scriptRevealed.....Elevated road construction fraud: 28 days strength came i | खुलासा.....एलिवेटेड रोड निर्माण फर्जीवाड़ा: पिलर निर्माण में 7 दिन में ही आ गई 28 दिन की मजबूती | Patrika News

खुलासा.....एलिवेटेड रोड निर्माण फर्जीवाड़ा: पिलर निर्माण में 7 दिन में ही आ गई 28 दिन की मजबूती

पास हुए कागजी सैंपल सवालों के घेरे में

पिलर नम्बर 10 की रिपोर्ट संदेह के घेरे में

गुणवत्ता से हो रहा समझौता

अजमेर

Updated: April 29, 2022 10:33:00 pm

भूपेन्द्र सिंह

अजमेर. स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत 252 करोड़ की लागत से निर्माणाधीन एलिवेटेड रोड की गुणवत्ता सवालों के घेरे में है। प्रोजेक्ट की टेस्ट रिपोर्ट भी संदेह के दायरे में है। मामले में खास यह है कि यह सवाल और संदेह खुद स्मार्ट सिटी की प्रोजेक्ट मेनजमेंट कम्पनी पीएमसी ने ही उठा है। पीएमसी ने अपनी रिपोर्ट में इसका उल्लेख किया है। इन सभी तथ्यों के सत्यापन के लिए उन्होंने अपनी रिपोर्ट, आरएसआरडीसी की टेस्टिंग रिपोर्ट की कॉपी भी भेजी। हालांकि रिपोर्ट पर अमल कर सुधार करने के बजाय रिपोर्ट तैयार करने वाले पीएमसी के टीम लीडर को ही हटा दिया गया। पीएमसी की विजिट अन्य चल रहे प्रोजेक्टों से बंद करवा दी गई।
Smart City Project :
Smart City Project
इस तरह पकड़ में आया फर्जीवाड़ा

करीब तीन साल पूर्व जब एलिवेटेड रोड के पाइलों की फाउंडेशन का कार्य चल रहा था तो प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसलटेंसी के तत्तकालीन टीम लीडर निर्मल धीर और इंजीनियर प्रेम बिहारी द्वारा एलिवेटेड रोड का निरीक्षण कर रिपोर्ट तैयार की। रिपोर्ट के अनुसार एलिवेटेड रोड के पिलर नम्बर 10 की एम 35 स्ट्रैंथ की सीमेंट कंकरीट मिक्स डिजाइन द्वारा डाली जानी थी। जिस पर इनके द्वारा साइट पर जो टेस्ट कराए गए उनमें 7 दिन की कंप्रेसिव स्ट्रैंथ 46.6 किलो न्यूटन की टेस्ट रिपोर्ट बना रखी थी। पीएमसी के टीम लीडर ने रिपोर्ट में कहा कि यह संभव ही नहीं है 28 दिन के लिए 35 डिजाइन की गई थी उससे भी 11 किलोन्यूटन कंप्रेसिव स्ट्रैंथ ज्यादा आ रही है। टीम लीडर का कहना था कि 7 दिन के अंदर ऐसा संभव ही नहीं है। 28 दिन की स्ट्रैंथ कंकरीट में 7 दिन में कैसे आ सकती है और वह भी इतनी ज्यादा। इसके लिए तो मसाला ही तैयार नहीं कराया गया था।
धड़ले से पास हो रही निजी लैब की रिपोर्ट

एक करोड़ से अधिक के प्रोजेक्ट पर नियमानुसार साइट पर ही ठेकेदार को मेटेरियल टेस्टिंग लैब लगाया जाना अनिवार्य है। लेकिन स्मार्ट सिटी के किसी भी प्रोजेक्ट की साइट पर यह लैब नहीं है। ठेकेदार धड़ल्ले से प्राइवेट कंपनियों की लैब जांच रिपोर्ट प्रस्तुत कर रहे हैं। कागजी सैंपल भी हो रहे हैं फेल हो रहे हैं।
केन्द्र की एडवाइजरी रख दी ताक पर

स्मार्ट सिटी की लेखा शाखा स्मार्ट सिटी के फंड को लेकर जारी की गई भारत सरकार की एडवाइजरी को ताक पर रखकर बैठी है।जहां एडवाइजर के अंतर्गत स्मार्ट सिटी को निरीक्षण करके बिल के अनुसार ही भुगतान किया जाना था। लेखाशाखा ने एडवाइजरी कोई दरकिनार कर धड़ल्ले से भुगतान जारी रखा। पूर्व में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्टों की जांच ट्रेजरी के जरिए होती थी लेकिन अब इसे बाईपास कर बिल पास करवाए जा रहे हैं। यही नहीं एलीवेटेड रोड के लिए तो बिना काम हुए ही निर्माण कम्पनी को 100 करोड़ यानि कि 93 प्रतिशत तक भुगतान बिना काम के एडवासं ही कर दिया गया। केन्द्र सरकार को निर्माण कार्य की यूसी-सीसी भेजने में अब अधिकारियों को पसीने छूट रहे हैं।
पीएमसी पर कोई जुर्माना नहीं

पीएमसी को स्मार्ट सिटी की प्रोजेक्टों की निगरानी के 12.50 करोड़ रूपए का ठेका दिया गया है जिसमें एलिवेटेड रोड मॉनीटरिंग भी शामिल है लेकिन निगरानी का कार्य बंद है। पीएमसी पर मॉनीटरिंग नहीं करने पर अब तक कोई जुर्माना भी नहीं लगाया गया है। इसका नतीजा हादसे के रूप में सामने आ रहा है।
निरीक्षण के लिए 39 लाख लेकिन खर्च नहीं

एलीवेटेड रोड निर्माण में चौंकाने वाला तथ्य यह है कि एलिटवेटेड रोड के थर्ड पाटी निरीक्षण के लिए 39 लाख् रूपए स्वीकृत है। एमएनआईटी से इसका थर्ड पाटी निरीक्षण करवाया जाना था लेकिन निरीक्षण नहीं करवाया गया। रिपाेर्ट भी नदारद है।
इनका कहना है

मैडम के कहने पर पहले निरीक्षण किया गया था। बाद में इस पर रोक लगा दी गई। एलिवेटेड रोड की थर्ड पार्टी जांच एमएनआईटी से करवानी थी। इसके लिए राशि भी स्वीकृत है लेकिन मुझे अभी तक जांच रिपोर्ट नहीं मिली है।
अरविंद अजमेरा, टीम लीडर, पीएमसी, स्मार्ट सिटी अजमेर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का पहला बयान, केंद्रीय मंत्री भी बोलेज्ञानवापी मामले को लेकर अखिलेश यादव ने हिंदू देवी-देवताओं पर की विवादित टिप्पणीIPL 2022 LSG vs KKR : डिकॉक-राहुल के तूफान में उड़ा केकेआर, कोलकाता को रोमांचक मुकाबले में 2 रनों से हरायानोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेरपुलिस में मामला दर्ज, नाराज कांग्रेस विधायक का इस्तीफा, जानें क्या है पूरा मामलाडिकॉक-राहुल ने IPL में रचा इतिहास, तोड़ डाला वार्नर और बेयरेस्टो का 4 साल पुराना रिकॉर्डकर्क सहित इन राशि वालों के लिए धन-कारोबार की दृष्टि से अनुकूल है आज का दिन, पेशेवर यात्राएं होंगी सफलबीपीसीएल का निजीकरण रुका, सरकार नए सिरे से फिर शुरू करेगी प्रक्रिया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.