Patrika Sting: इनके हाथों से नहीं छूटता मोबाइल, ये एडिक्शन है या कुछ और

www.patrika.com/rajasthan-news

By: raktim tiwari

Published: 29 Mar 2019, 07:44 AM IST

अजमेर.

जवाहर लाल नेहरू अस्पताल में मरीजों की चिकित्सा में मोबाइल फोन बैरी बना हुआ है। गंभीर घायलों के उपचार की बात हो चाहे आपाताकालीन इकाई में हृदय रोगियों की जांच का मामला हो, मोबाइल बाधा बना हुआ है। खासकर रात्रि के समय या ड्यूटी शुरू होने के एक घंटे के बाद नर्सिंग स्टाफ का सहारा सिर्फ मोबाइल बनकर रह जाता है। ड्यूटी के दौरान मोबाइल के उपयोग एवं व्यस्त रहने पर प्रतिबंध के आदेश भी हवा हो गए हैं।

राजस्थान पत्रिका की टीम ने हाल में अस्पताल के विभिन्न विभागों के वार्डों में एवं ड्यूटी कक्षों की पड़ताल की तो कई जगह नर्सिंग स्टाफ मोबाइल फोन पर व्यस्त मिला। कोई वीडियो गेम तो कोई व्हाट्सएप पर मगन मिले। कुछ विभागों में भी नर्सिंगकर्मी मोबाइल पर समय जाया करते वहीं मरीज जांच व उपचार के लिए नर्सिंगकर्मी का इंतजार करते मिले। मोबाइल कर्मचारियों की भले ही निजता का मामला हो मगर अस्पताल प्रशासन ने ड्यूटी के दौरान मोबाइल के अत्यधिक उपयोग को रोकने के लिए इस संबंध में आदेश जारी किए थे।

केस : 1
कार्डियोलोजी विभाग की आपातकालीन इकाई में ईसीजी कक्ष की ड्यूटी पर तैनात महिला नर्सिंगकर्मी/तकनीशियन भी मोबाइल पर उंगलियां थिरकाती मिलीं। करीब 10 मिनट तक ईसीजी के लिए मरीज पलंग पर लेटा रहा तो उधर स्टाफ मोबाइल पर व्यस्त नजर आया। इसी दौरान पुरुष नर्सिंगकर्मी/ तकनीशियन ने ईसीजी की।

केस : 2
सर्जिकल विभाग के वार्ड में भी नर्सिंगकर्मी सामने टेबल पर मोबाइल पर व्यस्त मिले। एक ओर अस्पताल प्रशासन के ड्यूटी के दौरान मोबाइल के उपयोग को वर्जित करार देना और दूसरी ओर आदेशों की अवहेलना होती मिली। वार्ड में करीब 10 मिनट से अधिक वॉच के बाद फोटो कैमरे में कैद की गई।

केस : 3
शिशु औषध विभाग में ड्यूटी कक्ष में बैठे मेल नर्सिंगकर्मियों में से दो तीन मोबाइल पर व्यस्त नजर आए। रात्रि करीब 8.20 पर ड्यूटी पर पहुंचते ही मेल नर्सिंगकर्मी मोबाइल पर व्यस्त हो गए जबकि महिला नर्सिंगकर्मी चिकित्सक के साथ मरीजों का राउंड लेती मिली। यहां ड्यूटी पर मुस्तैद मिलेआईसीयू, आपातकालीन इकाई, ईएनटी विभाग, फिमेल मेडिसिन वार्ड, कार्डियोलोजी विभाग के वार्ड में कर्मचारी ड्यूटी करते मिले। टीबी अस्पताल में पूरा स्टाफ मरीजों के वैक्सीन व उपचार में नजर आया।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned