Special Code से होगी देश के कॉलेज और यूनिवर्सिटी की पहचान, लॉकर में रहेंगे डॉक्यूमेंट्स

raktim tiwari

Publish: Nov, 15 2017 08:14:56 (IST)

Ajmer, Rajasthan, India
Special Code से होगी देश के कॉलेज और यूनिवर्सिटी की पहचान, लॉकर में रहेंगे डॉक्यूमेंट्स

अखिल भारतीय उच्चतर शिक्षा सर्वेक्षण के पोर्टल पर सभी संस्थाओं को विशिष्ट कोड देने की शुरुआत की गई है।

रक्तिम तिवारी/अजमेर।

विद्यार्थियों के कॉलेज और विश्वविद्यालयों में लाइनों में धक्के खाने, फीस जमा कराकर दस्तावेज लेने के दिन लदने वाले हैं। संस्थाओं को अब विद्यार्थियों की अंकतालिका,डिप्लोमा और डिग्री सहित परीक्षा फार्म, फीस, स्टाफ, कोर्स, रिसर्च और प्लेसमेंट का डिजिटल डाटा बैंक बनाना होगा। पूरे देश के यूनिवर्सिटी और कॉलेज स्पेशल कोड से पहचाने जाएंगे। इसके लिए 30 नवम्बर तक रजिस्ट्रेशन कराने जरूरी होंगे।

केंद्र सरकार की राष्ट्रीय अकादमिक संग्रहण केंद्र (नेशनल एकेडेमिक डिपॉजिटरी) योजना के तहत सभी उच्च, तकनीकी, प्रबंधन और अन्य संस्थानों को दस्जावेजों का डिजिटल डाटा बैंक तैयार करना है। यह बैंक में राशि सुरक्षित रखने की प्रणाली की तर्ज पर कार्य करेगा। योजनान्तर्गत स्नातक/स्नातकोत्तर और अन्य पाठ््यक्रमों की डिग्री, डिप्लोमा, अंकतालिकाएं, प्रमाण-पत्र और अन्य दस्तावेज डिजिटल प्रारूप में 24 घंटे ऑनलाइन उपलब्ध रहेंगे। विद्यार्थी फीस देकर वे ऑनलाइन प्रिंट ले सकेंगे। इसके अलावा सभी कॉलेज और यूनिवर्सिटी को अखिल भारतीय उच्चतर शिक्षा सर्वेक्षण के पोर्टल पर वार्षिक और सेसेस्टर परीक्षा का डाटा, कैंपस में पढऩे वाले विद्यार्थियो की संख्या, पास और अनुत्तीर्ण विद्यार्थी, प्लेसमेंट, कोर्स और स्टाफ सहित अन्य सूचनाएं भी अपलोड करनी हैं।

कोड से होगी संस्थाओं की पहचान
अखिल भारतीय उच्चतर शिक्षा सर्वेक्षण के पोर्टल पर सभी संस्थाओं को विशिष्ट कोड देने की शुरुआत की गई है। यह कोड संस्था की पहचान होगी। इसमें संबंधित यूनिवर्सिटी और कॉलेज का पूरा डाटा संरक्षित रहेगा। मालूम हो कि अजमेर के महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय को यू-0408, एसपीसी-जीसीए को सी--29102, लॉ कॉलेज को सी-29106, राजकीय कन्या महाविद्यालय को सी-29108, संस्कृत कॉलेज को सी-26144, डीएवी कॉलेज को सी-13077, आयुर्वेद नर्सिंग कॉलेज को को सी-26242 कोड दिया गया है।

संस्थाओं-विद्यार्थियों को फायदा

-विद्यार्थियों को 24 घंटे मिल सकेंगे डिजिटल दस्तावेज
-संस्थानों को ई-पेमेन्ट या ई-चालान से मिलेगा शुल्क

-भर्ती परीक्षाओं, नियुक्तियों के दौरान दस्तावेजों का सत्यापन आसान
-सभी सूचनाएं मौजूद रहेंगी पोर्टल पर

देश में उच्च/तकनीकी शिक्षण संस्थान

राज्य स्तरीय यूनिवर्सिटी-784
केंद्रीय विश्वविद्यालय-47

कॉलेज-40-45 हजार
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान-23

भारतीय प्रबंधन संस्थान-20
नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी-22

अध्ययनरत विद्यार्थी-5 करोड़ 3 लाख
(स्त्रोत-यूजीसी)

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned