Sevadal Meet: सेवादल ने भगाया अंग्रेजों को, नहीं करनी आरएसएस की कॉपी

जिस संगठन ने स्वाधीनता संग्राम में अंग्रेजों का मुकाबला किया। सदैव गरीब, पिछड़े वर्ग, किसानों और आमजन के मुद्दों की आवाज उठाई। उस संगठन को आरएसएस जैसा बनना या कॉपी करने की कतई आवश्यकता नहीं है।

By: raktim tiwari

Published: 16 Dec 2020, 09:24 AM IST


फोटो..सेवादल ने भगाया अंग्रेजों को, नहीं करनी आरएसएस की कॉपी

बोले सेवादल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालजी देसाई।
रक्तिम तिवारी/अजमेर.सेवादल देश का सबसे पुराना और जनता से सीधा जुड़ा संगठन है। स्वाधीनता आंदोलन से लेकर जनहित के लिए संघर्ष ही इसकी पहचान है। हमें राष्ट्रीय स्वयं संघ को कॉपी करना या उसके जैसा बनने की जरूरत नहीं है। यह बात सेवादल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालजी देसाई ने पत्रिका से खास बातचीत में कही।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के सेवादल को आरएएस की तर्ज पर बनाने के सवाल पर देसाई ने कहा कि सेवादल का स्वर्णिम और गौरवमयी इतिहास है। जिस संगठन ने स्वाधीनता संग्राम में अंग्रेजों का मुकाबला किया। सदैव गरीब, पिछड़े वर्ग, किसानों और आमजन के मुद्दों की आवाज उठाई। उस संगठन को आरएसएस जैसा बनना या कॉपी करने की कतई आवश्यकता नहीं है। जो संगठन छात्रों की आवाज को टुकड़ा-टुकड़ा, किसानों को खालिस्तानी, लेखकों के नक्सली कहे उसके सिद्धांत हमें नहीं अपनाने। सेवादल ने देश और कांग्रेस को हजारों विधायक, सांसद, पीएम और सीएम दिए हैं। सेवादल आज भी जनता के करीब है।

2023 तक 50 लाख सदस्य
देसाई ने कहा कि 2018 में सेवादल के 12 हजार सदस्य थे। 2020 तक 3.5 लाख सदस्यता हो चुकी है। 2021 तक 10 लाख और 2023 में सेवादल की शताब्दी वर्ष तक सदस्यता 50 लाख तक पहुंचाई जाएगी। ग्रामीण, तालुका-पंचायत और शहर स्तर तक इकाइयों का गठन, सदस्यता अभियान जारी है। सेवादल ने दो साल का एजेंडा तैयार किया है। इसमें खेती, पर्यावरण, शिक्षा, सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा पर कामकाज शुरू किया गया है।

निर्ममता से हटेंगे नाकारा कार्यकर्ता
आगामी महीनों में सेवादल जमीन स्तर पर मजबूत और नए कलेवर में दिखेगा। नकारा कार्यकर्ताओं को निर्ममता से हटाया जाएगा। राष्ट्रीय, राज्य और इकाई स्तर के जो नेता-कार्यकर्ता काम नहीं कर रहे उन्हें बाहर किया जाएगा। पदों पर वही रहेंगे जिनका संगठन और जमीनी स्तर पर कार्य दिखेगा। सेवादल की सेकंड लाइन तैयार की जा रही है। इसमें नई सोच और नए विचारों वाले युवाओं को जोड़ा जा रहा है।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned