पोस्टमार्टम में खुलासा : खदान के पानी में डूबने से हुई पैंथर की मौत, शव पर किसी तरह के नहीं मिली चोट

ब्यावर उपखंड के गांव सुरडि़या स्थित खदान में मृत मिला था पैंथर,शव का मेडिकल बोर्ड से कराया पोस्टमार्टम, संभवत: शिकार के पीछे भागने या अंधेरे में खदान नहीं दिखने से पानी में डूब गया होगा पैंथर

By: suresh bharti

Published: 13 Jan 2021, 12:59 AM IST

अजमेर/ब्यावर. जवाजा वन क्षेत्र के ग्राम सुरडि़या स्थित एक खदान में मृत मिले पैंथर के शव का मंगलवार को देलवाड़ा रोड स्थित क्षेत्रीय वन कार्यालय परिसर में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम किया गया। प्राथमिक रिपोर्ट में सामने आया कि पैंथर की डूबने से मौत हुई। उसके शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं मिले। पानी में ज्यादा दिन रहने से पैंथर की चमड़ी गल गई। मेडिकल बोर्ड ने सैम्पल लेकर जांच के लिए भिजवा दिए हैं।
सहायक वन संरक्षक नरेन्द्रसिंह शेखावत ने बताया कि गांव सुरडि़या के पास खदान में मिले पैंथर के शव का गाइड लाइन के अनुरूप ही अलग-अलग विभाग के अधिकारियों की मौजूदगी में अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस दौरान पुलिस, तहसील सहित अन्य विभाग की टीम मौजूद रही। मेडिकल टीम में डॉ. जावेद, डॉ. विश्वासकुमार एवं डॉ. सोबिरसिंह सहित अन्य शामिल रहे। इस दौरान क्षेत्रीय वन अधिकारी भैरोंसिंह भाटी, भगवानसिंह सहित अन्य उपस्थित रहे।

पेट में पानी भरा मिला

मेडिकल टीम में शामिल चिकित्सकों का कहना है कि पैंथर के शव के पेट में पानी भरा हुआ था। एेसे में प्रारम्भिक तौर पर उसकी डूबने के कारण ही मृत्यु हो गई। पानी में लम्बे समय तक शव रहने के कारण चमड़ी गलने लग गई थी। उसके शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं मिले है। मेडिकल टीम ने नमूने लेकर जांच के लिए भिजवा दिए है।

भूखा नहीं था पैंथर...

पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सकों का कहना है कि पैंथर भूखा नहीं था। उसके पेट में खुराक मिली है। एेसे में माना जा रहा है कि पैंथर के खदान के पास विचरण करने के दौरान किनारे पर पैर फिसल गया होगा। पानी मे गिरने के बाद उसे वापस बाहर निकलने में सफलता नहीं मिली। इससे वह थकने के चलते पानी में डूब गया। यहीं पैंथर की मौत की वजह मानी जा रही है।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned