दुकानें खुलने से राहत, ट्रांसपोर्ट बंद

छोटे दुकानदार वसूल रहे मनमाफिक दाम, नहीं चस्पा की रेटलिस्ट

अजमेर. कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन के चौथे दिन गुरुवार से बाजार में किराना दुकानें खुलने से लोगों को राहत मिलने लगी है। डेयरी पर बेकरी आइटम की सप्लाई शुरू हो गई है। दुकानदारों ने ग्राहकों के खड़े रहने के लिए गोले भी बना दिए हैं। इससे एक स्थान पर भीड़ एकत्र ना हो सके। हालांकि ट्रांसपोर्ट बंद होने के कारण बाहर से आने वाला सामान नहीं पहुंच रहा है।
शहर में 22 मार्च को जनता कफ्र्यू के बाद से होलसेल की सप्लाई नहीं होने के कारण अधिकांश दुकानें बंद थी। शहर के अंदरूनी क्षेत्रों में जहां पर सामान था वह दुकानदार कालाबाजारी कर रहे थे। इसके कारण जिला कलक्टर ने दुकानों के बाहर रेट लिस्ट चस्पा करने के निर्देश दिए। लेकिन दुकानदारों ने दुकानों के बाहर रेटलिस्ट भी चस्पा नहीं की है।

डेयरी पर पहुंचने लगी ब्रेड और टोस्ट
राजस्थान पत्रिका में 26 मार्च के अंक में ‘लॉकडाउन में मुनाफा खोरी से बाजार गर्म’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया गया। इसमें बताया कि डेयरी पर दूध के अलावा बेकरी आइटम की सप्लाई नहीं हो रही है। इसके कारण अधिकांश डेयरी बूथ खाली हो गए। गुरुवार को दोपहर के बाद से डेयरी बूथों पर ब्रेड, टोस्ट और अन्य बेकरी आइटम की सप्लाई शुरू हो गई है।

खुलवाई होलसेल की दुकानें
शहर में होलसेल की दुकानें खुलवाई जा रही है। दुकानों पर होलसेल का हर एरिया में सामान पहुंचाया जा रहा है। इससे आमजन को किसी तरह की परेशानी ना हो। आवश्यकता से अधिक सामान का स्टॉक नहीं करेंगे तो कोई परेशानी नहीं होगी।

- माणकचंद सिसोदिया, अध्यक्ष होलसेल मर्चेन्ट एसोसिएशन


ट्रांसपोर्ट बंद होने से बढ़ेगी परेशानी

सरकार ने ट्रांसपोर्ट पूरी तरह से बंद कर दिया है। इससे परेशानी बढ़ सकती है। सरकार को चाहिए कि सप्ताह में एक दिन इसे खोला जाए। इससे रोजमर्रा की बाहर से आने वाले सामान की सप्लाई सुचारू रूप से जारी रहे। इसके लिए एक-दो गाड़ी नि:शुल्क भी उपलब्ध करा सकते है।
- पुष्कर नारायण महावर, अध्यक्ष ट्रांसपोर्ट संघ अजमेर

himanshu dhawal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned