RPSC: ठीक हुई हिंदी कोर्स की गलतियां, ये मिलेगा फायदा

असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती, हिंदी के पाठ्यक्रम में थी कई गलतियां।

By: raktim tiwari

Published: 27 Jan 2021, 09:09 AM IST

अजमेर.

राजस्थान लोक सेवा आयोग ने सहायक आचार्य भर्ती-2020 के तहत हिंदी विषय के पाठ्यक्रम से जुड़ी त्रुटियों को दुरुस्त कर दिया है। अभ्यर्थियों की आपत्ति और पत्रिका में प्रकाशित खबर के बाद आयोग ने आवश्यक संशोधन किए हैं।

आयोग ने सहायक आचार्य (कॉलेज शिक्षा) भर्ती-2020 के तहत 31 विषयों के पाठ्यक्रम वेबसाइट पर अपलोड किए हैं। इनमें हिंदी विषय का पाठ्यक्रम भी शामिल है। अभ्यर्थियों सहित पत्रिका ने हिंदी के पाठ्यक्रम में कई विसंगतियां बताई थीं।

इन विसंगतियों को किया ठीक
राजस्थानी लेखक विजयदान देथा की कहानी ' उजाले के मुसाहिब Ó पूर्व में यहां उजाले के उल्लू कहानी बताया गया था। पृथ्वीराज रासो (पद्मावती समय)-चंदबरदाई(पूर्व में संपादक का उल्लेख नहीं था)मीरा मुक्तावली के संपादक नरोत्तमदास स्वामी (पूर्व में मीरा पदावली बताया गया था) अशुद्ध नरोत्त्म नाम को ठीक कर नरोत्तम किया गया है।अव्यय संबंध और समुच्चय बोधक का जिक्र किया गया है।

सरकारी दफ्तरों में फहराया ध्वज

भारत विकास परिषद आदर्श शाखा अजमेर के तत्वावधान में 72 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर कार्यक्रम हुआ। इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम हुए। राजस्थान लोक सेवा आयोग में अध्यक्ष डॉ. भूपेंद्र यादव,सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय में प्राचार्य डॉ. दीपक मेहरा, पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय पर आईजी एस. सेंगाथिर, पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर एस.पी. जगदीश चंद्र शर्मा ने ध्वज फहराया। सीबीएसई कार्यालय में भी ध्वज फहराया गया।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned