Problem: बढ़ी यूनिवर्सिटी की परेशानी, एग्जाम फॉर्म पर गहरा संकट

बीती मई में विवि की एकतरफा कार्रवाई को आधार बनाते हुए राजभवन गुहार लगाई थी। राजभवन ने विश्वविद्यालय को परीक्षा फार्म भरवाने पर रोकने के लिखित आदेश दिए।

By: raktim tiwari

Published: 09 Jun 2021, 08:27 AM IST

अजमेर.

महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय के सालाना परीक्षा फार्म प्रक्रिया में रोड़ा अटकाने वाले फर्म के मामले में राजस्थान हाईकोर्ट में सुनवाई अटक गई है। फर्म के प्रतिनिधि के नहीं पहुंचने से कोई फैसला नहीं हो पाया। लिहाजा अब 21 जून को सुनवाई होगी।

बीती मई में विवि की एकतरफा कार्रवाई को आधार बनाते हुए राजभवन गुहार लगाई थी। राजभवन ने विश्वविद्यालय को परीक्षा फार्म भरवाने पर रोकने (स्टे) के लिखित आदेश दिए। इसके बाद फर्म ने राजस्थान हाईकोर्ट जाकर स्टे हासिल कर लिया था। स्टे के खिलाफ विश्वविद्यालय ने याचिका लगाई थी। अधिकृत सूत्रों के अनुसार फर्म के प्रतिनिधि के नहीं पहुंचने से कोई फैसला नहीं हो पाया।

कब भरवाएंगे फार्म, कब परीक्षाएं
उधर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों ने परीक्षा नियंत्रक डॉ. सुब्रतो दत्ता को ज्ञापन सौंपा। महानगर सह मंत्री उदयसिंह शेखावत ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते पढ़ाई प्रभावित हुई है। विश्वविद्यालय की वार्षिक और सेमेस्टर परीक्षाओं का अता-पता नहीं है।

इससे विद्यार्थियों में असमंजस है। विश्वविद्यालय ने परीक्षा फार्म भी नहीं भरवाए हैं। कोई कार्यक्रम भी निर्धारित नहीं है। इस दौरान तेजकरण दिवराला, भवानीसिंह और अन्य मौजूद थे। छात्र जब्बार और अन्य ने भी फार्म और परीक्षाओं को लेकर ज्ञापन सौंपा। मालूम हो कि फर्म विवाद के चलतेयूनिवर्सिटी परीक्षा फार्म नहीं भरवा पाई है।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned