोधन, पंजीकृत केन्द्रों पर अधिनियम के अनुसार अपनाए जाने वाले नियम व रिकॉर्ड संधारण के बारे सोनोग्राफी सेन्टर संचालकों, चिकित्सकों एवं जिले के चिकित्सकों की दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें संभागियों से भ्रूण ***** परीक्षण की रोकथाम में सहयोग का आह्वन करने के साथ ही गाइड लाइन की पालना पर जोर दिया गया।
राजीव गांधी विद्या भवन में गुरुवार व शुक्रवार को गर्भधारण पूर्व एवं प्रसव पूर्व निदान तकनीक (लिंग चयन प्रतिषेध) अधिनियम 1994 के अन्तर्गत समुचित प्राधिकारी (पीसीपीएनडीटी)अजमेर शहर एवं जिलेभर के पंजीकृत सोनोग्राफी केन्द्र संचालक, चिकित्सक, सलाहकार समिति सदस्य व उपखण्ड स्तर के सक्षम प्राधिकारी उपस्थित हुए। जिले के ब्यावर, केकड़ी, नसीराबाद, सरवाड़, किशनगढ़, पुष्कर, पीसांगन व अन्य उपखण्ड में पंजीकृत सोनोग्राफी केन्द्रों की भागीदारी रही।
पीसीपीएनडीटी अधिनियम पर ट्रेनिंग वर्कशॉप का आयोजन
पीसीपीएनडीटी अधिनियम पर ट्रेनिंग वर्कशॉप का आयोजन
अधिनियम के प्रावधान बताए

संयुक्त निदेशक डॉ. इन्द्रजीत सिंह ने उपखण्ड अजमेर में पंजीकृत समस्त पंजीकृत केन्द्रों को पीसीपीएनडीटी अधिनियम की जानकारी दी तथा गत तीन वर्षों के उपखण्डवार एवं अजमेर शहर के बालिका लिंगानुपात की जानकारी दी। उन्होंने अधिनियम का उल्लंघन करने पर कानूनी कार्यवाही की चेतावनी दी।
मुखबिर प्रोत्साहन राशि तीन लाख रुपए

सीएमएचओ एवं नोडल अधिकारी डॉ. कृष्ण कुमार सोनी ने बताया कि पूर्व में मुखबिर योजना के तहत भ्रूण ***** परीक्षण संबंधी प्राप्त सूचना पर 3 किस्तों में 2.50 लाख रुपए तक की राशि प्रोत्साहन स्वरूप दी जाती थी। जिसे अब बढाकर 3 लाख रुपए किया गया है। योजना को और व्यावहारिक बनाते हुए सफ ल डिकॉय ऑपरेशन पर मुखबिर, डिकॉय गर्भवती महिला एवं सहयोगी को दो किस्तों में तीन लाख रुपए की प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया जाएगा।
कोड ऑफ कंडक्ट बताई

डिप्टी सीएमएचओ डॉ. रामस्वरूप किराडिय़ा ने अपनाए जाने वाली आचार संहिता के बारे में जानकारी दी। जिला पीसीपीएनडीटी समन्वयक ओमप्रकाश टेपण ने मोबाइल इम्पेक्ट एप की जानकारी दी। कार्यशाला में डॉ. मनीष जोशी, रवि विलियम, राजकुमार मण्डरावलिया आदि उपस्थित रहे।"गंजबासौदा मध्यप्रदेश"
ष्टड्डद्यद्य द्घशह्म् द्धद्गद्यश्च 8085883358

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.