Patrika Bird Fair : कोई जयपुर से आया तो कोई कनाड़ा से

चतुर्थ अन्तरराष्ट्रीय पत्रिका बर्ड फेयर में निभाई भागीदारी

अजमेर.

राजस्थान पत्रिका के चौथे अंतरराष्ट्रीय बर्ड फेयर में दूरदराज से भी लोग पक्षियों के संसार को जानने और समझने पहुंचे। पुष्कर भ्रमण पर आए कनाड़ा के एक दंपती ने बर्ड फेयर में देसी-विदेशी पक्षियों के अंदाज और परवाज को निहारा तो जयपुर से आए एक परिवार ने भी पक्षीविदें से परिन्दों से जुड़ी जानकारी हासिल की।

इस दौरान पक्षी विज्ञान के जानकारों ने उन्हें बताया कि पक्षी प्रकृति की खूबसूरती बढ़ाने के साथ-साथ हमें तनावमुक्ति, सतत विकास और शांति का संदेश देते हैं। हमें परिन्दों के प्राकृतिक घरौंदों के साथ-साथ पर्यावरण को बचाना चाहिए, ताकि भावी पीढ़ी को भी इन्हें देखने, समझने और जानने का अवसर मिले।

READ MORE : Patrika Bird Fair : देखें, बालु रेत पर किस तरह दिया पक्षी संरक्षण का संदेश

राजस्थान पत्रिका, जिला प्रशासन, नगर निगम और एडीए के तत्वावधान में आयोजित पत्रिका बर्ड फेयर के समापन समारोह में पैंटिंग, वीडियो-मोबाइल स्पर्धा के विजेताओं को सम्मानित किया गया।

इस मौके पर विधायक वासुदेव देवनानी ने कहा कि पक्षी जीवन में आनंद की अनुभूति कराते हैं। पत्रिका के प्रयासों से बर्ड फेयर अब अजमेर की पहचान बन चुका है। सागर विहार झील में प्राकृतिक मिनी बर्ड पार्क का निर्माण कराया है।

पूर्व विधायक डॉ. श्रीगोपाल बाहेती ने कहा कि पत्रिका के बर्ड फेयर ने पक्षियों के प्रति कौतुहल और जागृति पैदा की है। कोकिल कंठ, गिद्ध दृष्टि, हिरण और हाथी चाल की उपमा भी पशु-पक्षियों के प्रति प्रेम को दर्शाती है। हमें पक्षी, पेड़ और पर्यावरण को बचाना चाहिए। महापौर धर्मेन्द्र गहलोत ने कहा कि राजस्थान पत्रिका के बर्ड फेयर ने आनासागर झील को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया है।

READ MORE : आवासीय कॉलोनी के लिए मांगी एडीए ने जेलर से अनापत्ति

एडीएम (सिटी) सुरेश सिंधी ने कहा कि अब झील और अठखेलियां करते परिन्दों को देखने पर्यटक दूरदराज से अजमेर आते हैं। पक्षियों से हमें अनुशासन और जीवन का आनंद लेने की सीख लेनी चाहिए।

भाजपा देहात जिलाध्यक्ष देवीशंकर भूतड़ा ने कहा कि दुर्भाग्य से पशुओं और परिन्दों की कई प्रजातियां विलुप्त हो रही हैं। पत्रिका के बर्ड फेयर ने पक्षियों के संरक्षण के साथ-साथ युवाओं-विद्यार्थियों को प्रकृति से जोड़ा है।

जिला कलक्टर विश्व मोहन शर्मा ने कहा कि हमें पक्षियों को प्रकृति और जीवन में अपनी तरह स्थान देना पड़ेगा। संचालन स्वामी विवेकानंद मॉडल स्कूल की प्राचार्य वर्तिका शर्मा ने किया।

राजस्थान पत्रिका अजमेर के संपादकीय प्रभारी के. आर. मुण्डियार ने कहा कि हम जितना प्रकृति के करीब रहेंगे, उतना स्वस्थ रहेंगे। पत्रिका ने सामाजिक सरोकारों को सदैव बढ़ावा दिया है। अंतरराष्ट्रीय बर्ड फेयर समूचे देश की शान है। शाखा प्रबंधक बृजेश शर्मा ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

रेत पर छाए पंछी...

पुष्कर के सैंड आर्टिस्ट अजय रावत ने बालू रेत पर प्रवासी और देशी पक्षियों को उड़ते हुए दिखाया। पक्षियों के संरक्षण और संवद्र्धन की अपील भी की। जिला कलक्टर विश्वमोहन शर्मा, एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने उनकी कला को सराहा।

ग्रीन आर्मी ने बांटे पौधे

ग्रीन आर्मी ने पर्यावरण सुरक्षा को लेकर प्रतिभागियों और आमजन से कई रोचक सवाल पूछे। सही जवाब देने वाले विजेताओं को कार्यकर्ताओं ने पौधे प्रदान किए। उन्होंने लोगों से अधिकाधिक पौध लगाने और स्वच्छता का आह्वान किया।

इन्हें किया पुरस्कृत

फोटोग्राफी : रक्षित शर्मा, सनातन शर्मा, वैभव माथुर, ऋषिराज सिंह, अमित भाटी, नरेन्द्र सचेती, तार्किक वर्मा, ऋषभ सचेती, दिवाकर यादव, सुनीता दास।

वीडियो क्लीपिंग : आकांक्षा शर्मा, सी. पी. मीणा, संजय सेठी, सुनीता जैन, मेघा माहेश्वरी।
वरिष्ठ चित्रकार : अनुपम भटनागर, प्रहलाद शर्मा, बनवारीलाल ओझा, प्रजेष्ठ नागौरा, इन्दु खण्डेलवाल।

ड्रॉइंग के टॉप : वैभव शर्मा, जतिन पटेल, हर्ष गुप्ता, वर्तिका माथुर, दीक्षा मंगलानी, कबीर वागुला, भूमिका सावरिया, हर्षा साजनानी, नवीन रावत, निकिता, उज्जवल यादव।

इनका भी सम्मान : फोटो जनर्लिस्ट दीपक शर्मा, सेंट आर्टिस्ट अजय रावत, ऊंट शृंगारक अशोक टाक, सिविल डिफेंस टीम, टीआई सुनीता गुर्जर, संजय शर्मा, एडीए एक्सईएन राजेन्द्र कुड़ी एवं टीम, नगर निगम टीम, वर्तिका शर्मा, डॉ. पूनम पाण्डे।

एमडीएस यूनिवर्सिटी : आकांक्षा वर्मा, कंदालिका सारस्वत, रौनक चौधरी, मनीषा शर्मा, आशीष पाटीदार, स्वाति यादव।

dinesh sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned