दोनों बेटियां बोली : अपनी लाडो के हाथ पीले तो कर जाते पापा...हमें क्यों अकेला छोड़ गए...मम्मी को कैसे समझाएंगे...

दुर्घटना में घायल एएसआई की 13 दिन बाद मौत : बेटियों के विवाह को लेकर 1 जनवरी को डेढ़ माह के अवकाश के लिए दिया था आवेदन, साल 2020 के अंतिम माह 29 दिसंबर को लोडिंग टैम्पो ने मारी थी टक्कर

By: suresh bharti

Updated: 11 Jan 2021, 12:05 AM IST

ajmer अजमेर. जिंदगी और मौत के बीच झूलते हुए दुर्घटना के 13 दिन बाद आखिर दुर्घटना घायल में क्रिश्चयनगंज थाने के एएसआई ने रविवार को उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। खबर मिलते ही परिजन विलाप करने लगे। दोनों बेटियां दहाड़े मार-मारकर कहती रही-पापा अब हमारा क्या होगा...अपनी लाडो के हाथ पीले तो कर जाते...मम्मी को अब कैसे समझाएंगे...। मृतक एएसआई की बेटियों का यह विलाप देख हर किसी की आंखें नम हो गई। मौत के बाद विवाह वाले घर में खुशियों की जगह मातम पसर गया। नया साल इस परिवार के लिए मनसूस बनकर आया।

हादसे के बाद से ही वेंटीलेटर पर थे

क्रिश्चयनगंज थाना पुलिस में तैनात पैंतालीस वर्षीय उगराराम चौधरी 29 दिसंबर 2020 को बाइक पर लोहागल रोड जा रहे थे। इसी दौरान एक मैनेजमेंट कॉलेज समीप गैस सिलेंडर से भरे लोडिंग टैम्पो ने बाइक के टक्कर मार दी। इससे वह गम्भीर घायल हो गए थे। चौधरी को पुलिसकर्मियों ने पंचशील स्थित क्षेत्रपाल अस्पताल में भर्ती कराया। गम्भीर स्थिति होने पर दुर्घटना के दिन से ही वेंटीलेटर पर थे। पुलिस ने जवाहरलाल नेहरू अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन को सौंप दिया।

फरवरी में होना था दो पुत्रियों का विवाह

मूलत: नागौर जिले के ग्राम मोरियाना निवासी उगराराम के दो बेटियां और एक बेटा है। उनकी बेटियों की 16 फरवरी को शादी होने वाली थी। इसके लिए उन्होंने 1 जनवरी से डेढ़ महीने के अवकाश का आवेदन भी दिया था, लेकिन इससे पहले ही दुर्घटना में उनकी मृत्यु हो गई।

कर्तव्यनिष्ठ और मिलनसार थे चौधरी

थाना प्रभारी डॉ. रविश सामरिया ने बताया कि चौधरी कत्र्तव्यनिष्ठ और मिलनसार प्रवृत्ति के थे। जो सदैव ड्यूटी को तत्पर रहते थे। उनका आकस्मिक निधन पूरे पुलिस महकमे और क्रिश्चयनगंज थाना के लिए अपूरणीय क्षति है। एसपी जगदीशचंद्र शर्मा सहित अन्य अधिकारियों ने उनके निधन पर शोक जताया है।

जानलेवा बन रहे टैम्पो-ट्रैक्टर

शहर में दौड़ते लोडिंग टैम्पो-ट्रैक्टर और ट्रक जानलेवा बन गए हैं। इनसेहादसों में कई लोग जान गंवा चुके हैं। जिला प्रशासन, परिवहन विभाग और यातायात पुलिस इनके खिलाफ ठोस कार्रवाई नहीं कर रही है। यह वाहन आवासीय इलाकों से तेज रफ्तार से गुजरते हैं। शहर में एन्ट्री नहीं होने के बावजूद बजरी-पत्थर के डम्पर, ट्रैक्टर दौड़ रहे हैं।

अजमेर के सभी थानों में रही सेवाएं

ग्राम मोरियाना निवासी एएसआई उगरा राम चौधरी का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। उन्होंने अपने कार्यकाल में अजमेर के सभी शहरी थानों में सेवाएं दीं। इससे सभी दफ्तरों में उनकी अच्छी खासी पहचान रही। अंतिम संस्कार में अजमेर दक्षिण पुलिस उप अधीक्षक बुधराज टाक, पीसीसी सदस्य शिवपाल सिंह मातवा, क्रिश्चियन गंज थानाधिकारी डॉ.रविश सामरिया, थांवला थानाधिकारी हीरालाल सहित बड़ी संख्या में पुलिस के जवान व स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने पार्थिव देह को पुष्प चक्र अर्पित किए।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned