scriptSocial outreach: 29 days studies, rural service for one day | Social outreach: 29 दिन कॉलेज. .तो एक दिन गांवों के नाम | Patrika News

Social outreach: 29 दिन कॉलेज. .तो एक दिन गांवों के नाम

इंजीनियरिंग कॉलेज चलाएंगे सोशल आउटरीच प्रोग्राम, ताकि टेक्नोक्रेट्स के ज्ञान का मिले ग्रामीणों को लाभ

अजमेर

Updated: January 09, 2022 09:05:45 pm

रक्तिम तिवारी/अजमेर.

इंजीनियरिंग कॉलेज के विद्यार्थी अब तकनीकी शिक्षा के साथ सामाजिक कार्य से भी जुड़ेंगे। वे कॉलेज में ब्रांचवार नए कोर्स पढऩे के साथ-साथ प्रतिमाह एक दिन गांवों में जाकर ग्रामीणों को बैंकिंग प्रणाली, सरकारी योजनाओं की जानकारी देने, कंप्यूटर प्रशिक्षण और अन्य कार्य में मदद करेंगे।
social outreach programme
social outreach programme
यह है सोशल आउटरीच...
अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद ने और तकनीकी शिक्षा विभाग ने सभी इंजीनियरिंग कॉलेज को सोशल आउटरीच कार्यक्रम को बढ़ावा देने को कहा है। इसमें बी.टेक. और एम.टेक. करने वाले विद्यार्थियों को राष्ट्रीय सेवा योजना और उन्नत भारत योजना के तहत प्रतिमाह एक अथवा आधे दिन तक ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर सेवा करने पर जोर दिया गया है। लिहाजा इंजीनियरिंग कॉलेज ने प्रतिमाह के शनिवार को सोशल आउटरीच कार्यक्रम चलाने का फैसला किया है।
यह कार्य करेंगे छात्र-छात्राएं: एफएक्यू
-गांवों में लोगों को सिखाएंगे नेट बैंकिंग

-ऑनलाइन फॉर्म भरने की देंगे जानकारी
-देंगे सरकारी योजनाओं की जानकारी

-स्कूल विद्यार्थियों को सिखाएंगे कंप्यूटर
-मोबाइल बैंकिंग, बिल भुगतान की ट्रेनिंग

-युवाओं को देंगे कॅरियर संबंधित जानकारी
-खराब सॉफ्टवेयर-हार्डवेयर की करेंगे मरम्मत
कॉलेजों ने गोद लिए हैं गांव

अजमेर के बड़ल्या और महिला इंजीनियरिंग कॉलेजों ने गांव भी गोद लिए हैं। इन गांवों में स्वच्छता, शिक्षा, स्वास्थ्य जनजागरुकता कार्यक्रम चलाए जाते हैं। लेकिन गतिविधियां एक निश्चित अंतराल में ही होती हैं। सोशल आउटरीच कार्यक्रम प्रतिमाह नियमित चलेगा।
फैक्ट फाइल (सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज)
16 सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज

40 से ज्यादा टेक्निकल ब्रांच
10 हजार से ज्यादा विद्यार्थी अध्ययनरत

02 टेक्निकल यूनिवर्सिटी से सम्बद्ध


विद्यार्थियों को सामाजिक सरोकार और जिम्मेदारी से जोडऩे और ग्रामीणों की मदद के लिए एनएसएस और उन्नत भारत योजना में सोशल आउटरीच कार्यक्रम चलेगा। विभागवार कार्यक्रम बन चुके हैं। कोविड संक्रमण के चलते फिलहाल शुरुआत नहीं हुई है, लेकिन सामान्य स्थिति होते ही ब्रांचवार विद्यार्थी अभियान में जुटेंगे।
डॉ. रेखा मेहरा
प्राचार्य, इंजीयिरिंग कॉलेज बड़ल्या

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

हार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैंधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजप्रदेश में कल से छाएगा घना कोहरा और शीतलहर-जारी हुआ येलो अलर्टEye Donation- बेटी को जन्म दे, चल बसी मां, लेकिन जाते-जाते दो नेत्रहीनों को दे गई रोशनीयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

गुजरातः सोमनाथ मंदिर के पास सर्टिक हाउस के उद्घाटन पर बोले पीएम मोदी, तीर्थ स्थलों से बढ़ती है देश की एकताक्या सच में बुझा दी गई अमर जवान ज्योति? केंद्र सरकार ने दिया जवाबCorona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरदिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू होगा खत्म! सीएम केजरीवाल के प्रस्ताव पर जानिए उपराज्यपाल ने क्या दिया जवाबT20 World Cup: टीम इंडिया का पूरा शेड्यूल, जानें कब और किस टीम से होगा मुकाबलाकेरल में एक दिन में सामने आए 46 हजार नए मामले, अब लगेगा कम्प्लीट लॉकडाउनप्रधानमंत्री 5 फरवरी को हैदराबाद में रामानुजाचार्य की 216 फुट ऊंची प्रतिमा का करेंगे अनावरण, 120 किलो सोने से बनी है ये प्रतिमातीन तलाक मामला-फोन पर बोला और तोड़ दिया रिश्ता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.