Rpsc: 2018 में निकली थी आरएएस भर्ती, 2021 में मिलेंगे अफसर

साक्षात्कार के आयोजन और परिणाम निकालने में आयोग को दो-तीन महीने लगेंगे। साफतौर पर प्रदेश को ढाई साल बाद ही नए अफसर मिल सकेंगे।

By: raktim tiwari

Published: 23 Oct 2020, 07:52 PM IST

रक्तिम तिवारी/अजमेर.

आरएएस एवं अधीनस्थ सेवा भर्ती-2018 के साक्षात्कार दिसंबर में प्रस्तावित हैं। साक्षात्कार के आयोजन और परिणाम निकालने में आयोग को दो-तीन महीने लगेंगे। साफतौर पर प्रदेश को ढाई साल बाद ही नए अफसर मिल सकेंगे।

कार्मिक विभाग से मिली अभ्र्यथना के बाद आयोग ने आरएएस एवं अधीनस्थ सेवाएं भर्ती के आवेदन 2 अप्रैल से 2018 से मांगने प्रारंभ किए थे। आवेदन प्रक्रिया जून तक चली। इसी दौरान अध्यक्ष रहे डॉ. आर.एस. गर्ग का कार्यकाल खत्म हो गया। बाद में अध्यक्ष बने दीपक उप्रेती ने 5 अगस्त को आरएस प्रारंभिक परीक्षा परीक्षा कराई। इसका परिणाम 23 अक्टूबर को जारी हुआ।

यूं फंसा मुख्य परीक्षा में पेच
कुछ अभ्यर्थियों की याचिका पर राजस्थान हाईकोर्ट की सिंगल बैंच ने आरएएस प्रारंभिक परीक्षा-2018 के प्रश्न संख्या 11 और 22 को हटाने सहित नए सिरे से परिणाम जारी करने के आदेश जारी किए। इसके खिलाफ आयोग ने हाईकोर्ट की खंडपीठ में याचिका दायर की। हाईकोर्ट के आदेशानुसार 25 और 26 जून 2019 को आरएएस मुख्य परीक्षा कराई।

मुख्य परीक्षा परिणाम में हुई देरी
सुरज्ञान सिंह और अन्य ने प्रारंभिक परीक्षा की कट ऑफ को लेकर याचिका लगाई थी। मुख्य परीक्षा के परिणाम को लेकर बीती 18 मार्च 2020 को हाईकोर्ट में सुनवाई होनी थी। कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन से मामला अटक गया। जून में आयोग ने राजस्थान हाईकोर्ट में विशेष प्रार्थना पत्र दायर किया। सरकार ने भी आरएएस मुख्य परीक्षा के लिए आरक्षित अभ्यर्थियों को बुलाने के नियम में बदलाव किया। हाईकोर्ट के फैसले के बाद आयोग ने 9 जुलाई को मुख्य परीक्षा परिणाम जारी किया।

विज्ञापन से मुख्य परीक्षा का सफर...
-आरएएस के 405 पद, अधीनस्थ सेवा के 575 पद और टीएसपी क्षेत्र के 37 पद (कुल 1017)शामिल थे। बाद में एमबीसी के 34 पद बढऩे से कुल पद 1051 हो गए।
-आरएस परीक्षा के लिए 5 लाख अभ्यर्थियों किया था आवेदन। प्रारंभिक परीक्षा में बैठे 3 लाख 67 हजार अभ्यर्थी। -मुख्य परीक्षा 25 और 26 जून 2019 को (22 हजार 984 में से परीक्षा में बैठे-18 हजार अभ्यर्थी)
-9 जुलाई को आयोग ने घोषित किया मुख्य परीक्षा परिणाम। 1051 पदों की एवज में 2010 अभ्यर्थियों को पास किया।

2021 में ही नियुक्ति
आयोग को साक्षात्कार कराने में आयोग को दो से तीन माह लग सकते हैं। दिसंबर के द्वितीय सप्ताह से साक्षत्कार कराए जाने की स्थिति में साल 2020 में भर्ती प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकेगी। कोई याचिका या अन्य पेच नहीं आया तो ही अभ्यर्थियों के पदस्थापन 2021 में मार्च-अप्रेल या इसके बाद ही हो पाएंगे।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned