अगले साल पाइप लाइन से घर तक पहुंचेगी रसोई गैस

पंचशील तथा वैशाली नगर में पभोक्ताओं ने दी सहमति
मुफ्त में कनेक्शन,किश्तों में देनी होगी सिक्योरिटी राशि

By: bhupendra singh

Published: 14 Oct 2020, 10:25 PM IST

अजमेर.शहर के लोगों को अब रसोई गैस के लिए सिलेंडर की बुकिंग और डिलीवरी का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। अगले साल next year मार्च तक शहरवासियों के घर तक पानी की तरह ही गैस पाइप लाइन gas pipeline के जरिए रसोई गैस की सप्लाई की जाएगी। शहर में गैस पाइन लाइन डालने के लिए इंन्द्रप्रस्थ गैस लिमिटेड (आईजीएल) igl ने काम शुरु कर दिया है। बुधवार को अजमेर विकास प्राधिकरण ada व आईजीएल के अधिकारियों के साथ बैठक हुई। इस दौरान मंजूरी सहित अन्य मुद्दों पर चर्चा हुइ। आईजीएल igl के अधिकारियों ने कहा कि वे अजमेर में भविष्य में 100 सीएनजी cng स्टेशन शुरु करना चाहते है। और उन्हें इसके लिए भूमि का आवंटन किया जाए। माकड़वाली तथा पंचशील क्षेत्र में अब तक शहर में 2 हजार उपभोक्ताओं गैस पाइप लाइन के जरिए कनेक्शन लेने की सहमति दी है। कम्पनी के अनुसार कनेक्शन के लिए रजिस्ट्रेशन नि:शुल्क है। आवेदक बिना आईजीएस की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कर सकता है। कनेक्शन के लिए 6000 रुपए सिक्यूरिटी के रूप में किश्तों (ईएमआइ) के रूप गैस के बिल के साथ लिया जाएगा। यह रिफंडेबल है।

एलपीजी से सस्ती पीएनजी गैस
कम्पनी के अनुसार उपभोक्ता के घर एलपीजी lpg के स्थान पर पीएनजी png गैस (पाइप नेचुरल) गैस पहुंचाई जाएगी। यह सुरक्षित है,यह हवा से हल्की होने के साथ ही लीकेज आदि की अवस्था में हवा में उड़ जाएगी। जबकि एलपीजी भारी गैस होने के कारण नीचे ही रह जाती है। सुरक्षा के लिए पाइप लाइन से लेकर रसोई गैस के चूल्हे तक तीन वाल्व लगाए जाएंगे। गैस सिलेंडर खत्म होने की समस्या से छुटकारा मिलेगा। उपभोक्ता पहले गैस का इस्तेमाल करें फिर भुगतान करें। अब तक सिलेंडर लेने के दौरान पहले भुगतान करना पड़ता है। एलपीजी गैस व पीएनजी गैस के दाम में करीब 10 प्रतिशत का अंतर है। एलपीजी के मुकाबले पीएनजी से प्रदूषण भी कम होता है।

ऐसे पहुंचेगी घर तक गैस

आइजीएल के अजमेर प्रोजेक्ट के वाईस प्रेसिडेंट विनोद कुमार ढाका अनुसार कम्पनी की ओर से हाइवे पर सीएनजी पम्पिंग स्टेशन खोले जाएंगे। यहां लिक्वीफाइड नेचुरल (एलएनजी) गैस खाली की जाएगी। इसके बाद इस गैस को सिलेंडरों वाली गाड़ी में भर कर लाया जाएगा और गैस पाइप लाइन में डाला जाएगा। जब शहर में नेटवर्क पूरी तरह से चालू हो जाएगा तो सीएनजी स्टेशन से सीधे शहर की गैस पाइप लाइन को जोडकऱ सप्लाई दी जाएगी। अजमेर मे करीब 730 किमी का पाइप लाइन नेटवर्क बनाया जाएगा। जिसकी क्षमता करीब 1 लाख 70 हजार घरों को जोड़ा जाएगा। इस साल 75 हजार घरों को गैसलाइन से जोडऩे की योजना है। अब तक अजमेर में 31 किमी पाइप लाइन डाली जा चुकी है।
प्रोजेक्ट एक नजर

राज्य के अजमेर, पाली तथा राजसमन्द में गैस पाइप लाइन डालने के लिए बीपीसीएल,गेल इंडिया तथा दिल्ली सरकार की ज्वाइंट वेंचर कम्पनी आइजीएल ने प्रोजेक्ट शरु किया है। आईजीएल ने अगले तीन साल में 1284 करोड़ की तैयारी में है। अगले 25 साल में 4824 करोड़ रुपए के निवेश के योजना बनाई है। जिसमें 200 सीएनजी स्टेशन और 1 मिलियन घरेल पीएनजी कनेक्शन का लक्ष्य रखा है। अजमेर में मार्च 2021 तक 5 सीएनजी स्टेशन खोलने की योजना है। 106 किमी लाइन के दौलतखेड़ा अजमेर ,ब्यावर, किशनगढ़ शहर को कवर किया जाएगा।

read more:उद्योगों व बाजारों में बिजली की मांग घटी,घर में बढ़ी

Show More
bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned