वो करने आए थे दुकानदार से अवैध पुलिस , जब नहीं दिए पैसे तो दे डाली ऐसी खतरनाक धमकी

शहर के एक वाहन विक्रेता को धमकाने व जबरन वसूली का मामला सामने आया है।

By: सोनम

Published: 24 May 2018, 08:21 PM IST

अजमेर . शहर के एक वाहन विक्रेता को धमकाने व जबरन वसूली का मामला सामने आया है। पीडि़त व्यवसायी ने बुधवार दोपहर एसपी राजेन्द्र सिंह को परिवाद दिया। एसपी सिंह ने मामले में कोतवाली थानाप्रभारी धर्मवीर सिंह को जांच कर आरोपितों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के आदेश दिए हैं। वाहन विक्रेता प्रदीप गर्ग व गोविन्द गर्ग ने परिवाद में बताया कि पिछले तीन दिन से विशालसिंह चौहान नामक युवक तीन चार युवकों के साथ उनके प्रतिष्ठान पर अवैध वसूली के लिए चक्कर लगा रहा है।

 

आरोपित ने उन्हें मोबाइल पर कॉल कर हिसाब बाकी होने की बात कही। जब उसे हिसाब का मैसेज भेजने के लिए कहा तो उसने अभद्र व्यवहार करते हुए जान से मारने की धमकी दी। आरोपित ने उन्हें जान बचाने के लिए पैसे देने की बात कही। कोतवाली थाना पुलिस प्रदीप गर्ग की शिकायत पर मामले की जांच शुरू कर दी।
अवैध वसूली का आरोप

गोविन्द गर्ग ने बताया कि आरोपित विशाल सिंह चौहान एसओजी में तैनात एक सिपाही के मार्फत तथाकथित सूदखोर के सम्पर्क में है। उसके इशारे पर ही आरोपित शहर में वसूली का गोरखधंधा करते हैं। उन्होंने आरोप लहगाया कि विशालसिंह चौहान और उसके गिरोह की धमकियों से उसका परिवार भयभीत है। उन्होंने मामले में कार्रवाई की मांग की।

सीसीटीवी में नजर आए युवक
वाहन विक्रेता ने पुलिस को अपने कचहरी रोड स्थित शोरूम के सीसीटीवी फुटेज भी मुहैया करवाए है। जिसमें आरोपितों से शोरूम के कर्मचारी से उलझने के फुटेज सामने आए हैं। इनका कहना है...

पीडि़त वाहन विक्रेता ने पुलिस अधीक्षक को परिवाद पेश किया था। परिवाद में वाहन मालिक को धमकाने का मामला है। जांच में रखा है।
-धर्मवीर सिंह, थानाप्रभारी सदर कोतवाली

Prev Page 1 of 2 Next
Show More
सोनम Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned