राजस्थान के इस शहर में चल रहा नशे का काला कारोबार, प्रशासन की नाक के नीचे यूं हो रही मादक पदार्थ की सप्लाई

राजस्थान के इस शहर में चल रहा नशे का काला कारोबार, प्रशासन की नाक के नीचे यूं हो रही मादक पदार्थ की सप्लाई

Sonam Ranawat | Publish: Sep, 06 2018 01:09:16 PM (IST) Ajmer, Rajasthan, India

www.patrika.com/ajmer-news/

मनीषकुमार सिंह /अजमेर. धार्मिक नगरी पुष्कर के साथ अजमेर शहर भी मादक पदार्थ तस्करों की गिरफ्त में है। तस्कर मादक पदार्थ खपाने के लिए फुटपाथ पर खानाबदोश जिन्दगी बसर करने वाले किशोर, युवा व कथित बाबाओं का इस्तेमाल बतौर स्ट्रीट पेडलर के रूप में कर रहे हैं। ये लोग शहर के मुख्य चौराहा, पार्क व धार्मिक स्थलों के बाहर बैठे नजर आ जाएंगे। बस ग्राहक तलब पूरी करने उन तक पहुंचते हैं ओर वे उनकी जररूत के मुताबिक नशा मुहैया करवा देते हैं।

 

राजस्थान पत्रिका टीम ने शहर के कुछ प्रमुख चौराहा, उद्यान पर बैठे खानाबदोशों को टटोला तो मादक पदार्थ की तस्करी की यह कड़ी उभर कर सामने आई, जो खानाबदोशी की आड़ में नशे की पुडिय़ा बेचते हैं। खास बात तो यह है कि नशे के कारोबार में लिप्त ये स्ट्रीट पेडलर ग्राहक की तलब और अपनी जरूरत के मुताबिक कमीशन तय करते है। कई मर्तबा तो यह ग्राहक के बराबर या आधा माल की डिमांड करते है। इतना कुछ नहीं मिलने पर एक-दो कश के लिए पुडिय़ा लाने को तैयार हो जाते हैं।


ये हैं प्रमुख स्थल

क्लॉक टावर थाना क्षेत्र के सीसाखान पीर रोड, डिग्गी चौक क्षेत्र, रामगंज थाना क्षेत्र के अजयनगर सांसी बस्ती, दरगाह थाना क्षेत्र में अन्दरकोट जालियान कब्रिस्तान क्षेत्र, नई सडक़, तारागढ़ पैदल रास्ता क्षेत्र में तस्कर जायरीन को मादक पदार्थ की पुडिय़ा मुहैया करवाते हैं। वहीं गंज थाना क्षेत्र में रामप्रसाद घाट, कोतवाली थाना क्षेत्र में सुभाष उद्यान, बजरगंगढ़ और क्रिश्चियन गंज थाना क्षेत्र में आनासागर लिंक रोड क्षेत्र शामिल है। यहां चाय की थड़ी के आसपास बैठे किशोर और युवक नशे की पुडिय़ा बेचते नजर आ जाएंगे।



प्रशासनिक फेरबदल होता है तो कुछ अपराधी व मादक पदार्थ तस्कर सक्रिय हो जाते है। जिला पुलिस सख्ती से कार्रवाई कर अंकुश लगाने का प्रयास करेगी।
-राजेश सिंह, पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह, पुलिस अधीक्षक

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned