कोरोना से आंशिक राहत, ब्लैक फंगस ने बढ़ाई चिंता, जेएलएन अस्पताल में आठ और मरीजों के ऑपरेशन

ब्लैक फंगस व कोरोना संक्रमित मरीज का भी ऑपरेशन, 12 घंटे चले थियेटर में ऑपरेशन, ब्लैक फंगस के अब तक 20 पॉजिटिव एवं 11 संदिग्ध मरीज भर्ती

By: suresh bharti

Updated: 28 May 2021, 12:26 AM IST

ajmer अजमेर. कोरोना संक्रमितों की संख्या बेशक इन दिनों ढलान पर हो, लेकिन ब्लैक फंगस (म्यूकर माइकोसिस ) के पॉजिटिव मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। जवाहर लाल नेहरू अस्पताल में ब्लैक फंगस के 3 पॉजिटिव मरीजों के गुरुवार को ऑपरेशन किए गए, जबकि 5 अन्य मरीजों के ऑपरेशन भी हुए हैं। चार मरीजों की बायोप्सी जांच के लिए माइक्रोबायोलॉजी विभाग में भिजवाई गई है। एक ऐसे मरीज का भी ऑपरेशन किया गया है जो ब्लैक फंगस के साथ कोरोना पॉजिटिव भी है।

जवाहर लाल नेहरू अस्पताल के ईएनटी विभागाध्यक्ष डॉ. पी.सी. वर्मा की देखरेख में गुरुवार को करीब 12 घंटे तक ब्लैक फंगस रोगयों के ऑपरेशन किए गए। तीन ब्लैक फंगस पॉजिटिव व 5 संदिग्ध रोगियों के ऑपरेशन हुए हैं। जेएलएन अस्पताल में अब तक 20 मरीजों के ऑपरेशन हो चुके हैं, जबकि 11 अन्य संदिग्ध मरीज भी अस्पताल के वार्ड में भर्ती हैं।

नाजुक हालत देख किया निर्णय

ब्लैक फंगस का एक रोगी कोरोना संक्रमित भी है। मरीज में ब्लैक फंगस के लक्षण अधिक होने पर तत्काल ऑपरेशन का निर्णय लिया गया। इस मरीज का सबसे आखिर में ऑपरेशन किया गया। चिकित्सकों के अनुसार जब तक मरीज की कोरोना रिपोर्ट आती तब तक ब्लैक फंगस अधिक फैल जाता। ऐसे हालात में तत्काल ऑपरेशन का निर्णय लेना पड़ा।

टीम में यह चिकित्सक रहे शामिल

जेएलएन अस्पताल में डॉ. वर्मा के साथ डॉ. दिग्विजय, डॉ. योगेश आसेरी, डॉ. विक्रांत शर्मा, डॉ. प्रज्ञा राजपुरोहित, एनिस्थिसिया विभागाध्यक्ष डॉ. बीना पटौदी सहित अन्य चिकित्सक एवं रेजीडेंट ने ऑपरेशन में सहयोग किया।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned