फिजूलखर्ची पर रोक लगाकर घाटा कम करें बिजली कम्पनियां: डॉ.कल्ला

राजस्थान होगा बिजली उत्पादन के क्षेत्र में अग्रणी

अजमेर डिस्कॉम के नवाचारों और प्रगति को सराहा

ऊर्जा विभाग की समीक्षा बैठक

By: bhupendra singh

Published: 21 Feb 2021, 06:10 PM IST

अजमेर. ऊर्जामंत्री डॉ.बी.डी. कल्ला ने कहा कि आने वाले दिनों में राजस्थान बिजली के क्षेत्र में अग्रणी होगा। राजस्थान की सौर ऊर्जा के क्षेत्र में नवाचार और नई शुरूआत से हम प्रत्येक घर को निर्बाध विद्युत आपूर्ति देने में सक्षम हो जाएंगे। हाल ही में हमने एनटीपीसी और अन्य एजेंसियों साथ एमओयू किए हैं। राजस्थान विद्युत उत्पादन के क्षेत्र में अग्रणी राज्यों में शामिल होगा। ऊर्जामंत्री ने कहा कि बिजली कम्पनियों को घाटे से उबारने के लिए निर्देश दिए गए हैं । इसके लिए छीजत में कमी लाई जाए, फि जूल खर्ची पर रोक, अनावश्यक वस्तुओं की खरीद पर रोक तथा बिजली चोरों के खिलाफ कार्यवाही कर घाटे को कम किया जाए। अजमेर डिस्कॉम ने बिजली छीजत घटाने और राजस्व बढ़ाने की दिशा में बेहतर काम किया है। ऊर्जामंत्री डॉ कल्ला ने अजमेर विद्युत वितरण निगम के मुख्यालय में ऊर्जा विभाग की समीक्षा बैठक लेते हुए कहा कि राजस्थान सोलर एनर्जी का हब बन रहा है।

किसानों को मिलेगी दिन में बिजली

ऊर्जामंत्री ने कहा कि अगले दो साल में प्रदेश में किसानों को सिंचाई के लिए दिन में बिजली मिलेगी। वर्तमान में राज्य के 16 जिलों में किसानों को दिन में बिजली दी जा रही है। अजमेर डिस्कॉम के 11 जिलों में से अजमेर, भीलवाड़ा, उदयपुर, राजसमंद, प्रतापगढ़, डूंगरपुर, चितौडगढ़ एवं बांसवाडा में दिन के ब्लॉक में किसानों को बिजली दे रहा है। शेष तीन जिलों में भी जल्द दिन में बिजली दे दी जाएगी। राज्य के 60 हजार किसानों को कृषि कनेक्शन जारी किए गए है। राज्य सरकार ने कृषि क्षेत्र में बिजली की दरें नहीं बढ़ाने का निर्णय ले रखा है हम इस पर कायम हैं।

एक प्रतिशत छीजत पड़ती है 450 करोड़ की

ऊर्जामंत्री ने कहा कि अजमेर डिस्कॉम ने छीजत में कमी लाने के लिए सराहना की। उन्होंने कहा कि नागौर, सीकर, झुंझुनू और बांसवाडा जैसे बड़ी छीजत वाले जिलों में अजमेर डिस्कॉम ने जिस तरह से काम किया है वह अनुकरणीय है। एक प्रतिशत छीजत कम करने का अर्थ है कि 450 करोड़ रुपए की बचत। हम प्रति यूनिट बिजली की लागत कम करने का भी प्रयास कर रहे हैं।

अजमेर डिस्कॉम की छीजत 13.3 प्रतिशत

अजमेर डिस्कॉम के प्रबन्ध निदेशक वी.एस.भाटी ने बताया कि पिछले दो सालों में बिजली की छीजत कम करने और राजस्व बढ़ाने की दिशा में विशेष प्रयास के तहत डिस्कॉम की बिजली छीजत अब घटकर 13.30 प्रतिशत रह गई है। नागौर की छीजत को 38.96 प्रतिशत से घटाकर अब 27.87 प्रतिशत पर लाया गया है। 75 हजार से ज्यादा बिजली चोरी के मामले दर्ज कर 179.43 करोड़ का जुर्माना लगाया गया है। डिस्कॉम ने 2 सालों में 66 हजार 787 कृषि कनेक्शन तथा 3 लाख 98 हजार 127 घरेलू कनेक्शन दिए है। डिस्कॉम मुख्यालय से प्रतिदिन 5 सरपंचों से बात कर सप्लाई का फ ीडबैक लिया जा रहा है,अब तक 15 हजार से ज्यादा फ ीडबैक लिए गए है।

केन्द्र सरकार नहीं दे रही जीएसटी पुनर्भरण

ऊर्जामंत्री ने कहा कि राज्य सरकार बिजली कम्पनियों को 1600-1700 करोड़ की सब्सीडी दे रही है। केन्द्र सरकार से जीएसटी के पुनर्भरण नही होनें नहीं होने और समय पर हिस्सा नहीं मिलने से बिजली कम्पनियों के भुगतान में देरी हो रही है। बिजली कम्पनियों की बकाया सब्सीडी दिलाने के लिए वित्त विभाग से बात की जा रही है।

read more:13 दिन में 5486 फ ीडर इन्चार्जों ने वसूला 107 करोड़ रूपए का राजस्व

GST
bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned