लीजिए साहब चुनाव भी हो गए, जनता की समस्याएं तो जस की तस

लीजिए साहब चुनाव भी हो गए, जनता की समस्याएं तो जस की तस

raktim tiwari | Publish: Dec, 08 2018 06:17:41 PM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

अजमेर/ब्यावर/मदनगंज-किशनगढ़.

नेताओं को जनता की याद सिर्फ चुनावों में आती है। नेता जनता के मुद्दों को भुला बैठते हैं। कुछ ऐसा ही हाल जिले के विभिन्न शहरों का है। यहां की समस्याओं से आम आदमी को रोज सामना करना पड़ता है। लेकिन न तो किसी प्रत्याशी और न ही किसी राजनीतिक दलों को इन समस्याओं के निस्तारण पर बात करने क फुर्सत नहीं है। राजस्थान पत्रिका ने नगर की कुछ स्थाई बन गई समस्याओं और मसलों के साथ यहां की पब्लिक की ओर से सुझाए गए जन एजेंडे रखा है।

खस्ताहाल सडक़ें
नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकांश सडक़ें खस्ताहाल है। राहगीरों और सडक़ों के बीच में और चौराहे व तिराहों पर गड्ढे होने और सडक़ उधड़ी होने के कारण दुपहिया वाहन चालकों को खासी दिक्कत होती है। रात के समय हादसों की आशंका दूगनी हो जाती है। कच्चे रास्तों से धूल उडऩे से भी वाहन चालकों की परेशानी होती है। यहां के सांवतसर, देवडूंगरी रोड, नया शहर, सिटी रोड और अरांई रोड समेत कई जगह की सडक़ों की दशा खराब है।

सडक़ों पर गोवंश
नगर के मुख्य बाजारों और गली मोहल्लों मेंं लावारिस मवेशियों का जमघट लगा रहता है। इन मवेशियों की चपेट में आने से कई बार नागरिक चोटिल भी हो जाते है। यहीं नहीं सडक़ों पर खड़े इन मवेशियों के कारण आए दिन ट्रेफिक भी जाम रहता है। यहीं स्थित नेशनल हाइवे की रहने लगी है। ग्रामीण क्षेत्रों में गोवंश अब काश्तकारों के लिए परेशानी का सबब बनने लगा है।

अतिक्रमण की भरमार
नगर के मुख्य बाजार और आवासीय क्षेत्र मूें दिनप्रतिदिन पक्के निर्माण और अतिक्रमण की लोगों में रेस लगी हुई है। रोज कहीं न कहीं एक बिना स्वीकृति के एक कॉम्पलेक्स की नींव रख दी जाती है। इसके कारण मुख्य मार्ग ही नहीं कई गली-मोहल्लों के रास्ते तक संकरे हो गए है। अवैध निर्माण और अतिक्रमण के कारण हमीर तालाब भी सिकुड़ चुका है। वहीं कई विकास कार्य परासिया डबल फाटक स्थित आरओबी, रेलवे स्टेशन स्थित आरयूबी सहित अन्य कार्य अधूरे पड़े है।

यातायात जाम हुआ आम
नगर के मुख्य मार्गों पर यातायात जाम होना आम बात हो गई है। सुबह एवं शाम के समय यातायात जाम होने के कारण वाहन चालकों को काफी परेशानी झेलनी पड़ती है और पैदल चलना तक मुश्किल हो गया है। सडक़ों के दोनों तरफ खडक़ें वाहन, फल सब्जी के ठेले और मनीहारिनों की थडिय़ां सुगम यातायात के लिए बाधक है। सार्वजनिक परिवहन और यातायात पुलिसकर्मियों की कमी के कारण समस्या और बढ़ गई है। यातायात जाम के कारण कई बार आपातकालीन सेवाओं के वाहन फायर ब्रिगेड और एंबुलेंस तक फंस जाते है।

अपराध हुआ बेलगाम
नगरीय परिक्षेत्र में बीते कुछ सालों में अपराध का ग्राफ भी बढ़ा है। यहां पर पिछले कुछ समय में कई संगीन वारदातें हुई। हत्या, डकैती और दो एटीएम लूट जैसी बड़ी वारदातों को अंजाम दिया गया। अप्रेल माह में जमीनी विवाद के चलते भू-कारोबारी के घर पर फायरिंग हुई। मार्बल फैक्टी में काम करने वाले युवकों ने एक तरफा प्रेम के चलते महिला के आठ साल के बेटे की हत्या कर दी। सिलोरा हाइवे पर ***** ने अपने साथियों के साथ मिलकर जीजा को मौत के घाट उतारा दिया और शव हाइवे पर फैंक कर भाग गए। टिकावड़ा गांव में प्रेमप्रसंग के चलते छोटे भाई ने अपने बड़े भाई की हत्या करवा दी। मार्बल एरिया के एटीएम को लूटने की कोशिश की गई। हालांकि पुलिस उक्त लगभग सभी मामलों का खुलासा कर चुकी है। जनवरी माह में अजमेर रोड के लुटे एटीएम की वारदात से अभी भी पर्दा नहीं उठा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned