बोले सतीश पूनिया: गहलोत अल्पज्ञानी, याद नहीं कांग्रेस के विध्वसंक फैसले

राजभवन से मनमाने फैसले लिए गए। अपनी पार्टी के कृत्य भूलकर वे वे मोदी राज को कोस रहे हैं।

By: raktim tiwari

Published: 30 Nov 2019, 04:56 PM IST

Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

अजमेर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (ashok gehlot) खुद को राजनीति का खिलाड़ी समझते हों लेकिन वे अल्पज्ञानी हैं। उन्हें मोदी राज में लोकतंत्र खतरे में दिखता है। कांग्रेस ने 55 साल के राज में जितने विध्वसंक फैसले लिए वे शायद भूल चुके हैं। दूसरों पर आरोप-प्रत्यारोप से पहले उन्हें अपने गिरेबां में झांकना चाहिए। यह बात भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया (satish punia) ने शनिवार को महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय में कही।

Read More: राजसमंद, जालोर व प्रतापगढ़ में भी खुलेंगी सरकारी मेडिकल कॉलेज: डॉ. शर्मा

छात्रसंघ कार्यलय के शुभारंभ समारोह के बाद पत्रकारों से बातचीत में पूनिया ने कहा कि देश का लोकतांत्रित ढांचा बेहद मजबूत है। 130 करोड़ भारतीय इसकी ताकत है। मुख्यमंत्री गहलोत का मोदी राज में लोकतंत्र को खतरे में बताना उनका अल्पज्ञान दर्शाता है। उनकी पार्टी की प्रधानमंत्री रही इंदिरा गांधी (indira gandhi) ने देश में आपातकाल (emergancy) लगाया था। 81 बार धारा 356 का दुरुपयोग किया गया। 1980 में हरियाणा में देवीलाल की जगह भजनलाल सीएम बना दिए गए। राजभवन से मनमाने फैसले लिए गए। अपनी पार्टी के कृत्य भूलकर वे वे मोदी राज को कोस रहे हैं।

Read More: Traffic In Ajmer: अजमेर में वन-वे ट्रेफिक, एसपी निकले व्यवस्था देखने

जल्द पटरी पर आएगी अर्थव्यवस्था
आर्थिक विकास दर गिरने के सवाल पर पूनिया ने कहा कि मोदी सरकार (Modi Govt) ने जीएसटी (GST), नोटबंदी (notebandi) जैसे कड़े फैसले लिए हैं। आरबीआई से पैसा उधार लेकर बैंकों को दिया गया है। जीएसटी के स्लैब्स को सरल किया गया है। सरकार अर्थव्यवस्था (economy) को सुधारने में जुटी है। एक-दो साल में इसके सकारात्मक परिणाम दिखने को मिलेंगे। आलू-प्याज और जरूरत की चीजों के दाम काबू में होंगे।

Read More: City Life: बन गए हैं शहर में एक्सीडेंट जोन, यहां मंडराता है हमेशा खतरा

मोदी जनता के प्रतिनिधि, कोई जादूघर नहीं
महाराष्ट्र में हुए सियासी ड्रामेबाजी और मोदी का जादू (modi magic) फीका पडऩे से जुड़े सवाल पर पूनिया ने कहा कि मोदी 130 करोड़ जनता के प्रतिनिधि हैं। वे कोई जादूघर नहीं है। मोदी भ्रष्टाचार (curruption)को जड़-मूल से समाप्ति में जुटे हैं। उनका एकमात्र लक्ष्य देश और जनता की सेवा करना है। 2022 में जब देश आजादी (independance day) की 75 वीं वर्षगांठ बनाएगा तब देश का आर्थिक, सामाजिक और सियासी मॉडल दुनिया में सबसे मजबूत होगा।

Read More: RPSC: करें फार्म में ऑनलाइन संशोधन, फिर नहीं मिलेगा मौका

लोकतंत्र की सीढ़ी है छात्रसंघ
पूनिया ने कहा कि छात्रसंघ लोकतंत्र (democracy)की पहली सीढ़ी है। छात्रसंघ ने प्रदेशों और केंद्र को कई दिग्गज राजनेता दिए हैं। मैं स्वयं एबीवीपी (abvp) से निकला हूं। युवा अच्छे नेता बनकर देश, समाज और अपने संस्थान की सेवा करें यही लक्ष्य होना चाहिए।

pm modi

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned