CRIME- सैनिक बनकर लगाई 18 हजार रुपए की चपत

ऑनलाइन ठगी : बड़ी संख्या में मास्क खरीदने का झांसा दिया, दिखाया फर्जी फोटो, सैनिक की आईडी और पेनकार्ड

By: manish Singh

Published: 01 Jul 2020, 10:28 AM IST

अजमेर(Ajmer News).

ऑनलाइन ठगी का शिकार बनाने वाले ठग रोजाना नए-नए पैंतरे अपनाकर लोगों के बैंक खातों में सेंध लगा रहे हैं। ठग ने इस मर्तबा सैनिक बनकर बड़ी संख्या में मास्क खरीदने के नाम पर शहर के एक व्यापारी के 20 हजार की चपत लगा दी। पीडि़त ने मामले में क्लॉक टावर थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी है।

केसरगंज निवासी कपड़ा व्यवसायी भरत जैन ने बताया कि उसका हैंडलूम फेब्रिक का काम है। कोरोना संक्रमण काल में उसने मास्क बनाकर बेचने का काम शुरू किया। उसने सोशल साइट पर अपने बिजनेस के संबंध में जानकारी शेयर की। उसको रविवार सुबह कॉल आया। कॉलर ने स्वयं को नसीराबाद आर्मी में तैनात होना बताते हुए बड़ी संख्या में मास्क खरीदने की बात कही। इसके बाद कॉलर ने उसको वाट्सएप पर सम्पर्क किया। जिसमें उसने अपना आईडी और पेनकार्ड भेजते हुए अधिकारी से बात करवाई। आरोपी ने उसे एडवांस भुगतान की बात कही जबकि उसने थोड़ा एडवांस देने की बात कही। इतनी बातचीत पर उसका उस पर विश्वास जम गया। आरोपी ने आधे घंटे बाद कॉल करके दो क्यूआर कोड से क्रमश: एक व 2 रुपए भेजे गए। कॉलर ने बताया कि इससे उसे ठगी का आभास नहीं हुआ।

जैन ने बताया कि जब उसे पता चला तब तक उसके खाते से 9 हजार 999 रुपए की दो निकासी हो चुकी थी। ठग खाते से 19 हजार 998 रुपए निकाल चुका था। जैन ने बताया कि जब उसने खाता चैक किया तो पता चला कि क्यूआर कोड से भेजे एक व दो रुपए उसके खाते से ही निकले थे। शातिर उसको बातों में उलझा उसकी बैंक खाते से जुड़ी जानकारी निकाल ली।

बैंक ने खड़े किए हाथ

पीडि़त जैन ने बैंक ने अपने बैंक के सम्पर्क साध मामले में रिपोर्ट की तो बैंक प्रबंधन ने खाते से रकम उसकी सहमति से निकासी होने की स्थिति में किसी भी तरह से मदद से इनकार कर दिया।

manish Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned