scriptPushkar Fair: Not only the jawans, police horses are also working. , , | पुष्कर मेला: जवान ही नहीं, पुलिस हॉर्स भी कर रहे काम. . .! | Patrika News

पुष्कर मेला: जवान ही नहीं, पुलिस हॉर्स भी कर रहे काम. . .!

आज होगा मेला मैदान में ट्रिक राइङ का प्रदर्शन

 

अजमेर

Updated: November 17, 2021 01:29:04 am

मनीष कुमार सिंह

अजमेर. पुष्कर पशु मेले में बाहर से आए हजारों अश्वों के बीच राजस्थान पुलिस की माउंटेड फोर्स के घोड़े भी विशेष आकर्षण का केन्द्र बने हुए हैं। विशेष रूप से प्रशिक्षित पुलिस हॉर्स ना केवल मेला क्षेत्र में भीड़ नियंत्रण में अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं, बल्कि अश्व पालकों के आकर्षण का भी केंद्र बने हुए हैं। खास बात यह भी कि हजारों की भीड़ में होने के बावजूद अपने कूल टेंपरामेंट से ये पर्यटकों को भी खासा लुभा रहे हैं।
पुष्कर मेला: जवान ही नहीं, पुलिस हॉर्स भी कर रहे काम. . .!
पुष्कर मेला: जवान ही नहीं, पुलिस हॉर्स भी कर रहे काम. . .!
जिला पुलिस ने पुष्कर पशु मेले में लम्बे अर्से बाद दड़ा क्षेत्र में मेला मैदान में अश्वरोही शाखा का कैम्प लगाया है। जहां थोरो ब्रीड की अनुराधा के साथ लैला, पेज, ओराम, बोल्ट, साहिल, गजराज व तुषार तैनात है। यह पहला अवसर है जब पुलिस हॉर्स ड्यूटी के साथ ही नुमाइश का हिस्सा बनाए गए हैं। ताकि अश्व पालकों को घोड़ों के बेहतर रखरखाव को प्रेरित किया जा सके।
जवान की तरह ही होती है घोड़ों की भर्ती
हैडकांस्टेबल रूप सिंह ने बताया कि पुलिस में भर्ती अश्वों का चयन भी पुलिस के जवान की तर्ज पर होता है। अश्व भी अपनी राजकीय सेवा पूर्ण करके सेवानिवृत्त होते हैं। मौजूदा दल में अनुराधा सबसे सीनियर अश्व है। उसके बाद साहिल, गजराज व तुषार हैं। जबकि मारवाड़ी नस्ल की लैला, पेज, ओराम व बोल्ट पांच साल पहले ही पुलिस बेड़े में शामिल हुए। खासतौर पर इन्हें भीड़ नियंत्रण के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। बदलते वक्त के साथ पुलिस के वाहन, हथियार की तकनीक बदल गई लेकिन अनुराधा अपने जूनियर के साथ पुलिस की माउंटेड ब्रांच की ताकत बने हुए हैं। जो घुड़सवार के इशारे पर हर बाधा पार करने के लिए तैयार रहते हैं।
कमाल की 'थोरोÓ नस्ल
पुलिस में थोरो ब्रीड का बड़ा महत्व है। घोड़ों की यह नस्ल पंजाब व हिमाचल प्रदेश में मिलती है। देखने में थोरो नस्ल के घोड़े साधारण नजर आते हैं लेकिन कद-काठी के साथ सुडोल फिजिक इनकी ताकत है। इसकी पहचान इनके कान हैं जो सीधे और सामने खुलते हैं।
रखा जाता है रिकॉर्ड

पुलिस में सिपाही की भर्ती की तर्ज पर अश्व को शामिल किया जाता है। उसके जन्म, नस्ल, पुलिस भर्ती का लेखा-जोखा रखा जाता है। जबकि उनके खान-पान का विशेष ख्याल रखा जाता है। श्रीगंगानगर और कोटा से सेवन घास मंगवाई जाती है। जबकि चने के साथ जौ और चापड़ आहार में शामिल है।
ट्रिक राइडिंग का आज प्रदर्शन

जिला पुलिस की ओर से पुष्कर पशु मेले में लम्बे समय बाद ट्रिक राइडिंग शो दिखाया जाएगा। हैडकांस्टेबल रूप सिंह ने बताया कि 2005-2006 के बाद से मेले में पुलिस हॉर्स की ट्रिक राइङ्क्षडग व घुड़दौड़ नही की जा रही है। जबकि ट्रिक राइडिंग प्रदर्शन मेले में पर्यटकों का आकर्षण का केन्द्र रहती है।
सहायक उप निरीक्षक सुशील शर्मा ने बताया कि बुधवार दोपहर 12 बजे पुलिस की अश्वरोही शाखा के प्रभारी रूपसिंह व उनके जवान अश्वों के साथ मेला मैदान में ट्रिक राइङ्क्षडग के साथ म्यूजिकल राइडिंग दिखाएंगे। इसमें आईजी अजमेर रेंज एस. सेंगाथिर व एसपी विकास शर्मा समेत आलाधिकारी मौजूद रहेंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.