सरकारी ऑफिस में नहीं हुआ कोई काम, स्टाफ ने छुट्टी लेकर यूं जताया विरोध

सरकारी ऑफिस में नहीं हुआ कोई काम, स्टाफ ने छुट्टी लेकर यूं जताया विरोध

raktim tiwari | Publish: Sep, 07 2018 10:10:00 AM (IST) Ajmer, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

अजमेर.

केंद्र सरकार द्वारा एससी-एसटी अत्याचार संशोधन अधिनियम-2018 के पारित करने सहित आरक्षण से जुड़े अव्यवहारिक फैसलों से सरकारी कर्मचारियों में नाराजगी है। इनके विरोध स्वरूप कर्मचारी ने आर-पार की लड़ाई के मूड में है। समता आंदोलन समिति के आह्वान पर गुरुवार को अजमेर के ज्यादातर सरकारी दफ्तरों में कामकाज ठप रहा। कर्मचारियों और अधिकारियों ने छुट्टी लेकर विरोध जताया।

महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय के कर्मचारी सामूहिक अवकाश पर रहे। उधर अन्य सरकारी विभागों में भी कर्मचारियों ने अवकाश लेने की बात कही है।एससी-एसटी अत्याचार संशोधन अधिनियम और आरक्षण को लेकर केंद्र सरकार के फैसलों से सरकारी कर्मचारियों में जबरदस्त नाराजगी है।

महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय के कर्मचारियों ने बुधवार ाके ही सामूहिक अवकाश लेने के लिए पत्र पर हस्ताक्षर कर दिए थे। समता आंदोलन समिति ने इसका आह्वान किया गया। विश्वविद्यालय में करीब सौ से ज्यादा कर्मचारी अवकाश पर रहे।

मंत्रालयिक कर्मचारी संघ अध्यक्ष दिलीप शर्मा, महासचिव डॉ. आर. के. जैन और अन्य ने सामूहिक पत्र हस्ताक्षर कर कुलसचिव को सौंपा। इसी तरह राजस्थान लोक सेवा आयोग में भी कई कर्मचारियों की अवकाश पर रहे। बॉयज इंजीनियरिंग कॉलेज, महिला इंजीनियरिंग कॉलेज में भी मंत्रालयिक कर्मचारी
और कई शिक्षकों ने अवकाश लिया। राजकीय महाविद्यालय, स्कूल शिक्षा विभाग में कर्मचारियों ने छुट्टी ली।

सीबीएसई 9 दिसम्बर को कराएगा परीक्षा

अभ्यर्थी केंद्रीय अध्यापक पात्रता परीक्षा (सीटेट) के आवेदन में रही त्रुटियां गुरुवार से सुधार सकेंगे। सीबीएसई 15 सितम्बर तक यह अवसर देगा। स्कूल में शिक्षक बनने के लिए सीबीएसई के तत्वावधान में केंद्रीय अध्यापक पात्रता परीक्षा (सीटेट) कराई जाएगी। इस बार परीक्षा 9 दिसम्बर को होगी। ऑनलाइन फार्म और ई-चालान से फीस जमा करने की अवधि पूरी हो चुकी है।

अब अभ्यर्थियों को आवेदन में रही कुछ जरूरी त्रुटियां सुधारने का अवसर दिया जाएगा। इसके लिए आवश्यक फीस भी देनी होगी। इसीलिए कराई जाती है परीक्षाकेंद्र सरकार ने सीबीएसई, केंद्रीय विद्यालय, जवाहर नवोदय और अन्य स्कूल में प्राथमिक और उच्च प्राथमिक और अन्य स्तर पर शिक्षकों की भर्ती के लिए केंद्रीय अध्यापक पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण करना जरूरी किया है। विभिन्न प्रदेशों में भी राज्य स्तरीय परीक्षा कराई जाती है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned