RPSC: उप निरीक्षक और प्लाटून कमांडर भर्ती का परिणाम जारी

129 अभ्यर्थियों का परिणाम रोका हाईकोर्ट के आदेश से । तीन अभ्यर्थियों का परिणाम रोका प्रशासनिक कारणों से।

By: raktim tiwari

Updated: 02 Sep 2020, 06:38 AM IST

अजमेर.

राजस्थान लोक सेवा आयोग ने मंगलवार को उप निरीक्षक/प्लाटून कमाण्डर भर्ती- 2016 का परिणाम जारी कर दिया। अभ्यर्थियों के साक्षात्कार बीती जुलाई और अगस्त में कराए गए थे। इससे चार साल बाद राजस्थान पुलिस को 511 उप निरीक्षक और प्लाटून कमांडर मिलेंगे। आयोग ने 8 जुलाई से उप निरीक्षक/प्लाटून कमांडर भर्ती-2016 के साक्षात्कार शुरू किए थे। यह साक्षात्कार 27 अगस्त को साक्षात्कार तक चले। चार दिन के गहन परीक्षण और तकनीकी जांच के बाद आयोग ने मंगलवार को परिणाम घोषित कर दिया।

सचिव शुभम चौधरी ने बताया कि राजस्थान पुलिस अधीनस्थ सेवा नियम 1989 के नियम 23 के अनुसार परिणाम जारी किया गया है। इसमें उप निरीक्षक पुलिस (एपी), उप निरीक्षक पुलिस (आरएएसी), उप निरीक्षक पुलिस (एमबीसी) और प्लाटून कमांडर (आरएसी) के अभ्यर्थी शामिल हैं।

परिणाम राजस्थान हाईकोर्ट में लालकृष्ण वशिष्ठ, विकास चौधरी, मधुबाला तिवारी और नरपतदान चारण में पारित एसबी सिविल याचिका के अध्यधीन घोषित किया गया है। इसमें 129 अभ्यर्थियों का परिणाम हाईकोर्ट के आदेश और तीन अभ्यर्थियों का परिणाम प्रशासनिक कारणों से रोका गया है।

सबसे लम्बी भर्ती का रिकॉर्ड
उपनिरीक्षक-प्लाटून कमांडर भर्ती-2016 के आवेदकों को चार साल बाद नौकरी मिलेगी। यह आयोग की सबसे लम्बी भर्ती का रिकॉर्ड बना चुकी है। आयोग ने वर्ष 2016 को पुलिस उप निरीक्षक/प्लाटून कमांडर भर्ती के लिए आवेदन मांगे थे। इसमें उपनिरीक्षक (एपी) के 147, उपनिरीक्षक (आई.बी.) के 65 और प्लाटून कमांडर (आरएसी) के 114 और उप निरीक्षक एमबीसी के 4 पद (कुल 330) शामिल थे। कार्मिक विभाग के पदों में बढ़ोतरी को लेकर बार-बार पत्र भेजने से आयोग को शुद्धिपत्र निकालने पड़े।

मिलेंगे 511 सब इंस्पेक्टर
आयोग ने 7 अक्टूबर 2018 को परीक्षा कराई थी। राजस्थान पुलिस को अब 511 पदों पर सब इंस्पेक्टर/प्लाटून कमांडर मिलेंगे। परिणाम निकलने के बाद अभ्यर्थियों का पुलिस वेरीफिकेशन और अन्य प्रक्रिया होगी।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned