पूरी दुनिया में लागू करें समान आचार संहिता, आतंकवाद का हो सफाया

पूरी दुनिया में लागू करें समान आचार संहिता, आतंकवाद का हो सफाया

raktim tiwari | Publish: Sep, 05 2018 10:05:00 AM (IST) Ajmer, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

अजमेर.

ऑल सेन्ट्स सीनियर सेकंडरी स्कूल में एमयूएन 2.0 में कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रस्ताव पारित हुए। इस दौरान देश-विदेश से आए प्रतिभागियों ने विभिन्न विषयों पर चर्चा की। मुख्य अतिथि जगदीश चन्द्रा, आरएएस अधिकारी किशोर कुमार, मोटिवेशनल स्पीकर राजन अरोडा, ऑल सेंट्स स्कूल की प्रधानाध्यापिका जया कुमार, स्कूल प्रशासक पियूष कुमार ने दीप प्रज्जवलन किया।

ब्रेक्सिट वार्ता बोर्ड में यूरोपियन यूनियन के नागरिकों के आवागमन, एक मुश्त वित्तीय प्रबंधन और सभी नागरिकों के परस्पर हितों को ध्यान में रखते हुए समझौता लागू करने पर जोर दिया गया। नीति आयोग ने वेस्ट मैनेजमेंट, गंगा सफाई अभियान, ई वेस्ट मैनेजमेंट पर चर्चा की। अखिल भारतीय सर्वदलीय बैठक में कृषि विकास योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री जन धन योजना, प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना पर विचार-विमर्श हुआ। सोइल हेल्थ कार्ड को बढ़ावा देने पर चर्चा हुई।


अंतर्राष्ट्रीय प्रस्तावों पर चर्चा

अपराध निवारण और आपराधिक न्याय की अंतर्राष्ट्रीय समिति ने आतंकवाद में लिप्त नागरिक अथवा संगठन के खिलफ सख्त कार्रवाई, संयुक्त राष्ट्र संघ निरस्त्रिकरण और अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा समिति ने सभी देशों को चरणबद्ध तरीके से निरस्त्रीकरण का ध्येय हासिल करने का प्रस्ताव पारित किया। नाटो समिति में अमेरिका ने सभी सदस्य देशों से अपना आर्थिक योगदान बढ़ाने की बात कही।

आतंकवाद का हो खात्मा
संयुक्त राष्ट्र सभा की कानूनी सभा ने किसी भी आर्थिक अथवा अन्य अपराधिक गतिविधि में लिप्त अपराधी एवं संगठन सदस्यों पर एक समान विश्व आचार संहिता लागू करने,संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद ने आतंकवाद के खात्मे और मानव अधिकारों को संरक्षण देने पर जोर दिया। अरब लीग की विशेष समिति में कतर एवं अरब देशों के बीच बहस हुई। इस दौरान विभिन्न श्रेणियों में श्रेष्ठ प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया। सेक्रेटरी जनरल ओजस कुमार ने धन्यवाद दिया।

 

 

 

 

 

 

 

टिकी हुई हैं 9/11 पर निगाहें

छात्रसंघ चुनाव की रंगत में डूबे कॉलेज और महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविलालय के युवाओं की नजरें 11 सितम्बर पर टिकी हैं। प्रत्याशी और उनके समर्थक चुनाव के दौरान बनाई रणनीति के आधार पर हार-जीत के कयास लगा रहे हैं। दो-तीन की छुट्टियों के बाद मंगलवार से सभी संस्थाओं में फिर चहल-पहल लौटेगी।

31 अगस्त को सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय, राजकीय कन्या महाविद्यालय, लॉ कॉलेज, संस्कृत कॉलेज, दयानंद कॉलेज और महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महासचिव और संयुक्त सचिव पद के लिए मतदान हुआ। तीन दिन की छुट्टी होने से छात्र संगठनों के पदाधिकारी, प्रत्याशी और कार्यकर्ता नजर नहीं आए। ज्यादातर कॉलेज और विश्वविद्यालय में सन्नाटा सा पसरा रहा। अब मंगलवार से संस्थानों की कैंटीन, गलियारे और परिसर आबाद होंगे।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned