RBSE- बोर्ड परीक्षा में प्रवेश-पत्र के साथ मास्क भी अनिवार्य

माशिबो की बकाया परीक्षाएं कल से : थर्मल स्कैनिंग के बाद ही मिलेगा प्रवेश

By: baljeet singh

Published: 17 Jun 2020, 05:01 AM IST

अजमेर. राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की शेष बची हुई परीक्षाएं 18 जून से प्रारंभ होंगी। कोराना वायरस संक्रमण को देखते हुए परीक्षार्थियों को प्रवेश-पत्र के साथ चेहरे फेस मास्क लगाना भी अनिवार्य किया गया है। मास्क के बिना आने पर परीक्षा केन्द्रों में प्रवेश नहीं मिलेगा। कुछ विशेष कारणों से परीक्षा में उपस्थित नहीं हो सकने वाले विद्यार्थी पूरक परीक्षा के साथ भी परीक्षा दे सकते हैं। परीक्षार्थियों को परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षा समय से एक घंटा पूर्व पहुंचना होगा। थर्मल स्कैनिंग के बाद ही उन्हें परीक्षा केन्द्र में प्रवेश मिलेगा।

बोर्ड अध्यक्ष डॉ. डी.पी. जारोली ने बताया कि गुरुवार से प्रारम्भ होने वाली परीक्षाओं के लिए 5 हजार 685 मुख्य केंद्रों सहित 521 नए परीक्षा उप केन्द्र बनाए गए हैं। नवीन उप केन्द्रों पर परीक्षा देने वाले परीक्षार्थियों के परीक्षा प्रवेश पत्र पूर्व में ही बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड किए जा चुके हैं। इन प्रवेश पत्रों में नवीन परीक्षा कार्यक्रम भी अंकित किया गया है। पूर्व में जारी प्रवेश पत्र यदि खो गया है तो वे परीक्षार्थी विद्यालय के माध्यम से बोर्ड की वेबसाइट से प्रवेश पत्र डाउनलोड कर प्राप्त कर सकते हैं।


इन परीक्षार्थियों को छूट

जो परीक्षार्थी राज्य से बाहर होने तथा परिवहन साधन उपलब्ध नहीं होने के कारण परीक्षा देने आने में असमर्थ, परीक्षार्थी कोरोना पॉजिटिव होने या अन्य कारणों से क्वॉरंटीन होने अथवा अन्य किसी आकस्मिक दुर्घटना घटित होने के कारण परीक्षा देने में असमर्थ हों ऐसे सभी परीक्षार्थियों की परीक्षा पूरक परीक्षा के साथ ली जाएगी। हालांकि ऐसे परीक्षार्थियों को परीक्षा में उपस्थित नहीं होने के कारण सहित सूचना परीक्षा प्रारम्भ होने से पूर्व आवश्यक प्रमाण पत्र के साथ केन्द्राधीक्षक या विद्यालय के माध्यम से देनी आवश्यक है। ऐसे सभी परीक्षार्थी मुख्य परीक्षा के रोल नम्बर से ही पूरक परीक्षा में सम्मिलित हो सकेंगे।


विशेष योग्यजन को राहत

डॉ. जारोली ने बताया कि नेत्रहीन परीक्षार्थी और विशेष योग्यजन परीक्षार्थी जो लिखने में असमर्थ हैं तथा जिन्हें मेडिकल प्रमाण पत्र में 75 प्रतिशत विकलांगता के आधार पर श्रुतलेखक उपलब्ध करवाया गया था। उन परीक्षार्थियों को शेष रहीं परीक्षाएं देने से मुक्ति प्रदान की गई है। ऐसे परीक्षार्थियों की पूर्व में ली गई परीक्षाओं के औसत प्राप्तांकों के आधार पर परिणाम जारी किया जाएगा।


परिणाम का 90 प्रतिशत काम पूरा

बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश लेने वाले परीक्षार्थियों को दृष्टिगत रखते हुए बोर्ड ने परीक्षा परिणाम शीघ्र घोषित करने की दृष्टि से सैद्धांतिक परीक्षाओं के प्राप्तांक सीधे परीक्षकों से ऑनलाइन मंगवाए हैं। इसके प्रथम चरण में लॉकडाउन से पूर्व ही परीक्षाओं के अंक ऑनलाइन भरवाए जाने का 90 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। द्वितीय चरण में शेष रहीं परीक्षाओं की उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन के बाद ऑनलाइन अंक प्राप्त किए जाएंगे।


सेनिटाइजर के लिए 32 लाख रुपए

परीक्षा के दौरान सेनिटाइजर खरीदने के लिए प्रत्येक परीक्षा केन्द्र को 500 रुपए बजट स्वीकृत किया है। सभी परीक्षा केंद्रों को मिलाकर यह राशि लगभग 32 लाख रुपए है।

उडऩदस्ते रखेंगे नजर

डॉ. जारोली ने बताया कि नकल एवं अनुचित साधनों की रोकथाम के लिए बोर्ड स्तर पर 60 विशेष उडऩदस्ते भी तैनात किए गए हैं। इसके अतिरिक्त जिला स्तर पर जिला शिक्षा अधिकारियों द्वारा 125 उडऩदस्ते और 9 उडऩदस्ते संयुक्त शिक्षा निदेशकों की देखरेख में गठित किए गए हैं। बोर्ड अध्यक्ष जारोली ने परीक्षा तैयारियों के संबंध में बोर्ड अधिकारियों की बैठक ली। इसमें बोर्ड सचिव अरविन्द कुमार सेंगवा, वित्तीय सलाहकार आनन्द आशुतोष, निदेशक जी.के. माथुर, उपनिदेशक कमल गर्ग और राजेन्द्र गुप्ता सहित अन्य मौजूद थे।

baljeet singh
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned