बोले पेरेंट्स: रोकें फीस वसूली वरना चुनाव का करेंगे बॉयकॉट

परिजनों ने कांग्रेस-भाजपा नेताओं और जिला प्रशासन को चेताया कि फीस का मुद्दा नहीं सुलझाया गया तो नगर निगम चुनाव का बहिष्कार किया जाएगा।

By: raktim tiwari

Published: 10 Jan 2021, 09:52 AM IST

अजमेर. फीस वसूली को लेकर कई निजी स्कूल अभिभावकों पर दबाव बनाए हुए है। ई-मेल, मोबाइलऔर फोन पर फीस जमा कराने को कहा गया है। इसी कड़ी में मयूर और सेंट एन्सलम्स स्कूल के बाहर अभिभावकों ने प्रदर्शन किया। परिजनों ने कांग्रेस-भाजपा नेताओं और जिला प्रशासन को चेताया कि फीस का मुद्दा नहीं सुलझाया गया तो नगर निगम चुनाव का बहिष्कार किया जाएगा।

अभिभावक विनीत जैन ने बताया कि लॉकडाउन और कोरोना संक्रमण के चलते कई अभिभावकों की आर्थिक स्थिति खराब है। फिर भी स्कूल से मोबाइल पर फोन कर पूरी फीस जमा कराने को कराने का दबाव बनाया जा रहा है। पिछले आठ महीने स्कूल बंद हैं। बच्चे एक दिन स्कूल नहीं गए हैं। हाईकोर्ट ने कुल फीस का 70 प्रतिशत हिस्सा ही जमा कराने के आदेश दिए हैं। स्कूल ने कई विद्यार्थियों के अद्र्ध वार्षिक परिणाम रोकने के अलावा ऑनलाइन क्लास बंद करने की बात भी कही है।

वरना करेंगे चुनावों का बहिष्कार
अभिभावकों ने कहा कि कांग्रेस, भाजपा और अन्य राजनैतिक दलों को शहरवासियों के हित में फीस मुद्दे को उठाना चाहिए। निजी स्कूल पर दबाव बनाना चाहिए, ताकि वे मनमानी फीस नहीं वसूलें। जिला कलक्टर और जिला शिक्षा अधिकारी को भी ऐसे स्कूल के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। किसी स्तर पर मामले का समाधान नहीं हुआ तो नगर निगम चुनाव का बहिष्कार किया जाएगा। मालूम हो कि पिछले साल भी एमपीएस, सेंट फ्रांसिस, ऑल सेंट्स सहित कई स्कूल के अभिभावकों ने फीस के मुद्दे पर प्रदर्शन किया था।

भेज रहे अभिभावकों को मैसेज
मयूर स्कूल अभिभावक संघ के बैनर तले शनिवार को कई परिजन प्रशासन से मिलने पहुंचे। अभिभावकों ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते स्कूल बंद है। हाईकोर्ट ने ऑनलाइन शिक्षण कार्य के लिए ट्यूशन फीस का 70 प्रतिशत फीस लेने के निर्देश दिए हैं। फिर भी स्कूल से पूरी फीस के लिए मैसेज और फोन किए जा रहे हैं। स्कूल ने ट्यूशन फीस को लेकर खुलासा नहीं किया है। प्राचार्य की व्यस्तता के चलते उनसे मुलाकात नहीं हो सकी।

क्या रहेंगी व्यवस्थाएं....
मयूर स्कल पहुंचे अभिभावकों ने बताया कि 18 जनवरी से स्कूल खुलेंगे। फीस एक्ट की पालना और स्कूल खुलने पर विद्यार्थियों की सुरक्षा और अन्य इंतजाम को लेकर परिजनों की चिंता बनी हुई है। अभिभावकों ने फीस का पूरा ब्यौरा देने और आगामी निर्णयों के संबंध में अभिभावक संघ को शामिल करने की मांग की है।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned