शहर में बढ़ रही जाम की समस्या,प्रशासन मौन

अबेडकर सर्किल से लगने वाला जाम अब पहुंचा मुख्य बाजार में , आम नागरिक का राह निकलना मुश्किल

शहर के विभिन्न रास्तों पर अब जाम लगना आम बात हो गई है। इसमें भी बीच यातायात में बड़े मालवाहक वाहन घुस कर जाम को और बढ़ा रहे हैंं। वैसे शहर में दिन में नो एंट्री है, लेकिन इसका असर कहीं भी देखने नहीं मिल रहा है। ऐसे में जाम के हालात शहर के अंबेडकर सर्किल से सैपऊ रोड तक तो बने ही हुए हैं। अब शहर के मुख्य बाजार में भी बाइक के दुकानों के आगे लगने और ठेल-ढकेलों के चलते जाम लग रहा है।

By: Dilip

Published: 21 Nov 2020, 12:04 AM IST

बाड़ी. शहर के विभिन्न रास्तों पर अब जाम लगना आम बात हो गई है। इसमें भी बीच यातायात में बड़े मालवाहक वाहन घुस कर जाम को और बढ़ा रहे हैंं। वैसे शहर में दिन में नो एंट्री है, लेकिन इसका असर कहीं भी देखने नहीं मिल रहा है। ऐसे में जाम के हालात शहर के अंबेडकर सर्किल से सैपऊ रोड तक तो बने ही हुए हैं। अब शहर के मुख्य बाजार में भी बाइक के दुकानों के आगे लगने और ठेल-ढकेलों के चलते जाम लग रहा है।

पूरे मामले में यातायात पुलिस केवल बसेड़ी मोड़ पर ही दिखाई दे रही है, जिसका असर भी दिखाई नहीं दे रहा, लोग जाम से परेशान नजर आ रहे हैं और स्थानीय प्रशासन को कोस रहे है। शुक्रवार को शहर के विभिन्न बाजारों में जाम के हालात देखे गए। बाइक चालकों के कारण बाजार में लोग इधर से उधर गुजरने में मशक्कत करते हुए देखे गए। कई दुकानों के आगे बाइक खड़ी होने से बाजार में निकलने तक का रास्ता नहीं मिला। वहीं ठेल ढकेलों के बाजार में निकलने और आड़ा-तिरछा लगने से भी परिस्थितियां और बिगड़ रही है।

शहर के अशर्फी मार्केट, शिवाजी मार्केट, लोहार बाजार, सदर बाजार, सराफा बाजार सहित घंटाघर जैसे क्षेत्र में भी जाम के हालात देखने को मिल रहे हैं। भारद्वाज मार्केट, बैंकों के आसपास, बसेड़ी रोड,अंबेडकर सर्किल पर भी बड़े वाहनों के इधर-उधर गलियों में घुसने से जाम लग रहा है।

गौरतलब है कि शहर की जो ट्रांसपोर्ट एजेंसीयां हैं, वह गली-मोहल्लों में स्थित हैं। बड़े माल वाहक वाहन कभी भी प्रवेश करते हैं। ऐसे में वाहन जब अंदर जाते हैं या बाहर निकलते हैं, तो जाम लग जाता है। इसको लेकर स्थानीय प्रशासन कोई कदम नहीं उठा रहा है।

बाइकों के बाजार में प्रवेश पर लगे रोक शहर के बाजार में बाइकों के प्रवेश को रोकने के लिए शहर के नागरिक मांग कर रहे हैं। कई सामाजिक संगठनों ने भी इस मुद्दे को उठाया है। स्थानीय प्रशासन तक बात पहुंची है, लेकिन प्रशासन ने कोई कदम नहीं उठाया जा रहा है। किला गेट पर और सीताराम बाजार के रामू तिराहे पर गाटर लगाकर जंजीर लगाने की भी बात उठी है जिनमें से कोई भी बाइक बाजार में प्रवेश नहीं करें। जिससे जाम से निजात मिल सकेगी। ठेल-ढकेलों को भी गलियों में ही सब्जियां या अन्य खाद्य पदार्थ बेचने के लिए पाबंद किया जाए, लेकिन इस समस्या के समाधान पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned