scriptPeople are craving for electricity, there is a difference of 15 percen | बिजली को तरस रहे लोग, मांग और आपूर्ति में 15 फीसदी का अंतर | Patrika News

बिजली को तरस रहे लोग, मांग और आपूर्ति में 15 फीसदी का अंतर

कहीं कटाैती तो कही फाल्ट के कारण घंटो तक गुल हो रही बिजली

अजमेर

Updated: April 30, 2022 10:28:51 pm

अजमेर.कोयला संकट के चलते जिले में भीषण बिजली संकट जारी है। जिले के ग्रामीण क्षेत्र से लेकर शहरों तक कई घंटे बिजली कटौती हो रही है। इससे आमजन के साथ ही उद्योग- धंधे और खेती-किसानी भी प्रभावित है। बिजली कटौती लगातार बढ़ती जा रही है। बिजली की मांग व आपूर्ति में 15 प्रतिशत का अंतर बना हुआ है। जानकारों का कहना है कि मई और जून में यह अंतर और बढ़ सकता है।
 Power cut
Power cut
साढे आठ घ्ंटे तक काटौती

वर्तमान में ग्रामीण क्षेत्र में बिजली कटौती साढे 8 घंटे तक हो रही है। नगर पालिका क्षेत्र में 3 घंटे, जिला मुख्यालयों पर 2 घंटे, संभागीय मुख्यालय पर 3 घंटे पावर कट झेलना पड़ रहा है।
औद्योगिक इकाइयों पर असर

औद्योगिक क्षेत्रों में एक एमवीए से अधिक की इंडस्ट्रीज शाम 6 से रात्रि 10 बजे के दौरान उनकी मांग की आधी बिजली ही दी जा रही रही है। एक एमवीए से कम के इकाइयों में भी 50 फीसदी बिजली की ही सप्लाई हो रही है। उद्योगों की बिजली काट कर कृषि क्षेत्र में दी जा रही है। इसके बावजूद किसानों को कभी दिन तो कभी रात्रि मे 6 घंटे के बजाय 5 घंटे ही मिल रही है। इसमें और भी कटौती हो सकती है। कृषि क्षेत्र को बिजली सप्लाई का ब्लॉक भी तय नही है।
चार घंटे के बाद आई बिजली

शहर की कई कॉलोनियां, औद्योगिक इकाइयों तथा क्रेशर क्षेत्रों को शनिवार को विद्युत तंत्र केेरखरखाव के कारण कई घंटे तक बिजली कटौती झेलनी पड़ी। वहीं लोहाखान क्षेत्र में लोगों को चार घंटे बिजली गुल रहने के कारण परेशानी का सामना करना पड़ा। सुबह 6.30 बजे गुल हुई बिजली साढे दस बजे के बाद ही लौटी। बिजली गुल होने के लिए विद्युत सप्लाई मेें फाल्ट आने को कारण बताया गया। स्थानीय लोगों ने बताया कि कई बार शिकायत की गई लेकिन सुनवाई नहीं हुई।
और यहां हो रही बिजली की बरबादी

शहर में कई सरकारी कार्यालयों में बिजली की बरबादी भी नजर आ रही है। अधिकारी- कर्मचारी के नहीं आने के बावजूद दिनभर एसी, पंखे व लाइटें धडल्ले से चलती रहती हैं। अधिकारियों के कार्यालय में नहीं होने तथा भोजनावकाश में घर जाने की स्थिति में भी कार्यालयों में बिजली का दुरुपयोग नजर आता है। अवकाश के बावजूद कलक्ट्रेट, एडीए व कई अन्य कार्यालयों में यही स्थिति नजर आई।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

अब तक 11 देशों में मंकीपॉक्स : 21 मई को WHO की इमरजेंसी मीटिंग, भारत में अलर्ट, अफ्रीकी वैज्ञानिक हैरानभीषण सडक़ हादसा: पूर्व सांसद के भतीजे समेत 4 की मौत, गैसकटर से काटकर निकाले गए शवWeather Update: दिल्ली सहित इन राज्यों में बदला मौसम ​का मिजाज, आंधी-बारिश की संभावनाMP में ओबीसी आरक्षण: जिला पंचायत 30, जनपद 20 और सरपंचों को 26 फीसदी आरक्षणपटियाला जेल में बंद Navjot Singh Sidhu ने पहली रात नहीं खाया जेल का खाना, नहीं मिला कोई VIP ट्रीटमेंटRajiv Gandhi Death Anniversary: भावुक हुए राहुल गांधी, पिता को याद कर कही दिल की बातभारतीय की शान Veer Mahaan का एक फिर खौला खून, कहा- पूरे WWE लॉकर रूम का बुरा हाल करूंगाInflation Around the World: महंगाई की मार, भारत से ज्यादा ब्रिटेन और अमरीका हैं लाचार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.