सरमथुरा से जुड़े अपहर्ताओं के तार खंगालने में जुटी पुलिस

एक और संदिग्ध चिन्हित, पुलिस टीम मुरैना पहुंची , सरमथुरा से 11 वर्षीय बालक के अपहरण का मामला 55 लाख रूपए की फिरौती के लिए पोहे के ठेले वाले के ११ वर्षीय पुत्र को मुक्त कराने के बाद पुलिस ने मामले में पड़ताल शुरू कर दी है। प्रारंभिक तौर पर आरोपियों के तार सरमथुरा से जुड़ा होने की संभावना के चलते स्थानीय आरोपियों को चिन्हित करने मेें जुटी हुई है। वहीं, मामले के एक और संदिग्ध की जानकारी मिलने के मिलने के बाद पुलिस ने एक और आरोपी की तलाश में पुलिस टीम को मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में रवाना किय

By: Dilip

Published: 21 Nov 2020, 12:14 AM IST

धौलपुर. 55 लाख रूपए की फिरौती के लिए पोहे के ठेले वाले के ११ वर्षीय पुत्र को मुक्त कराने के बाद पुलिस ने मामले में पड़ताल शुरू कर दी है। प्रारंभिक तौर पर आरोपियों के तार सरमथुरा से जुड़ा होने की संभावना के चलते स्थानीय आरोपियों को चिन्हित करने मेें जुटी हुई है। वहीं, मामले के एक और संदिग्ध की जानकारी मिलने के मिलने के बाद पुलिस ने एक और आरोपी की तलाश में पुलिस टीम को मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में रवाना किया है।

सरमथुरा क्षेत्र से गत बुधवार दोपहर जगदीश बंसल के११ वर्षीय पुत्र सुखदेव बंसल का अपहरण के मामला सामने आने के बाद पुलिस ने गंभीरता दिखाते हुए पुलिस २४ घंटे में अपह्रत बालक को मध्य प्रदेश के नूराबाद इलाके से मुक्त करा लिया। इस दौरान पुलिस ने दो संदिग्धों को भी हिरासत में लिया है।
जिला पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत ने बताया कि पुलिस की ओर से हिरासत में लिए गए दो संदिग्धों से पूछताछ करते हुए मामले को लेकर साक्ष्य जुटा रही है, इस दौरान वारदात में शामिल एक ओर संदिग्ध की जानकारी पुलिस को मिली है। जिस पर पुलिस की एक टीम संदिग्ध की तलाश में पुलिस टीम को मध्य प्रदेश के मुरैना जिले के लिए रवाना किया गया है। एसपी शेखावत ने बताया कि पुलिस मामले के हर पहलू पर अनुसंधान कर रही है, इस दौरान पुलिस ने जिन दो संदिग्धों से हिरासत में लिया है, उसकी रिश्तेदारी सरमथुरा क्षेत्र में होना सामने आया है। इस पर पुलिस ने संदिग्धों के रिश्तेदारों को भी चिन्हित करने में जुटी हुई है, जो सरमथुरा क्षेत्र में रहते है।

घबराया हुआ है बालक
मामले की जांच में जुटे सरमथुरा सीओ प्रवेन्द्र कुमार महला ने बताया कि मुक्त कराए गए बालक सुखदेव के परिजनों से शुक्रवार को मुलाकात की और बालक से हालचाल पूछे। इस दौरान बालक से भी बातचीत करते हुए घटनाक्रम को लेकर साक्ष्य जुटाएं, लेकिन अभी तक कोई भी स्पष्ट जानकारी बालक नहीं दे पा रहा है। सीओ ने बताया कि बालक घटना के बाद से घबराया हुआ है और आरोपियों संबंधित कोई भी स्पष्ट जानकारी नहीं दे पा रहा है।

डीजी ने की धौलपुर पुलिस टीम की सराहना

प्रदेश के पुलिस महानिदेशक एमएल लाठर ने शुक्रवार को बीसी के दौरान अपह्रत बालक को मुक्त कराए जाने पर धौलपुर पुलिस टीम की सराहना की। इस दौरान जिला पुलिस अधीक्षक ने डीजी को घटनाक्रम से जुड़ी बातों के बारे में विस्तार से जानकारी दी

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned