रेलवे कर्मचारियों को नहीं काटने पड़ेंगे पास और पीटीओ के लिए चक्कर

रेलवे कर्मचारियों को ई-पास व ई-पीटीओ की हुई शुरुआत

अजमेर मंडल ने जारी किया पहला ई-पास

By: himanshu dhawal

Published: 26 Aug 2020, 02:00 AM IST

अजमेर. अजमेर मंडल में पहला ई-पास जारी कर मंडल रेलवे कर्मचारियों को ई-पास व ई-पीटीओ की शुरुआत हुई। ह्मूमन रिसोर्स मैनेजमेंट सिस्टम के अन्तर्गत कर्मचारी को ई-पास व ई-पीटीओ जारी होंगे। इससे ऑनलाइन आरक्षण भी कर सकेंगे। फि लहाल मंडल के लगभग 9500 सेवारत रेलवे कर्मचारियों को रेल पास का उपयोग करने में मदद मिलेगी।


मंडल रेल प्रबंधक नवीन कुमार परसुरामका ने बताया की इस सिस्टम से पारदर्शिता बढ़ेगी व पेपर लेस वर्किंग को बढ़ावा मिलेगा। पहले कर्मचारियों को रेल पास की सुविधा के लिए कागजी प्रक्रिया के साथ-साथ रेल पास सुविधा का दुरुपयोग होने का अंदेशा बना रहता था, लेकिन अब पूरा डाटा ऑनलाइन अपडेट रहेगा। ई-पास सिस्टम से जुड़ी तमाम जानकारी कुछ सैकेंड में अधिकारियों व कर्मचारियों को मिल जाएगी। अब रेलवे कर्मचारी को न तो पास के लिए आवेदन करने के लिए पास कार्यालय आना पड़ेगा और न ही पास जारी होने का इंतजार करना पड़ेगा। कर्मचारी कहीं से भी ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे और ई-पास ऑनलाइन प्राप्त कर सकेंगे। ई-पास के लिए आवेदन और इसे प्राप्त करने की पूरी प्रक्रिया मोबाइल पर उपलब्‍ध रहेगी। सेंटर फ ॉर रेलवे इंफ ॉर्मेशन सिस्टम संगठन ने ई-पास मॉड्यूल तैयार किया है। उल्लेखनीय है की हाल ही में रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने रेलवे कर्मचारियों के लिये ऑनलाइन पास जेनरेशन और टिकट बुकिंग के लिए ई-पास मॉड्यूल लॉन्च किया था। रेलवे अपने पांच साल की नौकरी पूरी करने वाले कर्मचारियों को ट्रेन में मुफ्त यात्रा करने के लिए सालाना तीन पास व चार पीटीओ उपलब्ध कराता है।

himanshu dhawal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned