Revenue Board: दलाल के पांच बैंक में खाते, मिली नोट गिनने की मशीन

राजस्व मंडल के सदस्य सुनील शर्मा और बी.एल.मेहरडा सहित दलाल शशिकांत जोशी के खिलाफ राजस्व मामलों से जुड़े फैसलों और राजस्व बैंच बनाने को लेकर फिक्सिंग की शिकायत मिली थी।

By: raktim tiwari

Published: 12 Apr 2021, 08:34 AM IST

अजमेर.

जमीन संबंधित विवादों में फैसले के बदले घूस लेने वाले राजस्व मंडल के दो सदस्यों सहित दलाल (वकील) के खिलाफ एसीबी जांच जारी रही। एसीबी को दलाल (वकील) के घर से पुरानी करेंसी नोट सहित नोट गिनने की मशीन मिली। मंडल में अध्यक्ष और सदस्यों के चैम्बर सीज किए गए हैं। सोमवार को एसीबी सदस्यों और दलाल के बैंक खाते, लॉकर और प्रॉपर्टी के दस्तावेज खंगालेगी। साथ ही सीज किए चैंबर पर सरकार और डीजी निर्देश पर कार्रवाई करेगी।

राजस्व मंडल के सदस्य सुनील शर्मा और बी.एल.मेहरडा सहित दलाल शशिकांत जोशी के खिलाफ राजस्व मामलों से जुड़े फैसलों और राजस्व बैंच बनाने को लेकर फिक्सिंग की शिकायत मिली थी। शनिवार को जयपुर और अजमेर में एसीबी ने बड़ी कार्रवाई अंजाम दी। टीम में उप अधीक्षक पारसमल, पुलिस निरीक्षक प्रभुलाल, कंचन भाटी, कन्हैयालाल, श्याम प्रकाश, भरतसिंह और मनीष शामिल थे।

दलाल के पांच बैंकों में खाते

उप अधीक्षक पारसमल ने बताया कि एसीबी को जांच में दलाल (वकील) शशिकांत जोशी के पांच बैंक में खाते होने की जानकारी मिली है। इनमें सार्वजनिक और निजी बैंक शामिल है। इसके अलावा एक्सिस बैंक में लॉकर है। एसीबी सोमवार को दलाल के चारों बैंक खातों में जमा राशि और लॉकर की तलाशी लेगी। इसके अलावा एसीबी ने जोशी के ई-249 शास्त्री स्थित आवास स्थित चैम्बर को सील कर दिया है। उसके घर से सम्पति के दस्तावेजों को भी जब्त किया गया।

मिले पुरानी करेंसी नोट

दलाल जोशी के घर 10 हजार 500 रुपए पुराने करेंसी नोट मिले। पुरानी करेंसी नोट पर 8 नवंबर 2016 को केंद्र सरकार प्रतिबंध लगा चुकी है। एसीबी ने यह नोट क्रिश्चयनगंज थाना पुलिस को सुपुर्द कर तहरीर दी है। इमें 2-2 हजार के दो नोट तथा 500-550 रुपए के 17 नोट शामिल हैं। नियमानुसार कोई भी व्यक्ति 10 नोट से भी अधिक करेंसी अपने कब्जे में नहीं रख सकता है। एसीबी को दलाल के घर एक नोट गिनने की मशीन भी मिली।

लेपटॉप उगलेगा राज

टीम को जोशी के घर दो लेपटॉप भी मिले। इन्हें भी एसीबी ने अपने कब्जे में लिया है। लेपटॉप से लेन-देन का हिसाब, मंडल के लिखित फैसले और अन्य डाटा मिलने की उम्मीद है। मालूम हो कि दलाल जोशी राजस्व मंडल में अहम फैसलों कराने में प्रमुख भागीदार था। वह सदस्यों द्वारा सुनाए जाने वाले फैसलों को पहले ही टाइप कर लेता था।

मेहरड़ा का अजमेर स्थित मकान सील

एसीबी की टीम ने शनिवार रात सदस्य बी.एल. मेहरड़ा के जयपुर स्थित घर की तलाशी ली। इस दौरान उसके घर में 40 लाख रुपए मिले थे। टीम ने कैश जब्त कर लिया। इसके अलावा उनके घर में अलमारियां और अन्य सामग्री भी खंगाली गई। एसीबी की जयपुर टीम ने मेहरडा का अजमेर स्थित मकान सील कर दिया है। परिजनों की उपस्थिति में ही इसे खोलकर तलाशी ली जाएगी। मकान पर पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं।

शर्मा का मकान भी सीज

एसीबी की टीम ने रविवार तड़के तक मंडल सदस्य सुनील शर्मा के पंचशील महावीर पब्लिक स्कूल स्थित निवास की तलाशी ली गई। अलमारियां, पलंग और अन्य सामान की गहनता से जांच की गई। टीम ने शर्मा का मकान भी सीज कर दिया है।

सरकार-डीजी के आदेशानुसार कार्रवाई

एसीबी ने मंडल अध्यक्ष डॉ. आर. वैंकटेश्वरन, सदस्य सुनील शर्मा, बी.एल.मेहरडा, विनीता श्रीवास्तव, मनोज नाग के चैंबर सीज किए हैं। इनके साथ निजी सचिवों के चैंबर भी सीज किए गए हैं। मंडल परिसर में पुलिसकर्मी तैनात रहे। एसीबी सरकार और डीजी बी.एल. सोनी के निर्देशानुसार सोमवार को सीज किए चैंबर को लेकर फैसला लेगी। चैंबर खुलेंगे या सीज रहेंगे इसको लेकर मार्गदर्शन लिया जाएगा।

राजस्व मामलों की सबसे बड़ी अदालत

राज्य के राजस्व मामलों की सबसे बड़ी अदालत राजस्व मंडल है। इसमें राज्य भर के भूमि-राजस्व मामलों की सुनवाई और फैसले होते हैं। राजस्व मंडल मेंअध्यक्ष सहित आईएएस और आरएएस सदस्य तैनात किए जाते हैं। मंडल अध्यक्ष पद राज्य के मुख्य सचिव और राजस्थान लोक सेवा आयोग के समकक्ष माना जाता है।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned