scriptRelief: Cases of land reservation being settled in villages | राहत: गांवों में ही निपटाए जा रहे भूमि आरक्षण के मामले | Patrika News

राहत: गांवों में ही निपटाए जा रहे भूमि आरक्षण के मामले

जिला कलक्टर ने भेजी कलक्ट्रेट से टीमें

अगले माह लगेंगे फॉलोअप कैंप

अजमेर

Published: March 27, 2022 07:26:30 pm

अजमेर. जिले में अगले माह प्रशासन गावों के संग अभियान के तहत उपखंड मुख्यालय पर आयोजित किए जाने वाले फॉलोअप कैंप से पूर्व ही गावों में रास्ते तथा सरकारी कार्यालयों के लिए भूमि आवंटन मामले निपटाए जा रहे हैं। जिला कलक्टर ने इसके लिए कलक्ट्रेट से टीमें गावों में भेजी हैं। अब तक पीसांगन, भिनाय तथा मसूदा उपखंड क्षेत्र में आयोजित शिविरों में खेल मैदान, कचरा संग्रहण तथा राजकीय प्रयोजनार्थ भूमि के 39 प्रकरणों में भूमि आरक्षित की गई है। इसी तरह श्मशान-कब्रिस्तान, आबादी व राजकीय प्रयोजनार्थ भूमि के 21 प्रस्ताव मंजूर किए गए। अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन), एवं प्रभारी कैलाश चन्द्र शर्मा के अनुसार अन्य प्रस्तावों में कमी पूर्ति करवाई जा रही है। जनहित में प्रकरण को मौके पर ही निस्तारित किए जाने से ग्रामीणों को राहत मिल रही है।
ajmer
ajmer
पीसांगन

कचरा संग्रहण के लिए 5, स्कूल भवन, खेल मैदान के लिए 3, श्मशान कब्रिस्तान के 2, ग्राम सहकारी समिति के 1 तथा दुग्ध उत्पादक समिति के लिए 2 जगहों पर भूमि आरक्षित की गई।
भिनाय

कचरा संग्रहण के लिए 10, श्मशान-कब्रिस्तान के 3, राजकीय कार्यालय के लिए 3 तथा मेला मैदान के लिए 1 जगह भूमि आरिक्षत की गई है।

मसूदा

कचरा संग्रहण के लिए 16, श्मशान-कब्रिस्तान के 5, तथा मेला मैदान के लिए 1 जगह भूमि आरिक्षत की गई है।
एक अप्रैल से अजमेर जिले में होगा क्रियान्वयन
अजमेर. मिशन परिवार विकास कार्यक्रम पूरे प्रदेश में लागू करने की कड़ी में कार्यशाला आयोजित की गई। मिशन परिवार विकास कार्यक्रम का क्रियान्वयन अजमेर जिले में अप्रैल से शुरू होगा। सीएमएचओ डॉ के.के. सोनी ने बताया कि मिशन परिवार विकास कार्यक्रम के लागू होने के कारण परिवार कल्याण में नए आयाम स्थापित होंगे। अंतराल साधनों को बढ़ावा देते हुए 30 प्रतिशत को 60 प्रतिशत तक ले जाया जाएगा। मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को नियंत्रित करने के लिए नवाचार लागू किए जाएंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में सास-बहू एवं पति सम्मेलन के द्वारा परिवार कल्याण के बारे में प्रचार किया जाएगा।
नसबंदी राशि बढ़ाई, प्रेरक को भी मिलेगी राशि

मिशन परिवार विकास के कारण ही अंतराल साधन में इंजेक्टबल अंतराल में प्रेरक राशि 100 रूपए एवं लाभार्थी को भी 100 रूपए प्रदान किए जाएंगे। अब से परिवार कल्याण में नसबंदी साधन अपनाने वालों को भी मानदेय राशि बढ़ाकर 1400 से 2000 एवं पुरुष नसबंदी में 2000 से बढ़ाकर 3000 की गई है। प्रेरक को भी महिला नसबंदी पर 300 एवं पुरूष नसबंदी पर 400 रूपए की राशि प्रदान की जाएगी।
रैंकिंग के निर्देश

जिले के परिवार कल्याण कार्यक्रमों का रिव्यू कार्यशाला में एसीएमएचओ डॉ. एस.एस. जोधा ने किया। सीएमएचओ सोनी ने सभी कार्यक्रमों समय पर रैंकिंग के लिए विशेष जोर देने के निर्देश दिए। उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी (स्वास्थ्य) डॉ. रामस्वरूप किराड़िया ने मच्छर जनित रोगों के बारे में आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों में सावधानी बरतने एवं प्रचार प्रसार बाबत चर्चा की।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र का सियासी संकट जल्द खत्म होने के आसार कम! सदस्यता को लेकर बागी विधायक कर सकते है कोर्ट का रुखMaharashtra Political Crisis: संजय राउत ने बागी विधायकों पर फिर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बड़ी बातMaharashtra Political Crisis: वडोदरा में आधी रात को देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात, सुबह पहुंचे गुवाहाटीBy-Elections 2022: तीन लोकसभा और सात विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के नतीजे आजमेरे पास ममता बनर्जी को मनाने की ताकत नहीं: अमित शाहMumbai News Live Updates: महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी अस्पताल से हुए डिस्चार्ज, कोविड के कारण थे एडमिटपंजाब: भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार IAS के बेटे ने खुद को गोली मारी, अधिकारी की पत्नी ने विजिलेंस टीम पर लगाया हत्या का आरोपMann Ki Baat : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज 'मन की बात' कार्यक्रम को करेंगे संबोधित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.