Patrika Sting- गर्भ में पल रहे मासूमों की हो रही हत्या, चंद रूपयों के लिए करते हैं एेसा गंदा काम

Sonam Ranawat

Publish: Aug, 11 2017 03:06:00 (IST) | Updated: Aug, 11 2017 03:13:00 (IST)

ajmer,rajasthan,india
Patrika Sting- गर्भ में पल रहे मासूमों की हो रही हत्या, चंद रूपयों के लिए करते हैं एेसा गंदा काम

शहर में गर्भपात की खतरनाक दवाइयां मेडिकल स्टोर्स पर धड़ल्ले से बिक रही हैं। जिन दवाइयों को डॉक्टर की अधिकृत पर्ची के बिना बेचा जाना गैर कानूनी है।

 प्रिति भट्ट/ सोनम राणावत अजमेर. शहर में गर्भपात की खतरनाक दवाइयां मेडिकल स्टोर्स पर धड़ल्ले से बिक रही हैं। जिन दवाइयों को डॉक्टर की अधिकृत पर्ची के बिना बेचा जाना गैर कानूनी है। मेडिकल स्टोर संचालक न केवल दवाइयां बेच रहे हैं बल्कि इसके अलावा और क्या उपाय किए जाएं जिससे गर्भपात आसानी से हो सकता है उसकी जानकारी भी देते हैं।

 

 

राजस्थान पत्रिका टीम ने गुरुवार को एक स्टिंग ऑपरेशन के जरिए शहर के विभिन्न मेडिकल स्टोर पर पर गर्भपात की दवाइयों के चल रहे खतरनाक खेल को उजागर किया। इस दौरान कुछ मेडिकल स्टोर संचालक जहां गर्भपात की दवाइयां बेचने हुए कतराते नजर आए तो कुछेक ने तो बिना किसी डर के मनमाने दाम वसूल कर कुछ ही मिनटों में दवाई की व्यवस्था कर दी। स्टंग का उद्देश्य इस खतरनाक खेल को उजागर करना है जिससे किसी महिला या उसके गर्भ में पल रहे बच्चे की जान लेने का जिम्मेदार बन सकता है।

 

दाम दो चुकाओ दवाई जेब में

आगरागेट स्थित मेडिकल स्टोर संचालक से जब पत्रिका टीम की प्रतिनिधि ने गर्भपात की दवाई मांगी तो दुकानदार ने बिना हिचकिचाहट व्यवस्था करवाने के लिए हामी भर ली। दुकानदार ने कहा आधे घंटे में गर्भपात किट मंगवाकर दे दूंगा बस ७०० रुपए पैसे एडवांस जमा करवाने पड़ेंगे। उसने कहा कि भ्रूण हत्या पर रोक है इसलिए हर कोई नहीं बेचता है। लेकिन उस दुकानदार ने अपने पास नहीं होने के बावजूद अन्य मेडिकल स्टोर से टेबलेट उपलब्ध करवाई। इससे साफ जाहिर है कि अन्य मेडिकल स्टोर्स पर भी यह आसानी से मिल जाती है।

 

नहीं मांगी अधिकृत डॉक्टर की पर्ची

नियमों के अनुसार यदि अधिकृत डॉक्टर की पर्ची पर यह गर्भपात की दवा लिखी होने पर ही मेडिकल स्टोर संचालक बेचते हैं लेकिन मेडिकल स्टोर संचालक ने गर्भपात की दवाई देने से पहले न तो पर्ची मांगी न ही यह पूछा कि शादीशुदा है या नहीं।

 

बन सकती हैं जान की दुश्मन

इन दवाइयों का लगातार सेवन गर्भवती महिला की जान पर खतरा साबित हो सकता है। इसके मुख्य दुष्परिणाम अत्यधिक रक्तस्राव, उल्टी ,सिरदर्द ,दस्त के रूप में सामने आ सकते हैं। डॉक्टर की सलाह के बिना ली गई इस तरह की दवाइयां न केवल स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डालती हैं बल्कि कई बार गर्भपात अधूरा भी रह जाता है जो गर्भवती की जान को खतरा साबित हो सकता है।

 

दुकानदार दे रहे सुझाव

मेडिकल स्टोर संचालकों को सम्पूर्ण जानकारी नहीं होने के बावजुद भी महिलाओं व युवतियों को गलत सलाह व सुझाव दे रहे हैं। एेसा ही नजारा अन्य मेडिकल स्टोर पर देखने को मिला जहां दुकानदार ने दवाई नहीं बेची लेकिन सलाह व सुझाव कई दे दिए। जैसे कि किस प्रकार डॉक्टर से सम्पर्क कर लो पैसे दे कर काम हो जाएगा।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned