scriptPushkar Mela 2021: Corona effects Foreign tourism in Pushkar fair | Pushkar Mela 2021: कोरोना ने पुष्कर मेले से किया विदेशी मेहमानों को दूर | Patrika News

Pushkar Mela 2021: कोरोना ने पुष्कर मेले से किया विदेशी मेहमानों को दूर

यूरोप में कोरोना की चौथी लहर का खतरा। अंतर्राष्ट्रीय फ्लाइट्स पर पाबंदी के चलते पुष्कर मेले में विदेशी सैलानियों का पहुंचना मुश्किल है।

अजमेर

Updated: November 10, 2021 09:39:14 am

रक्तिम तिवारी/अजमेर.

रेतीले धोरे और राजस्थान की अलबेली संस्कृति विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करती रही है। वे खासतौर पर तीर्थनगरी पुष्कर में सैर-सपाटे के अलावा आध्यात्मिक शांति और सनातन धर्म को जानने-समझने आते हैं। लेकिन यूरोप में कोरोना संक्रमण की चौथी लहर और अंतर्राष्ट्रीय फ्लाइट्स पर पाबंदी के चलते पुष्कर मेले में विदेशी सैलानियों का पहुंचना मुश्किल है।
foreign tourist in pushkar
foreign tourist in pushkar
कार्तिक मास की पवित्र प्रबोधिनी एकादशी यानि 14 नवम्बर को पंच तीर्थ स्थान के साथ ही धार्मिक पुष्कर मेला शुरू हो जाएगा। इस बार यह मेला 6 दिनों का होगा। मेले का समापन 19 नवंबर पूर्णिमा तिथि के आखिरी पंचतीर्थ स्नान के साथ होगा।
विदेशी सैलानियों को पसंद पुष्कर
राजस्थान में सैर-सपाटे के आने वाले 90 प्रतिशत विदेशी पर्यटक तीर्थनगरी पुष्कर जाते हैं। उन्हें पुष्कर के रेतीले धोरों में घूमने, राजस्थान दाल-बाटी-चूरमा, कैर-सांगरी-कढ़ी, गट्टे की सब्जी और अन्य खान-पान, सरोवर पर पूजा-पाठ, मंदिरों के दर्शन और सनातन संस्कृति को समझने का अवसर मिलता है। कई विदेशी पर्यटक तो शोध के लिए लम्बे अर्से तक पुष्कर में रुकते हैं।
READ MORE: Pushkar Mela 2021: बेहद खूबसूरत और फुर्तीले हैं यह मारवाड़ी नस्ल के अश्व

दो साल से यही हाल
कोरोना संक्रमण दुनिया में कहर मचा रहा है। भारत में पिछले साल मार्च से मई और इस साल अप्रेल से जून तक कई राज्यों में लॉकडाउन रहा। साल 2020 के जनवरी-फरवरी तक पुष्कर में विदेशी पर्यटकों की आवाजाही 75 से 90 प्रतिशत तक थी। इसके बाद से डेढ़ साल में 15 फीसदी विदेशी पर्यटक भी नहीं आए। पुष्कर में स्थाई रूप से रहने वाले विदेशी पर्यटकों को छोड़कर अधिकांश वापस चले गए।
कम चल रहीं फ्लाइट्स
कोरोना संक्रमण को देखते हुए अंतर्राष्ट्रीय फ्लाइट्स की आवाजाही कम है। केंद्र सरकार ने 1 जनवरी 2022 से फ्लाइट्स की संख्या बढ़ाने का ऐलान किया है। इसके चलते भारत में विदेशी पर्यटकों का आवागमन कम है। पुष्कर मेले में भी परदेसी मेहमानों की उपस्थिति नहीं के बराबर है।
2020 में आए पर्यटक (पुष्कर)
देशी पर्यटक-6.25 लाख (1 जनवरी से 31 दिसंबर)
विदेशी पर्यटक-1.35 लाख (जनवरी से मार्च तक)
2021 में आए देशी पर्यटक-9.15 (1 जनवरी से 31 अक्टूबर)
विदेशी पर्यटक-3.5 प्रतिशत (1 जनवरी से 31 अक्टूबर)
READ MORE: Pushkar Mela 2021: खरीद-फरोख्त के लिए पंचमी को खास मानते हैं पशुपालक

सावधानी से हो आवाजाही
पर्यटन विशेषज्ञ डॉ. ए.के. रैना ने बताया कि कई यूरोपीय देशों में कोरोना का खतरा बना हुआ लेकिन अगले साल से वैक्सीनेशन, टेस्टिंग और सुरक्षा उपायों से विदेशी पर्यटकों की आवाजाही बढऩे के आसार हैं। राजस्थान सहित अजमेर-पुष्कर में हैल्थ प्रोटोकॉल और सुरक्षा उपाय अपनाने पर पर्यटन गतिविधियां बढ़ेंगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.