जेएलएन में आउटडोर से पहले बंद हो जाता है सेंपल कलेक्शन

Chandra Prakash Joshi

Updated: 14 Feb 2020, 11:26:58 PM (IST)

Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

अजमेर. संभाग के सबसे बड़े जवाहर लाल नेहरू अस्पताल में माकूल प्रबंधन नहीं होने से मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मामला अस्पताल स्थित सैंट्रल लैब का है जिसमें डॉक्टरों के आउटडोर से उठने से पहले ही उनेके द्वारा रोगियों की लिखी गयी जांचों के सेंपल लेना बंद कर दिया जाता है। इस व्यवस्था के चलते आउटडोर आने वाले रोगी चिकित्सकीय परामर्श के बावजूद 1 बजे बाद लैब पर उसी दिन सेंपल नहीं दे पाते। हालत यह है कि ओपीडी समय से करीब दो घंटे पहले ही रक्त व अन्य जांच के नमूने लेने का काम बंद कर दिया जाता है। जबकि अस्पताल मेंआउटडोर का समय तीन बजे तक निर्धारित है। इसके चलते अजमेर सहित बाहर से आने वाले रोगियों को केवल सेंपल देने के लिए अगले दिन दुबारा आकर जांचें करवानी पड़ती हैं।

राजोसी से आया रोगी लौटा

अस्पताल में गुरुवार को दोपहर 1.10 बजे राजोसी निवासी मरीज भंवर खान जांच के लिए सैन्ट्रल लैब व संग्रहण कक्ष के बाहर घूमता मिला। उसने बताया कि दो घंटे लाइन में खड़े रहने के बाद डॉक्टर को दिखा सका था। उन्होंने रक्त की जांच भी लिखी, लेकिन सेंपल लेने वाला कोई नहीं था। उसे अगले दिन आने के लिए कह दिया गया।

यह है समस्या

सैन्ट्रल लैब में प्रतिदिन 2000 से 3000 सेम्पल जांच के लिए आते हैं। इनकी विभिन्न जांचों में समय अधिक लगता है। साथ ही लैब तकनीशियन की कमी के चलते निर्धारित समय तक ही सेम्पल लिए जाते हैं। यहां उपकरण, मशीनों की क्षमता के अनुसार ही एक दिन में जांच होने वाले नमूने लिए जाते हैं।

इनका कहना है

इमरजेंसी केस में सभी जांचें होती हैं। एक बजे बाद सामान्य मरीजों की जांच नहीं हो रही है तो जल्द व्यवस्था की जाएगी।

-डॉ. अनिल जैन, अधीक्षक जेएलएन हॉस्पिटल

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned