सड़कों पर उतरेंगे अभिभावक

संयुक्तअभिभावक संघ ने की सुप्रीम कोर्ट के आदेश और फीस एक्ट की पालना की मांग

By: CP

Published: 23 Jul 2021, 01:57 AM IST

अजमेर. निजी स्कूलों की फीस मसले को लेकर सोमवार को संयुक्तअभिभावक संघ की ओर से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम जिला कलक्टर को आठ सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा गया। अभिभावक संघ अजमेर जिला अध्यक्ष लोकेंद्र खण्डेलवाल और महामंत्री मुकेश पारीक के नेतृत्व में अजमेर कलक्ट्रेट पहुंचे।

जिला संयुक्त मंत्री सुकेश खण्डेलवाल ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने स्कूल फीस मसले को लेकर 3 मई 2021 को अंतिम फैसला सुनाया था। उसके बावजूद निजी स्कूल संचालकों ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश की पालना सुनिश्चित नहीं की बल्कि वे आदेश की गलत व्याख्या कर अभिभावकों को गुमराह कर मनमाने तरीके से फीस वसूली का दबाव बनाकर प्रताडि़त कर रहे हैं। निजी स्कूलों के खिलाफ शिक्षा विभाग को शिकायतें करने के बावजूद कुछ नहीं किया जा रहा। जिला कोषाध्यक्ष सुशांत सारस्वत ने कहा कि शिक्षा विभाग की चुप्पी से अभिभावकों का सब्र टूट गया है। ज्ञापन देने वालों में मीनाक्षी, कुशाल, संदीप, रवि, दीपक सहित अन्य अभिभावक शामिल थे।

यह हैं प्रमुख मांगें

3 मई 2021 को सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए आदेश की पालना सुनिश्चित करवाई जाए, फीस एक्ट 2016 की पालना सुनिश्चित करवाई जाए। एक्ट के अनुसार निजी स्कूलों में पीटीए व एसएलएफ सी का गठन कर फ ीस निर्धारित करवाई जाए। निजी स्कूलों द्वारा जिन छात्र-छात्राओं की पढ़ाई और रिजल्ट रोके गए हैं उन्हें जारी किया जाए। जो अभिभावक किसी कारणवश फीस जमा नहीं करवा पा रहे हैं उन्हें सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार अभिभावकों की यथास्थिति अनुसार समय उपलब्ध करवाएं। जो अभिभावक टीसी चाहत हैं उन्हें तत्काल उपलब्ध करवाई जाए।

CP Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned