मनमर्जी से बांटी बिजली, अभियंताओं पर गिरी गाज

अजमेर डिस्कॉम को लगाई करोड़ों की चपत : चित्तौड़ के 44 अभियंताओं को चार्जशीट, सीकर व नागौर में भी कार्रवाई

Baljeet Singh

26 Mar 2020, 05:01 AM IST

अजमेर. अजमेर विद्युत वितरण निगम ने 11 केवी फीडरों पर मनमर्जी से ब्लॉक सप्लाई से अधिक बिजली सप्लाई देने के मामले में हुए करोड़ों रुपए के राजस्व के नुकसान पर अभियंताओं के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। इस मामले में चित्तौडगढ़़ के 44 सहायक व कनिष्ठ अभियंताओं को धारा 6 के तहत चार्जशीट जारी की है। वहीं सीकर जिले में पीपराली, फतेहपुर, नीम का थाना, पलसाना, कांवथ, थोई, पाटन, कूदन, नेछवा, लक्ष्मणगढ़, दांतारामगढ़ आदि उपखंड में तय समय से ज्यादा बिजली आपूर्ति के मामले में चार्जशीट देकर जवाब तलब किया गया है। नागौर के नावां, गोटन, मेड़ता, रियांबड़ी, सांजू,भेरुन्दा, डेगाना,मकराना, गच्छीपुरा, डेह, चितावा, लाडनूं,जायल,खींवसर,निम्बीजोधा,जायल व मूंडवा उपखंड में तय समय से ज्यादा बिजली आपूर्ति पर सम्बन्धित अभियंताओं को चार्जशीट दी गई है। अभियंताओं ने कृषि कनेक्शन पर तय समय से ज्यादा बिजली आपूर्ति कर निगम को राजस्व हानि पहुंचाई।प्रबन्ध निदेशक वी.एस.भाटी ने बताया कि अभियंताओं का यह कृत्य डिस्कॉम को राजस्व के नुकसान की श्रेणी में भी आता है।

ठेकेदारों पर लगा 3 करोड़ का जुर्माना
मनमर्जी से बिजली बांटने के मामले में नागौर व सीकर की दो ठेकेदार कम्पनियों पर 3 करोड़ 1 लाख 73 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है। नागौर में ठेकेदार फर्म सांधा एंड कम्पनी हरियाणा पर 2 करोड़ 84 लाख 30 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है। जबकि सीकर में ठेकेदार फर्म डिंग मैन पावर एंड सिक्योरिटी सर्विसेज प्राईवेट लिमिटेड सिरसा हरियाणा पर 17 लाख 73 हजार रुपए जुर्माना लगाया गया है।

baljeet singh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned