RTO NEWS : यहां भी मौत के मुहानों पर दौड़ रहे अनफिट वाहन

पर्यटकों की जान को भी बना रहता है खतरा

पुष्कर व तारागढ़ पहाड़ी पर हो चुके हैं कई हादसे

आधे वाहनों की भी नहीं होती है फिटनेस

फिटनेस जांच के लिए नसीराबाद पर निर्भर जिला

By: himanshu dhawal

Published: 01 Mar 2020, 08:38 PM IST

हिमांशु धवल
अजमेर. वाहनों की फिटनेस जांच करवाने के लिए जिला मुख्यालय से करीब 23 किमी दूर नसीराबाद जाना पड़ता है। इस दौरान वाहनों की दुर्घटना होने पर वाहन संचालकों पर दोहरी मार पड़ रही है। इसकी वजह है कि सिटी बसें, टेम्पो को नगर निगम सीमा तक का ही परमिट है। अगर इस सीमा से बाहर नसीराबाद पहुंचने पर दुर्घटनाएं हो जाती हैं तो इसमें वाहन संचालक ही जिम्मेदार है।

अजमेर जिले में नसीराबाद में ही फिटनेस जांच सेन्टर होने से पूरे जिले के वाहन संचालक/चालक फिटनेस के लिए यहां का सफर तय करके पहुंचते हैं। इसमें केकड़ी से नसीराबाद की दूरी करीब 60 किमी, जवाजा से नसीराबाद की दूरी करीब 70, किशनगढ़ क्षेत्र से करीब 65 किमी, रूपनगढ़ से करीब 80 किमी दूर है। इसके बावजूद राज्य सरकार की ओर से फिटनेस जांच सेन्टर की संख्या नहीं बढ़ाई गई है।

फैक्ट फाइल
30,182 ट्रांसपोर्ट वाहन अजमेर जिले में

4,252 वाहनों की फिटनेस ऑनलाइन अपडेट नहीं

48,418 वाहनों की पिछले एक साल में जांच

787 वाहनों को फिटनेस नहीं मिलने किया जब्त (बीते एक साल में )

यहां है सबसे अधिक खतरा

पुष्कर घाटी: अजमेर-पुष्कर मार्ग स्थित घाटी पर स्टाउट-गाइड कैम्पस के ऊपर पहाड़ी मोड़। नौसर घाटी मंदिर के पास (अजमेर की ओर)।
तारागढ़ की पहाड़ी: तारागढ़ पहाडी पर तीन जगह घुमाव हैं जहां से वाहन दीवार से टकराकर सीधे नीचे खाई में गिर सकते हैं।

बीर चौराहा: अजमेर से बीर की घाटी एवं चौराहे पर भी दुर्घटनाएं कई बार हो चुकी हैं।

हादसों की डगर

केस-1

8 जुलाई 2018 : तबीजी के निकट रोडवेज बस गलत दिशा में आए डम्पर से टकराई। बस में सवार 9 यात्रियों की मौत हो गई जबकि करीब 24 जनों से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे।

केस-2
22 सितम्बर 2019 राष्ट्रीय राजमार्ग पर लामाना (मांगलियावास) के निकट फुटपाथ पर खड़े ट्रेलर से तेज रफ्तार वीडियो कोच बस की टक्कर। हादसे में 8 यात्रियों की मौत, 20 जने जख्मी हो गए।

केस-3

9 दिसम्बर 2019 को तारागढ़ पहाड़ी सम्पर्क सडक़ पर तेज रफ्तार कार और वैन आमने-सामने आ गई। दुर्घटना से बचने के फेर में कार अंसुलित होकर नीचे उतर पहाड़ी से लटक गई।

केस-4

25 जनवरी 2020 पुष्कर घाटी में स्काउट-गाइड कैम्प के ऊपर पर यू-टर्न पर जीप के ब्रेक फेल होने से जीप दीवार तोड़ 50 फीट गहरी खाई में गिर गई। कंटीली झाडिय़ों में अटकने से उसने में सवार लोगों की जान बच गई।

एक्सपर्ट व्यू
टैक्स बचाने के लिए दौड़ाते हैं वाहन

अन्य जिले और राज्य में जाने पर वाहन चालक टैक्स और समय बचाने के लिए वाहन को तेज चलाते है। यही दुर्घटना का मुख्य कारण होता है। बस चलाने के लिए कम से कम तीन साल का अनुभव आवश्यक होना चाहिए। नसीराबाद में फिटनेस सेंटर होने के कारण किसी प्रकार की दुर्घटना होने पर इसका जिम्मेदार कौन होगा। जिला प्रशासन को इसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिए।
-करणसिंह, अध्यक्ष ऑटो रिक्शा यूनियन

रोड सेफ्टी संवेदनशील मु²ा
हाइकोर्ट के आदेश है जहां पर फिटनेस सेंटर है वहां पर परिवहन विभाग फिटनेस नहीं कर सकता है। इसके लिए नसीराबाद जाकर की फिटनेस करानी पड़ती है। रोडसेफ्टी संवेदनशील मुद्दा है। एक्सीडेंट जोन का सर्वे फिर से होना चाहिए। इसमें सभी विभाग शामिल होने चाहिए। ब्लैक स्पॉट के लिए इनपुट देते हैं और इन्हें चिह्नित यातायात पुलिस ही करती है।

- अर्जुनसिंह, प्रादेशिक परिवहन अधिकारी अजमेर

Show More
himanshu dhawal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned