scriptSmart City: New company installed two computers, sent a bill of 4 | स्मार्ट सिटी: नई कम्पनी ने लगाए दो कम्प्यूटर, बिल भेजा 4 का | Patrika News

स्मार्ट सिटी: नई कम्पनी ने लगाए दो कम्प्यूटर, बिल भेजा 4 का

लगाने थे आई -5, लगाए आई -3 कम्प्यूटर

अजमेर

Updated: May 10, 2022 10:35:10 pm

भूपेन्द्र सिंह

अजमेर. स्मार्ट सिटी अजमेर में नित नए फर्जीवाड़े थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। अब नया फर्जीवाड़ा साने आया है स्मार्ट सिटी में कंप्यूटर लगाने में। जिसमें बिना कंप्यूटर लगाने वाली फर्म ने कम्प्यूटर तो दो लगाए लेकिन बिल ने 4 कंप्यूटरों का बिल दे दिया गया। जबकि फर्म ने 2 ही कंप्यूटर सप्लाई किए थे और वह भी स्पेसिफिकेशन के अनुसार नहीं थे। वहीं मामले मेें खास यह भी है कि स्मार्ट सिटी की पुरानी कम्प्यूटर व प्रिंटर सेवा प्रदाता कम्पनी ने 31 मार्च को ठेका समाप्त होने के बावजूद अधिकारियों के कहने पर उसने 10 मई तक अपनी सेवा दीं। अब नई कम्पनी ने अप्रैल में काम किए बिना ही बिल भेजा और अधिकारियों ने इसे वैरिफाई भी कर दिया। इसके बाद नई कम्पनी ने जिला कलक्टर और स्मार्ट सिटी सीईओ के नाम 45 हजार 516 रुपए का बिल भी दे दिया।
ajmer news
ajmer news
लगाने थे आई 5, लगाए आई 3

तय शर्तो के अनुसार फर्म को स्मार्ट सिटी मेें आई 5 प्रोसेसर के कंप्यूटर सप्लाई करने थे। मगर फर्म ने 10 साल पुराने कम्प्यूटर लगा दिए वो भी पाईरेटेड विंडो के साथ। जबकि शर्ता में स्पष्ट रूप से लिखा गया है कि सॉफ्टवेयर के लाइसेंस की जिम्मेदारी ठेकेदार की होगी। ठेकेदार ने सॉफ्टवेयर का लाइसेंस नहीं दिया है। 2 की जगह 4 कंप्यूटरों के बिल वेरीफाई करवाते हुए बिल भुगतान की तैयार की जा रही है। स्मार्ट सिटी की लेखा शाखा ने भी आंखें मूंदे रखी हैं।
पायरेटेड विंडो को हो रहा इस्तेमाल

स्मार्ट सिटी में नियम विरुद्ध चल रही डिजिटल माप पुस्तिका भी इन्हीं कंप्यूटरों में रख रखी जाती है जिनको की स्मार्ट सिटी के अभियंता करोड़ों रुपए के प्रोजेक्टों के भुगतान वह अन्य कार्यों में काम में लेते हैं। इन कंप्यूटरों में पायरेटेड विंडो इस्तेमाल करना नुकसानदायक हो सकता है।
यह है प्रावधान

आईटी एक्ट के अंतर्गत स्मार्ट सिटी के सरकारी डेटा की सुरक्षा नहीं कर पाने एवं कंप्यूटर प्रणाली को सुरक्षित नहीं रखने पर एक करोड़ रुपए तक का जुर्माने का प्रावधान है। मगर स्मार्ट सिटी के अभियंता फर्म पर कार्रवाई करने की जगह फर्म के बिल पास करने में लगे हुए हैं। अगर सारा डाटा नष्ट होता है तो इसका जिम्मेदार कौन होगा इस पर जिम्मेदार अधिकारी मौन है और धड़ल्ले से बिल वेरीफाई कर रहे हैं।
स्मार्ट सिटी का कामकाज हुआ ठप

स्मार्ट सिटी लिमिटेड की पुरानी फर्म ने मंगलवार को स्मार्ट सिटी कार्यालय से खुद के कंप्यूटर व प्रिंटर हटा लिए। इससे स्मार्ट सिटी का कामकाज ठप हो गया। पुरानी कम्पनी ने ऐतराज जताया कि पुरानी कम्पनी सेवाएं दे रही थी तो नई कम्पनी ने बिल कैसे प्रस्तुत किया।
इनका कहना है

मैने बिल वैरीफाइ नहीं किया है,पुराने ओआईसी ने किया है। यह काम स्मार्ट सिटी की अकाउंट विंग देखती है। टेंडर भी उन्होनें ही किया है। इस माह चेंज ओवर हुआ है। इस बारे में पेपर देखकर ही कुछ कह सकता हूं।
रमाकांत शर्मा, एक्सईएन, स्मार्ट सिटी अजमेर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

टाइम मैगजीन ने जारी की 100 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट, जेलेंस्की, पुतिन के साथ 3 भारतीय भी शामिलHaj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानाआ गया प्लास्टिक कचरे का सफाया करने वाला नया एंजाइमWomen's T20 Challenge: पहले ही मैच में धमाकेदार जीत दर्ज की सुपरनोवास ने, ट्रेलब्लेजर्स को 49 रनों से हरायाअनिल बैजल के इस्तीफे के बाद Vinai Kumar Saxena बने दिल्ली के नए उपराज्यपालISI के निशाने पर पंजाब की ट्रेनें? खुफिया एजेंसियों ने दी चेतावनीममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा - 'भाजपा का तुगलगी शासन, हिटलर और स्टालिन से भी बदतर'लगातार बारिश के बीच ऑरेंज अलर्ट जारी, केदारनाथ यात्रा पर लगी रोक, प्रशासन ने कहा - 'जो जहां है वहीं रहे'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.