scriptसचेत रहे तो बचा ली साइबर फ्रॉड से लाखों की रकम, 1930 बना मददगार | Spotlight.....If you are cautious then you can save lakhs of rupees from cyber fraud. . 1930 became helpful | Patrika News
अजमेर

सचेत रहे तो बचा ली साइबर फ्रॉड से लाखों की रकम, 1930 बना मददगार

-क्रेडिट कार्ड धारकों ने साइबर थाने की ली मदद, टीम ने सेटल करवाई सौ फीसदी राशि

अजमेरJun 16, 2024 / 03:12 am

manish Singh

सचेत रहे तो बचा ली साइबर फ्रॉड से लाखों की रकम. . 1930 बना मददगार

सचेत रहे तो बचा ली साइबर फ्रॉड से लाखों की रकम. . 1930 बना मददगार

मनीष कुमार सिंह अजमेर. आमजन की सहूलियत के लिए बैंक या वित्तीय संस्थानों की ओर से दिए जाने वाले क्रेडिट कार्ड साइबर ठगों का हथियार व कार्डधारकों की नासमझी व लापरवाही के चलते उनके लिए परेशानी का सबब बन रहे हैं। क्रेडिट कार्डधारक साइबर ठगों के निशाने पर हैं। हालांकि सजगता और तत्परता से क्रेडिट कार्ड के जरिये हो रहे साइबर फ्रॉड से रकम बचाई जा सकती है।

अजमेर रिजर्व पुलिस लाइन में स्थित साइबर थाने के साइबर विशेषज्ञ क्रेडिट कार्ड से होने वाली ठगी में पीडि़तों के मददगार बन रहे हैं। क्रेडिट कार्ड फ्रॉड में जालसाज गिफ्ट कूपन, बिल भुगतान का लालच देकर मैसेज के जरिए लिंक भेजते हैं। जिस पर क्लिक करते ही क्रेडिट कार्ड से रकम की निकासी हो जाती है। साइबर थाना पुलिस बीते तीन माह में क्रेडिट कार्ड से रकम गंवाने के करीब एक दर्जन मामलों में 20 लाख रुपए से ज्यादा की रकम बचाने में कामयाब रही है।

सचेत रहे तो बचा ली साइबर फ्रॉड से लाखों की रकम, 1930 बना मददगार
अजमेर रिजर्व पुलिस लाइन में स्थित अजमेर साइबर थाना। पत्रिका

केस-1. बचाए 51 हजार की रकम

किशनगढ़ निवासी गोविन्द नारायण को 10 मार्च 2024 को क्रेडिट कार्ड से 51 हजार 249 रुपए की निकासी का मैसेज आया। उन्होंने तत्काल क्रेडिट कार्ड ब्लॉक करा साइबर थाना अजमेर पहुंचकर जानकारी दी। थाने की टीम ने 1930 साइबर पोर्टल पर शिकायत कर क्रेडिट कार्ड से निकाली गई रकम रिटर्न करवाई।

केस-2. बचाए 2 लाख 16 हजार की रकम

तीन बैंकों के क्रेडिट कार्ड धारक नसीराबाद निवासी सेना के जवान अतुल ठाकुर के मोबाइल फोन पर 8 अप्रेल को तीनों क्रेडिट कार्ड से टुकड़ों में 2 लाख 16 हजार 820 रुपए की निकासी का मैसेज आया। ठाकुर ने साइबर थाने की मदद लेने के साथ ही 1930 साइबर पोर्टल पर भी शिकायत दी। तीनों क्रेडिट कार्ड की रकम सेटल हो गई।

केस-3. बचाए एक लाख 50 हजार रकम

अजमेर अजय नगर निवासी जयदेव वाधवानी को 24 मई को मिले मैसेज में उसके क्रेडिट कार्ड से एक लाख 50 हजार रुपए की निकासी का पता चला। साइबर थाना पुलिस ने पीडि़त की मदद करते हुए 1930 साइबर पोर्टल के जरिए वाधवानी के क्रेडिट कार्ड से निकली रकम को सेटल करवाया।

ये भी पढ़ें…खानपुरा से युवक किया अगवा, मारपीट कर जौंसगंज में फेंका

‘1930’ सबसे बड़ा मददगार

थाने के साइबर एक्सपर्ट के अनुसार ऑनलाइन धोखाधड़ी का शिकार होने के बाद पीडि़त साइबर पोर्टल पर शिकायत करने में विलंब करते हैं। जबकि जितनी जल्दी 1930 साइबर पोर्टल पर धोखाधड़ी की शिकायत का पंजीयन होगा उसमें उतनी ही तेजी से रकम रिकवरी या होल्ड करने की संभावना रहेगी। देरी से शिकायत करने पर रकम ट्रांसफर का प्रोसेस पूर्ण होने पर रिकवरी मुश्किल हो जाती है।

ये भी पढ़ें..स्क्रीन शेयरिंग करा खाते से निकाले 52 हजार, सेना के जवान से ऑनलाइन ठगी

अप्रेल में सवा 11 लाख करवाए होल्ड

अजमेर जिले की साइबर थाना पुलिस के साइबर विशेषज्ञ परिवादियों को राहत देने में जुटे हैं। जानकारी अनुसार अजमेर के साइबर थाने में अप्रेल में 9 पीडि़त साइबर ठगी की शिकायत लेकर पहुंचे। जिनके क्रेडिट कार्ड व बैंक खातों से अलग-अलग तरीके से 16 लाख 13 हजार 500 रुपए निकाले गए। साइबर थाने के विशेषज्ञ ने समय रहते 1930 साइबर पोर्टल पर शिकायत कर पीडि़तों की 11 लाख 20 हजार रुपए की रकम होल्ड करवाई। जिसे कानूनी प्रक्रिया द्वारा पीडि़त पुन: प्राप्त कर सकते हैं।

कैसे रोकें क्रेडिट कार्ड फ्रॉड-

-भुगतान करते समय जल्दबाजी न करें

-ऑनलाइन पैसे भेजते समय सावधानी से प्रोसेस करें।

-मोबाइल वॉलेट का उपयोग करें

बिना समय गंवाए की मदद

मोबाइल पर क्रेडिट कार्ड से 51 हजार 249 रुपए का भुगतान देखकर होश उड़ गए। सबसे पहले क्रेडिट कार्ड को ब्लॉक कराया। फिर अजमेर साइबर थाने पहुंचे। यहां साइबर थाना स्टाफ ने बिना वक्त गंवाए साइबर पोर्टल 1930 पर शिकायत कर रकम को होल्ड करवाने के साथ ही पुन: क्रेडिट कार्ड के खाते में डलवा दिया। गोविन्द नारायण (किशनगढ़)

इनका कहना है…

जालसाज हमेशा लालच देकर पीडि़त को जाल में फांसते हैं। इन दिनों क्रेडिट कार्ड फ्रॉड की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। थाने आने वाले प्रत्येक पीडित को राहत देने का प्रयास किया जाता है। साइबर क्राइम में राहत के लिए सजगता के साथ 1930 साइबर पोर्टल पर त्वरित शिकायत कर बचा जा सकता है। विकास कुमार, डीवाईएसपी, साइबर थाना

Hindi News/ Ajmer / सचेत रहे तो बचा ली साइबर फ्रॉड से लाखों की रकम, 1930 बना मददगार

ट्रेंडिंग वीडियो