scriptPolice claim - there was no gang rape of a woman in Dholpur | पुलिस का दावा- धौलपुर में महिला से नहीं हुआ गैंगरेप, हुई सिर्फ छेडख़ानी व मारपीट | Patrika News

पुलिस का दावा- धौलपुर में महिला से नहीं हुआ गैंगरेप, हुई सिर्फ छेडख़ानी व मारपीट

- पुलिस अधीक्षक बोले- जांच के बाद मामले में मिली यह जानकारी, आरोपितों को जल्द किया जाएगा गिरफ्तार- राज्य महिला आयोग अध्यक्ष ने किया दौरा, महिला से की मुलाकात

जिले के ग्रामीण इलाके में एक दलित महिला से कथित तौर पर बंदूक का भय दिखा पति व बच्चों के सामने सामूहिक दुष्कर्म के मामले में नया मोड़ आ गया है। सोमवार को यहां पुलिस अधीक्षक शिवराज मीना ने दावा किया कि मामले की गहन जांच के बाद सामने आया है कि महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म जैसी कोई घटना नहीं हुई है

अजमेर

Published: March 21, 2022 11:34:08 pm

धौलपुर. जिले के ग्रामीण इलाके में एक दलित महिला से कथित तौर पर बंदूक का भय दिखा पति व बच्चों के सामने सामूहिक दुष्कर्म के मामले में नया मोड़ आ गया है। सोमवार को यहां पुलिस अधीक्षक शिवराज मीना ने दावा किया कि मामले की गहन जांच के बाद सामने आया है कि महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म जैसी कोई घटना नहीं हुई है। महिला के साथ छेड़छाड़ और मारपीट हुई है। इस मामले में फरार आरोपितों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वहीं, राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष रेहाना रियाज चिश्ती ने सोमवार को महिला के घर जाकर मुलाकात की। चिश्ती ने महिला द्वारा बताए घटनास्थल का भी दौरा किया। उधर, सोमवार को महिला के 164 के बयान भी कराए गए हैं।
#crimenews 17 घंटे के अंतराल में तीन युवकों का अपहरण
#crimenews 17 घंटे के अंतराल में तीन युवकों का अपहरण
यहां सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत करते हुए पुलिस अधीक्षक मीना ने कहा कि पुलिस ने मामले की हर पहलू से जांच की है। महिला द्वारा बताए घटनास्थल का भी मुआयना किया है। जांच में सामने आया है कि महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म जैसी कोई घटना नहीं हुई है। महिला से छेडख़ानी और उसके व पति के साथ मारपीट हुई है। इस मामले में आरोपितों की तलाश जारी है। जल्द सभी आरोपित गिरफ्त में होंगे।
गांव के पास रास्ते पर ही बताया घटनास्थल

पुलिस अधीक्षक मीना ने बताया कि महिला द्वारा कथित सामूहिक दुष्कर्म का घटनास्थल गांव के पास आम रास्ते पर ही बताया गया है। महिला ने समय भी शाम करीब छह बजे का बताया है। एसपी के अनुसार गांव के इतने पास और वह भी दिनदहाड़े सामूहिक दुष्कर्म की बात गले नहीं उतर रही है। शाम को गांव के लोग इस रास्ते से आते-जाते रहते हैं। पुलिस जांच में किसी ने भी इस तरह की घटना की जानकारी नहीं दी है। ऐसे में पुलिस इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि सामूहिक दुष्कर्म जैसी कोई घटना नहीं हुई है।
हर पहलू की कर रहे जांच, महिला को न्याय दिलाना प्राथमिकता: चिश्ती

मामले की गंभीरता को लेकर राज्य महिला आयोग (आरएससीडब्ल्यू) की अध्यक्ष रेहाना रियाज चिश्ती ने सोमवार को महिला के गांव का दौरा किया। चिश्ती ने महिला द्वारा बताए गए घटनास्थल का दौरा कर महिला से भी मुलाकात की। इसके बाद धौलपुर सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत करते हुए चिश्ती ने कहा कि महिला से बात की गई है। जिला कलक्टर और एसपी से इस संबंध में जानकारी ली जा रही है। पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है। महिला को न्याय दिलाना आयोग की प्राथमिकता है।
हुए महिला के 164 के बयान

सोमवार को मजिस्ट्रेट के समक्ष के महिला के 164 के बयान कराए गए। इसके लिए महिला को बाड़ी न्यायालय ले जाया गया। जहां बंद कमरे में मजिस्टे्रट के समक्ष महिला ने कलमबंद बयान दर्ज कराए।
इसलिए दर्ज किए जाते हैं धारा 164 के तहत बयान

धारा-164 के तहत बयान दर्ज करते समय मजिस्ट्रेट गवाह से पूछता है कि उस पर कोई दबाव तो नहीं है। गवाह जब बताता है कि वह अपनी मर्जी से बयान दे रहा है, तब मजिस्ट्रेट उसे कलमबंद करता है। कई बार ट्रायल के दौरान गवाह आरोप लगाता है कि पुलिस ने जबरन बयान दर्ज किया है और उसने उक्त बयान नहीं दिए थे, लेकिन मजिस्ट्रेट के सामने दिए बयान से उसके लिए मुकरना आसान नहीं होता।
आरोपित हैं फरार

मामले में महिला द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर के आरोपित फिलहाल फरार हैं। पुलिस द्वारा उन्हें जिले सहित उत्तर प्रदेश में भी तलाशा जा रहा है। एसपी के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बच्चन सिंह मीना सैंपऊ में कैम्प कर रहे हैं। पुुलिस का कहना है कि आरोपितों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
मच गया था बवाल

कथित गैंगरेप की इस घटना के बाद राज्यभर में बवाल मच गया था। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां, नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल समेत अनेक नेताओं ने इस संबंध में ट्वीट कर राज्य सरकार पर निशाना साधा था। वहीं, राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी मामले में संज्ञान लेते हुए पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखा था।
इनका कहना है

मामले में महिला से मुलाकात की है। महिला को न्याय दिलाना आयोग की प्राथमिकता है। पुलिस हर पहलू की जांच कर रही है।

- रेहाना रियाज चिश्ती, अध्यक्ष, राजस्थान राज्य महिला आयोग
पुलिस की पड़ताल में पता चला है कि महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म जैसी कोई घटना नहीं हुई है। छेड़छाड़ और मारपीट के मामले में पुलिस आरोपितों की तलाश कर रही है।
- शिवराज मीना, पुलिस अधीक्षक, धौलपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

'तमिल को भी हिंदी की तरह मिले समान अधिकार', CM स्टालिन की अपील के बाद PM मोदी ने दिया जवाबहिन्दी VS साऊथ की डिबेट पर कमल हासन ने रखी अपनी राय, कहा - 'हम अलग भाषा बोलते हैं लेकिन एक हैं'Asia Cup में भारत ने इंडोनेशिया को 16-0 से रौंदा, पाकिस्तान का सपना चूर-चूर करते हुए दिया डबल झटकाअजमेर की ख्वाजा साहब की दरगाह में हिन्दू प्रतीक चिन्ह होने का दावा, पुलिस जाप्ता तैनातबोरवेल में गिरा 12 साल का बालक : माधाराम के देशी जुगाड़ से मिली सफलता, प्रशासन ने थपथपाई पीठममता बनर्जी का बड़ा फैसला, अब राज्यपाल की जगह सीएम होंगी विश्वविद्यालयों की चांसलरयासीन मलिक के समर्थन में खालिस्तानी आतंकी ने अमरनाथ यात्रा को रोकने की दी धमकीलगातार दूसरी बार हैदराबाद पहुंचे PM मोदी से नहीं मिले तेलंगाना CM केसीआर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.